उद्योगों के साथ कृषि क्षेत्र पर विशेष ध्यान दिया: सतीश महाना

0
14
उद्योगों के साथ कृषि क्षेत्र पर विशेष ध्यान दिया: सतीश महाना
उत्तर प्रदेश बनेगा सर्वश्रेष्ठï: डा. अशोक चौहान

कोविड 19 महामारी पर एमिटी विवि. में वेबिनार का आयोजन

उत्तर प्रदेश बनेगा सर्वश्रेष्ठï: डा. अशोक चौहान

नोएडा। एमिटी फूड एंड एग्रीकल्चर फांउडेशन द्वारा उद्योग एंव कृषि क्षेत्र पर कोविड 19 महामारी के प्रभाव पर वेबिनार का आयोजन किया गया और उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने ‘उद्योग एंव कृषि क्षेत्र पर कोविड 19 महामारी का प्रभावÓ पर व्याख्यान दिया। इस अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश की वाइस चांसलर (श्रीमती) बलविंदर शुक्ला एंव एमिटी फूड एंड एग्रीकल्चर फांउडेशन की महानिदेशिका डा नूतन कौशिक भी उपस्थित थे।
उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने ‘उद्योग एंव कृषि क्षेत्र पर कोविड 19 महामारी का प्रभावÓ पर जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि इस वेबिनार का हिस्सा बन कर स्वंय को गौरवाविंत महसूस कर रहा हंू। आज एमिटी जिसे कि देश की नहीं बल्कि विश्व के अग्रणी संस्थानों में शुमार किया जाता है उसके लिए एमिटी के संस्थापक अध्यक्ष डा. अशोक कुमार चौहान को धन्यवाद दिया। कोविड देश में फरवरी एंव मार्च के माह में प्रारंभ हुआ और प्रधानमंत्री द्वारा लॉकडाउन का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया। आज कई ऐसे देश है जो स्वास्थय सेवाओं के मामले में हमसे अधिक अच्छी अवस्था में है किंतु कोरोना मृत्यु दर हमारे मुकाबले कही अधिक है। प्रधानमंत्री का साथ देश के लोगों द्वारा दिया गया। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में हम कोविड महामारी से निपट रहे है। लॉकडाउन के दौरान असंगठित क्षेत्र में कार्य कर लोगों की सहायता सरकार, संस्थानों एंव व्यक्तियों द्वारा की गई। कोविड ने हमारे उद्योगों को भी प्रभावित किया किंतु उद्योगों को बचाने एंव पुनविकास के लिए निर्देशों को पालन करते हुए उद्योगों को प्रारंभ किया गया। 90 प्रतिशत से अधिक उद्योग स्थिर है। नये तरह के औद्योगिकरण का युग प्रारंभ हुआ है जिसमें कौशल आवश्यकता एंव उद्योग की आवश्यकता के लिए मिलकर मानव संसाधन का चयन किया गया और प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान के अंर्तगत लगभग सवा करोड़ प्रवासी लोगों को रोजगार प्रदान किया गया।
श्री महाना ने कहा कि उद्योगों के साथ कृषि क्षेत्र पर विशेष ध्यान दिया गया। प्रधानमंत्री द्वारा किसानों की आय दोगुनी करने के लिए नई योजनाये क्रियान्वयन की गई जिसमें किसान सम्मान आदि शामिल है। उन्होनें कहा कि आत्मनिर्भर भारत, राहत पैकेज नही है बल्कि विचाराधारा में बदलाव है। जरूरत पडऩे पर हमारे उद्योगों ने आयात किये जाने वाले पीपीई किट एंव मास्क से सस्ते एंव अच्छी गुणवत्ता के पीपीई किट एंव मास्क बनाये और देश की जरूरत को पूरा किया इसी तरह अन्य क्षेत्रों एंव अन्य उत्पादों में हमे आत्मनिर्भर बनना होगा।
उन्होनें कहा कि हमें अकादमिक, उद्योग एंव सरकार के त्रिकोण को जोड़ कर कार्य करना होगा। इससे छात्रों के लिए बेहतरीन पर्यावरण तैयार होगा और एमिटी जैसे संस्थानों को इस क्षेत्र में आगे आकर पहल करनी चाहिए है। उन्होनें कहा कि कृषि जीडीपी अधिक प्रभावित नही होगा अनुमान है कि इस बार मानसून अच्छा है और कृषि के क्षेत्र में विकास होगा। किसानों के पास अन्य अनाजों को उगाने के अवसर प्राप्त हो रहे है। प्रधानमंत्री द्वारा किसानों की सहायता के न्यूनतम सर्मथन मूल्य को बढ़ाया गया है। मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में कृषि विकास 18 प्रतिशत था, हमें उस मॉडल को जानकर अपनाना चाहिए।
श्री महाना ने कहा कि औद्योगिक विकास के तीन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर ध्यान दिया जा रहा है जिसमें प्रथम लॉकडाउन के दौरान बंद उद्योगों को बचाने एंव पुनविकास का कार्य, द्वितीय देश के उद्योगपतियों द्वारा निवेश सम्मिट में साइन किये गये समझौता को आगे बढ़ाने का कार्य और तृतीय चीन से निकले कई और उद्योग लगाने वाले कंपनियों को उत्तरप्रदेश में उद्योग प्रारंभ करने के लिए कार्य करना है। उन्होंने कहा कि यह वेबिनार हम सभी के लिए सहायक होगा।
एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष एवं प्रसिद्घ शिक्षाविद डा. अशोक कुमार चौहान ने श्री महाना का स्वागत करते हुए कहा कि आपकी सख्यशियत ने आपके व्याख्यान ने हम सभी को प्रभावित और प्रेरित किया है। आपके व्याख्यान को सुनने के प्रतीत हो रहा है इससे बेहतरीन ना तो व्याख्यान हो सकता है ना ही जानकारी प्राप्त हो सकती है। आपके दृष्टिाकोण, विचारधारा ने हमारे अंदर उत्साह भर दिया। आपके द्वारा दिये गये उद्योग, अकादमिक एंव सरकार के मिलकर कार्य करने के मार्गदर्शन से हमे शीघ्र ही ‘एआईजी (एकेडमिक, इंडस्ट्री एंड गर्वरमेंट) कंसोरियमÓ प्रारंभ करेगें। आज जहंा एक ओर प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश उन्नती कर रहा है वहीं मुख्यमंत्री योगी और आपके नेतृत्व में उत्तर प्रदेश नये आयाम स्थापित कर रहा है। उत्तर प्रदेश के विकास को देखकर महसूस होता है कि यह शीघ्र विश्व का नंबर 1 राज्य होगा।
एमिटी विश्वविद्यालय हरियाणा के चांसलर डा असीम चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि छात्रों को ना केवल श्री महाना के व्याख्यान से बल्कि उनके गुण जैसे नेतृत्व क्षमता, राष्ट्रवादिता, देश के लिए कुछ करने के जज्बे एंव परिणाम प्राप्त करने वाले कार्य करने के गुणों से प्रेरणा लेनी चाहिए। श्री महाना एक ऐसे बड़े नेता है जो हमेशा अपनी जड़ो से जुड़े रहते है। यह हमारा सौभाग्य है कि हमें इस वर्तमान में सबसे महत्वपूर्ण विषय उद्योग एंव शिक्षा पर कोविड 19 के प्रभाव पर उनसे जानकारी प्राप्त करने का अवसर प्राप्त हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here