तेल की बढ़ती कीमतों का विरोध

0
108

ग्रेटर नोएडा। समाजवादी पार्टी ने तेल की बढ़ती हुई कीमतों के विरोध में प्रदर्शन करते हुए राष्टï्रपति के नाम एक ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया है।
सपा द्वारा जारी एक बयान में यह जानकारी दी गयी है। बयान में बताया गया है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होने के बावजूद देश में लगातार डीजल पेट्रोल के मूल्य में हो रही वृद्धि के खिलाफ आज समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने महामहिम राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। इस दौरान विद्युत विभाग द्वारा जिले में पचास हजार से अधिक विद्युत उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे जाने की चेतावनी देने के खिलाफ महामहिम राज्यपाल के नाम भी एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया। इस मौके पर समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष बीर सिंह यादव ने कहा कि कच्चे तेल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में कम कीमतों का लाभ जनता को पहुंचाने के बजाय केंद्र सरकार द्वारा डीजल-पेट्रोल के मूल्यों में की जा रही अप्रत्याशित वृद्धि दुर्भाग्यपूर्ण है।
इस वृद्धि के कारण दैनिक उपभोग की कीमतों में भारी उछाल आएगा, जिससे कोरोना महामारी के दौरान महंगाई और बेरोजगारी के संकट से जूझ रही जनता को अपने जीवन यापन करने में काफी कठिनाई होगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की तानशाही और मनमानी के चलते मुसीबत के समय जनता को राहत प्रदान करने के बजाय, उन्हें महंगाई की आग में झौंक जनता के साथ छलावा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश विद्युत विभाग द्वारा बिना मीटर रीडिंग लिए पूर्व तीन माह के बिल के आधार पर नये बिल जारी करना पूरी तरह से गलत है शहर के व्यवसायिक संशाधनों, दुकान, फैक्ट्री, औधोगिक इकाई आदि भी लॉक डाउन के दौरान पूरी तरह बंद रही है। विद्युत विभाग द्वारा संकटकाल में बिजली बिल जमा करने में असमर्थ विद्युत उपभोक्ताओं कनेक्शन काटने का नोटिस जारी करना अमानवीय कृत्य है।
इस मौके पर मुख्य रूप से सुनील चौधरी, नरेंद्र नागर, श्याम सिंह भाटी, कृशान्त भाटी, सुधीर तोमर, सुनील भाटी, जगवीर नंबरदार, मेराजुद्दीन उस्मानी, शैलेन्द्र भाटी, हैप्पी पंडित, अक्षय चौधरी, लखन जाटव, रेशपाल अवाना, बबली भाटी, विकिल सिद्दीकी, कवित गुर्जर, विनय सिंह, सिराजुद्दीन मालिक, अनिल पाल, दिनेश भाटी, जलीस अल्वी आदि मौजूद रहे।