शब्दों से ही रिश्ते: आहूजा

0
320
आईएमएस में हुआ बेविनार का आयोजन
आईएमएस में हुआ बेविनार का आयोजन

आईएमएस में हुआ बेविनार का आयोजन
नोएडा। इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (आईएमएस) नोएडा ने मानव संबंध संचार विषय पर वेबिनार का आयोजन किया। बृहस्पतिवार को संस्थान के स्कूल ऑफ आईटी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर वक्ता ऑल इंडिया रेडियो की पूर्व न्यूज रीडर डॉ. पूनम कुमार अहूजा ने अपने विचार प्रकट किए। वहीं कार्यक्रम के दौरान आईएमएस के प्रेसिडेंट राजीव कुमार गुप्ता, डीन डॉ. मंजू गुप्ता के साथ सउदी अरबिया, फिलीपींस, नाइजीरिया एवं देश भर के 58 उच्च शैक्षणिक संस्थानों के 1000 से अधिक शिक्षक, छात्र एवं रिसर्च स्कॉलर ने हिस्सा लिया।
कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए डॉ. पूनम कुमार अहूजा ने बताया कि वर्तमान परिवेश में हमारे सामाजिक संबंध सोशल मीडिया तक सीमीत रह गए है। आज हम एक छत के नीचे रहते हुए भी सोशल डिस्टेंस में चले गए है। उन्होंने कहा कि अगर हमें प्रभावी रूप से किसी से बातचीत करनी
है तो हमें 7:38:55 फारमुला का इस्तेमाल करना चाहिए। जिसमें 7 फीसदी शब्द, 38 फीसदी लहजा एवं 55 फीसदी अपने बॉडी लैंग्वेज को इस्तेमाल करना चाहिए। डॉ. अहूजा ने कहा कि मानवीय संबंधों के निर्माण के लिए संचार आवश्यक है। आपके शब्द किसी भी रिश्ते को बना या बिगाड़ सकते हैं। बदलती तकनीक के साथ हमें उसके अधीन ना होकर उसे सिर्फ जरूरत तक ही इस्तेमाल करना चाहिए। सोशल मीडिया के समय में हम सिर्फ लाइक्स एवं फलोअर्स के पीछे भागते हुए लोगो से संचार तो कर रहे हैं लेकिन उनेक साथ हमारा संबंध खो गया।
कार्यक्रम की संयोजक डॉ. प्रीति खत्री ने बताया कि आज मानव संबंध संचार विषय पर आयोजित वेबिनार में देश भर के 58 उच्च शैक्षणिक संस्थानों के 1000 से अधिक शिक्षक, छात्र एवं रिसर्च स्कॉलर ने हिस्सा लिया। वहीं इंडियन एम्बेसी सउदी अरबिया, फिलीपींस एवं नाइजीरिया के शिक्षक एवं छात्र भी कार्यक्रम के हिस्सा बनें। वहीं कार्यक्रम की सह संयोजक प्रो. प्रीती रानी राजवंशी ने कहा कि वर्तमान महामारी के दौर में अवसाद से दूर रहकर सुखद, सफल एवं समृद्ध जीवन के लिए प्रभावी संचार जरूरी है।