Monday, 4 December 2023

कंपनियों, कॉलसेंटरों में किराये पर वाहन लगाने के नाम पर करोड़ों की धोखाधड़ी

नोएडा (चेतना मंच)। थाना सेक्टर-58 पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो कंपनी खोलकर 4 पहिया वाहनों…

नोएडा (चेतना मंच)। थाना सेक्टर-58 पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो कंपनी खोलकर 4 पहिया वाहनों को अस्पतालों, महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, कंपनियों व कॉल सेंटरों में किराये पर लगाने के नाम पर धोखाधड़ी करते थे। पुलिस ने कंपनी की एमडी को गिरफ्तार कर लिया है और निशानदेही पर 9 चार पहिया वाहन, 70 ग्राहकों के एग्रीमेंट लीज, डेस्क टॉप कंप्यूटर सैट व अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं।

थाना सेक्टर-58 में देवकांत सिंह पुत्र एसएन सिंह निवासी इंद्रापुरम गाजियाबाद ने शिकायत दर्ज करायी थी कि उन्होंने व उनके साथी योगेन्द्र कुमार चौधरी ने सिटीजन मल्टी सर्विस प्रा0लि0 सेक्टर-142 नोएडा में अखबार के विज्ञापन के माध्यम से दो इनोवा कार फाइनेंस करवाकर कंपनी को दी थी। उक्त कंपनी से 5 साल का एग्रीमेंट हुआ था। यह दोनों गाडिय़ां नोएडा के दो बड़े अस्पतालों में किराये पर लगाने के लिए दी गयी थीं, लेकिन उन्हें सूचना मिली कि उनकी दोनों कारें किसी अस्पताल में नहीं लगाई गयी हैं। दोनों गाडिय़ों को सेक्टर-58 क्षेत्र के किसी पार्किंग में छिपाकर रखा गया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के बाद कंपनी की एमडी मलिका कोले पुत्री सूचित कोले नि0 ओल्ड राजेन्द्रनगर नई दिल्ली। हाल पता सेक्टर-78 से पूछताछ की तो पता चला कि मलिका कोले व उसके साथी तरूण गुप्ता, शुधांशु मिश्रा, मृत्यंजन शुक्ला उर्फ सतीश व अल्का पांडेय ने साथ मिलकर कुछ दिनों पहले नोएडा में तीन कंपनियां खोली और अखबार में विज्ञापन निकलवाकर ग्राहकों को तरह-तरह के लालच देकर वाहनों को लिया। उन्होंने बताया कि वह इन गाडिय़ों को पार्किंग में खड़ा कर देते थे तथा मोटा पैसा इकटठा कर भाग जाते थे। इस प्रकार यह गैंग अब तक करोड़ों रूपये की धोखाधड़ी कर चुका है। आरोपी की निशानदेही पर 7 अर्टिका कार, 2 इनोवा कार, सेक्टर-62 से बरामद की गयी हैं। साथ ही 70 ग्राहकों के कार लीज एग्रीमेंट बरामद हुए हैं।

मलिका का साथी तरूण गुप्ता दिल्ली के थाना सरिता विहार से इसी प्रकार के मामले में जेल जा चुका है।

Advertisement

Related Post