डाक्टर ने रची छात्र के अपहरण की साजिश

0
116

गे्रेटर नोएडा(चेतना मंच)। गोंडा से अपहृत मेडिकल के छात्र को नोएडा एसटीएफ तथा गोंडा पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया है। छात्र को अगवा करने वाले बदमाशों के साथ हुई मुठभेड़ के बाद एसटीएफ ने 3 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इस गैंग में शामिल एक महिला डॉक्टर अभी फरार है। छात्र को अगवा कर 70 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई थी।
पश्चिमी यूपी एसटीएफ के एसपी कुलदीप नारायण सिंह तथा जनपद गोंडा के एसपी शैलेंद्र पांडे ने एक संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान आज सुबह को बताया कि जनपद बहराइच के रहने वाले गौरव हालदार नामक मेडिकल के छात्र का 18 जनवरी को जनपद गोंडा से अपहरण हुआ था। इस मामले में उनके पिता निखिल हालदार ने थाना पयागपुर में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। गौरव गोंडा के एससीपीएम कॉलेज से बीएएमएस की पढ़ाई कर रहा था। उन्होंने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने छात्र के परिजनों से 70 लाख की फिरौती मांगी थी। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान यह बात संज्ञान में आई कि छात्र को अपहरण करने के बाद एनसीआर में रखा गया है। एसपी ने बताया कि इस सूचना के आधार पर नोएडा एसटीएफ के  एसपी राजकुमार मिश्रा तथा गोंडा पुलिस अपहृत छात्र को बरामद करने तथा अपहरण करने वाले लोगों की गिरफ्तारी में जुट गई। उन्होंने बताया कि आज सुबह एक सूचना के आधार पर एसटीएफ व गोंडा पुलिस ने नोएडा एक्सप्रेस वे से एक मुठभेड़ के दौरान डॉ अभिषेक सिंह पुत्र राजेश सिंह निवासी अचलपुर, वजीरगंज जनपद गौंडा, नितेश पुत्र विनोद बिहारी निवासी धौैलपुर थाना निहारगंज, राजस्थान तथा तथा मोहित सिंह पुत्र शिव मूरत सिंह निवासी ग्राम परौली थाना करनल गंज, जनपद गौंडा को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि इनके पास से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त एक कार, देसी तमंचा व कारतूस , छात्र को बेहोश करने में प्रयोग हुई नशे का इंजेक्शन आदि बरामद किया है।
एसपी ने बताया कि पकड़े गये आरोपियों ने पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि इस घटना का मास्टरमाइंड डॉ. अभिषेक सिंह है। वह जनपद गोंडा का रहने वाला है, तथा अपहृत छात्र गौरव को वह जानता है। डॉक्टर अभिषेक दिल्ली के नजफगढ़ स्थित राठी अस्पताल  में डॉक्टर के रूप में काम करता है। यहीं पर काम करने वाली डॉक्टर प्रीति मेहरा नामक एक महिला डॉक्टर के साथ मिलकर उसने इस घटना का ताना-बाना बुना। प्रीति मेहरा के माध्यम से उसने गौरव से बातचीत शुरू करवाई, तथा उसे जनपद गोंडा में मिलने के लिए 18 जनवरी को बुलाया। वहां से इन लोगों ने छात्र को अगवा कर लिया, तथा उसे नशे का इंजेक्शन देकर गोंडा से दिल्ली लेकर आए। इन लोगों ने अपहृत छात्र को दिल्ली के बक्करवाला स्थित डीडीए फ्लैट में रखा था। एसपी ने बताया कि इस घटना में शामिल प्रीति मेहरा फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।
एसपी ने बताया कि इस घटना में शामिल रोहित तथा सतीश नामक 2 बदमाशो को जनपद गोंडा में आज गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है, कि इस घटना में शामिल नितेश दिल्ली में फर्जी कॉल सेंटर चलाकर, धोखाधड़ी करने के मामले में संलिप्त है। उन्होंने बताया कि छात्र के अपहरण का ताना-बाना दीपावली के समय से ही बुना गया था।