लाखों बच्चों को मौत के मुंह में ढकेल रही सरकार

नोएडा (चेतना मंच)। चेतावनी के बाद भी सरकार लाखों बच्चों को मौत के मुंह में ढकेलने से बाज नहीं आई तो जनहित में मजबूरन छात्रों के अभिभावकों के साथ सड़कों पर उतर कर विरोध करना

पड़ेगा। यह बात कही ऑल नोएडा स्कूल पैरेंटस एसोसिएशन के अध्यक्ष यतेन्द्र कसाना ने। वे सेक्टर-33 स्थित अपने आवास पर पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।

श्री कसाना ने कहा कि दुनिया भर के वैज्ञानिक मान रहे हैं कि कोरोना की तीसरी लहर सिंतबर में आ सकती है। अभी तक बच्चों की वैक्सीन की कोई व्यवस्था शुरू नहंी हो पायी है। इसके बाद भी सरकार 1 सितंबर से नर्सरी से कक्षा 5 तक के छोटे बच्चों को स्कूल खोलने जा रही है। यह बच्चों के जीवन से सीधा खिलवाड़ है। उन्होंने कहा कि जब एक-डेढ़ वर्षों से स्कूल बंद है तो सिंतबर तक का सरकार इंतजार क्यों नहीं कर रही है। उन्होंने सरकार से अपील की है कि सितंबर के बाद स्कूल खोले जाएं। यदि ऐसा नहीं हुआ तो हम सभी सड़कों पर उतरकर इसका व्यापक विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा की भी कोई व्यवस्था नहीं है।

पत्रकार वार्ता में महासचिव के. अरूणाचलम, उपाध्यक्ष अतुल बंधु, विकास बंसल, सचिव ब्रजेश गुर्जर आदि  पदाधिकारी मौजूद थे।