खूब बरसेगी रहमत की घटा, बंपर बजट

0
131

लखनऊ (एजेंसी)। उप्र के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज योगी सरकार का पांचवां बजट पेश किया। यह बजट अब तक का सबसे बड़ा बजट माना जा रहा है। वित्तमंत्री ने कुल 5 लाख, 50 हजार, 270 करोड़ का बजट पेश किया।
वित्त मंत्री ने किसानों को साधने के लिए कई एलान किए हैं। मेरठ में स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय बनेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में ओपन जिम बनाए जाएंगे। सामूहिक विवाह योजना का विस्तार किया जाएगा, साथ ही मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना लाई जाएगी। प्रदेश के 19 जनपदों में कुल 40 छात्रावास बनाए जाएंगे। कोरोना टीकाकरण के लिए 50 करोड़ का बजट। अयोध्या के लिए 140 करोड़ का बजट प्रस्तावित है। 
इस दौरान उन्होंने कहा कि 2020-21 का बजट युवाओं और रोजगारों को समर्पित है। कर्मचारियों के वेतन और पेंशन का भुगतान किया गया। प्रदेश की हर महिला को सुरक्षा दे रहे हैं। अपराधियों पर सरकार कठोर कार्रवाई कर रही है। पांच करोड बारह लाख छात्रों को डेबिट कार्ड मिले। यूपी को आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य है। शिकायतों का तेजी से निपटारा किया जा रहा है। किसानों के खातों में 6800 करोड़ से ज्यादा रुपये भेज गए।
आयुर्वेद को बढ़ावा दिया जा रहा
वित्त मंत्री ने बजट भाषण में एलान किया कि आयुर्वेद को बढ़ावा दिया जा रहा है। लखनऊ-पीलीभीत में आयुर्वेद विद्यालयों का काम किया जा रहा है। 
कोरोना टीकाकरण के लिए 50 करोड़ 
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने एलान किया कि कोरोना टीकाकरण के लिए 50 करोड़ रुपये प्रस्तावित किए गए हैं।
 गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना को बजट
गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना के भूमि ग्रहण के लिए 7200 करोड़ और निर्माण कार्य के लिए 489 करोड़ रुपये के बजट व्यवस्था की गई। इसके अलावा बुंदेलखंड क्षेत्र की विशेष योजनाओं के लिए 210 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित किया
गया। गोवंश के सरंक्षण के लिए योजना 
सुरेश खन्ना ने कहा कि गोवंश के सरंक्षण के लिए योजना चलाई जा रही है, अलग-अलग जगह पर गोशाला बनाई गई हैं। इसे आगे बढ़ाया जाएगा और अलग-अलग जगहों पर आश्रय स्थलों की संख्या को बढ़ाई जाएगी।
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के लिए बजट
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के लिए 1492 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। वित्त मंत्री ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए 1107 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। गोरखपुर एक्सप्रेस वे के लिए 750 करोड़ रुपये का बजट पेश किया।
हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज बनाने का लक्ष्य है
योगी सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए अब तक का सबसे बड़ा 5 लाख 50 हजार 270 करो? 78 लाख रुपये का बजट पेश किया। इसके तहत हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज बनाने का लक्ष्य है। 16 जिलों में मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं। मेडिकल शिक्षा के लिए एक हजार करोड प्रस्तावित किए गए हैं।
महिला श्रमिकों को बराबरी की मजदूरी दिलाने के लिए कमेटी
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बताया कि मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना लाई जा रही है। इसके तहत श्रमिकों को मदद की जाएगी। महिला श्रमिकों को बराबरी की मजदूरी दिलाने के लिए सलाहकार कमेटी का गठन किया गया है। प्रदेश के 18 मंडलों में अटल आवासीय विद्यालय बनाए जाएंगे, जहां श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा दी जाएगी।
40 छात्रावास बनाए जाएंगे
प्रदेश के 19 जनपदों में कुल 40 छात्रावास बनाए जाएंगे। किताबें भी उपलब्ध कराई जाएंगी। अलग-अलग जनपदों में अधिवक्ताओं के लिए चेंबर बनाए जाएंगे।
मेरठ को मिला स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का तोहफा
यूपी सरकार ने मेरठ में स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय बनाने का एलान किया है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में ओपन जिम बनाए जाएंगे।
सामूहिक विवाह योजना का विस्तार
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने घोषणा की है कि सामूहिक विवाह योजना का विस्तार किया जाएगा, साथ ही मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना लाई जाएगी। इसके तहत आंगनबाड़ी केंद्रों पर कुपोषित बच्चों को अतिरिक्त पोषण दिया जाएगा।
 संस्कृत विद्यालयों को गुरुकुल पद्धति के अनुसार संचालित किया जाएगा
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि संस्कृत विद्यालयों को गुरुकुल पद्धति के अनुसार संचालित किया जाएगा। विद्यार्थियों को नि:शुल्क छात्रावास और भोजन की व्यवस्था होगी।
किसानों के लिए बड़ा एलान
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट भाषण में कहा कि एक हजार करोड़ से ज्यादा का गन्ना किसानों का भुगतान किया। प्रदेश में अधिक उत्पादक वाली फसलों की पहचान की जाएगी। ब्लॉक स्तर पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना होगी और इसके लिए 100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा के लिए 700 करोड़ रुपये दिया जाएगा। किसानों को रियायती दाम पर लोन देने का भी एलान किया गया है।
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए अब तक का सबसे बड़ा 5 लाख 50 हजार 270 करो? 78 लाख रुपये का बजट पेश किया जिसमें कई बड़ी घोषणाएं की हैं। बजट में 27 हजार 598 करोड़ 40 लाख (27,598.40 करोड़) रुपये की नई योजनाएं शामिल की गई हैं।