Friday, 19 July 2024

‘चलो अपनी प्रतिबद्धताओं पर काम करें’- Anti Child Labour Day 2024 की थीम का क्या है अर्थ

Anti Child Labour Day 2024- बाल श्रम समाज के लिए एक बहुत बड़ा अभिशाप है। ऐसे में इसको खत्म करने…

‘चलो अपनी प्रतिबद्धताओं पर काम करें’- Anti Child Labour Day 2024 की थीम का क्या है अर्थ

Anti Child Labour Day 2024- बाल श्रम समाज के लिए एक बहुत बड़ा अभिशाप है। ऐसे में इसको खत्म करने के लिए दुनिया के लगभग सभी देश प्रयास कर रहे हैं। बाल श्रम को देखते हुए ही हर साल 12 जून को तमाम देशों में बाल श्रम निषेध दिवस (Anti Child Labour Day) मनाया जाता है। इस दिन बाल श्रम जैसे अभिशाप को समाप्त करने के लिए लोगों को जागरूक किया जाता है। आज 12 जून है यानी बाल श्रम निषेध दिवस है। आइये इस मौके पर जानते हैं इसके महत्व और इतिहास के बारे में।

बाल श्रम निषेध दिवस का इतिहास-

वर्ष 1973 की बात है, जब 138वें सम्मेलन में अंतरराष्ट्रीय श्रम संघ ने न्यूनतम आयु की ओर ध्यान केंद्रित किया। ध्यान केंद्रित करने का मकसद था बाल श्रम को समाप्त करना एवं जितने भी सदस्य देश हैं, उनमें रोजगार की न्यूनतम आयु को बढ़ाना। इसके बाद 2002 में बाल श्रम को समाप्त करने का मुद्दा अंतरराष्ट्रीय श्रम संघ ने विश्व पटल पर रखा और फिर इसी साल एक कानून पारित किया गया। इस क़ानून के तहत यह निर्धारित किया गया कि 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों का मजदूरी करवाना एक अपराध है। अगर वर्तमान की बात करें तो वर्तमान में बाल श्रम संघ से लगभग 187 देश जुड़े हुए हैं। आने वाले सालों में इस संघ से और भी देशों की जुड़ने की उम्मीद है।

बाल श्रम निषेध दिवस का उद्देश्य-

इसका उद्देश्य लोगों को बाल श्रम के विरुद्ध जागरूक करना है। जो बच्चे 14 साल से कम हैं और उन्हें ज़बरदस्ती काम पर रखा जाता है या उनसे मजदूरी कराई जाती है, तो इसको एक अपराध माना जाता है। इसके खिलाफ कड़ी कार्यवाई भी की जाती है। इसीलिए बाल श्रम को रोकने को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ही हर साल दुनिया के तमाम देशों में 12 जून को बाल श्रम निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Anti Child Labour Day 2023 Theme: बाल श्रम निषेध दिवस 2024 की थीम-

इस साल का विश्व बाल श्रम दिवस के सबसे बुरे रूपों पर कन्वेंशन (1999, संख्या 182) को अपनाने की 25वीं वर्षगांठ मनाने पर आधारित है। यह बाल श्रम के खिलाफ काम करने वाले सभी लोगों को इस पर दो मौलिक कन्वेंशन – कन्वेंशन संख्या 182 और रोजगार या कार्य में प्रवेश के लिए न्यूनतम आयु से संबंधित कन्वेंशन संख्या 138 (1973) के कार्यान्वयन में सुधार करने की भी याद दिलाने का दिन है।

साल 2024 में बाल श्रम निषेध दिवस (Anti Child Labour Day) की थीम है, “चलो अपनी प्रतिबद्धताओं पर काम करें: बाल श्रम को खत्म करें। इस दिन बाल श्रम को खत्म करने और बच्चों को शोषण से बचाने के लिए सामूहिक कार्रवाई की आवश्यकता पर जोर दिया जाता है। यह सरकारों, नियोक्ताओं, श्रमिकों, सिविल सोसाइटी और लोगों को बाल श्रम से मुक्त दुनिया बनाने के लिए मिलकर काम करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

18वीं लोकसभा का पहला सत्र इस दिन होगा शुरू, सदन में होंगे ये काम

Related Post