Sunday, 25 February 2024

शहादत के नाम पर मासूम ने की सुसाइड

मध्य प्रदेश के इंदौर से दर्दनाक घटना सामने आई है। मोहर्रम की रात 15 वर्षीय किशोरी ने शहादत के नाम…

शहादत के नाम पर मासूम ने की सुसाइड

मध्य प्रदेश के इंदौर से दर्दनाक घटना सामने आई है। मोहर्रम की रात 15 वर्षीय किशोरी ने शहादत के नाम पर खुदकुशी कर ली । जानकारी के मुताबिक मरने से पहले मासूम ने मां से पूछा कि क्या इमाम हुसैन आज के दिन शहीद हुए थे, क्या आज के दिन मरने वालों को शहादत मिलेगी? मां से जबाव में हां मिला, तो बेटी ने देर रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजन किशोरी को फंदे से उतारकर आनन-फानन में अस्पताल ले गए, वहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। मामला इंदौर के रावजी बाजार क्षेत्र के चंपा बाग स्थित हाथीपाला का है। मृतिका राबिया खान के परिवार में त्याहोर की जगह मातम छा गया। बेटी के पसंद की खीर बनाई गई, साथ ही सभी परिवार मिलकर रोजा खोलने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन खुदा को मंजूर कुछ और ही था। रोजा के दिन एक सवाल ने मासूम की जिंदगी छीन ली। परिवार का कहना है कि राबिया 11वीं कक्षा में दाखिल हुई थी। पिछले दो दिन पहले ही उसके लिए कॉपी किताबें मंगवाई गई थी। वह काफी खुश थी, लेकिन उसने इस तरह का कदम क्यों उठाया? यह किसी को समझ नहीं आ रहा है। परिवार ने पुरानी दास्तां को लेकर बताया कि एक बार राबिया सहेली के साथ पिकनिक पर गई थी, उसी दौरान झूले से फिसलकर सहेली की मौत हो गई थी। उनका कहना है कि उसी समय से बेटी बहकी-बहकी बातें करती रहती थी। हमेशा जिंदगी और मौत से जुड़े सवाल पूछती रहती थी। बेटी की इस तरह की बातों पर कई बार डांटा भी गया था, लेकिन सहेली की मौत के बाद से वो मानसिक संतुलन खो बैठी थी। उसके दिमाग में कई तरह के ख्याल आते रहते थे। फिलहाल घटना की सूचना पर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची। शव का पंचनामा करवाने के बाद परिवार को सौंप दिया गया है।

Related Post