Friday, 23 February 2024

नोएडा का अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर ठगबाज गिरोह में हुआ शामिल, दुकान बुक कराने वाले को दिखाया ठेंगा

Greater Noida : ग्रेटर नोएडा में आलीशान मॉल बनाकर उसके आफिस और शॉप स्पेस बुक कराने के नाम पर कई…

नोएडा का अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर ठगबाज गिरोह में हुआ शामिल, दुकान बुक कराने वाले को दिखाया ठेंगा

Greater Noida : ग्रेटर नोएडा में आलीशान मॉल बनाकर उसके आफिस और शॉप स्पेस बुक कराने के नाम पर कई बिल्डरों ने हजारों लोगों के करोड़ों रुपये ठग लिए हैं। अब इन ठगबाज बिल्डर अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. का नाम भी जुड़ गया है। बिल्डर पर आरोप है कि उसने फर्जी सरकारी दस्तावेज दिखाकर एक व्यक्ति से करीब 50 लाख रुपये ठग लिए।

Greater Noida News

क्या है पूरा मामला ?

ग्रेटर नोएडा के थाना बीटा 2 में न्यायालय के आदेश के बाद एक मुकदमा दर्ज किया गया है। यह मुकदमा दीपक पुत्र विजयपाल निवासी आई 36 बीटा 2 ने दर्ज कराया है। उन्होंने दर्ज रिपोर्ट में बताया कि अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में मॉल व बिल्डिंग का निर्माण करता है। मॉल में आफिस व दुकान में स्पेस की बुकिंग भी बिल्डर द्वारा की जाती है। दीपक ने अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. ​द्वारा बनाए जा रहे एक मॉल में 435 वर्गफुट की एक दुकान बुक की थी। उन्हें बताया गया था कि 2018 में मॉल का निर्माण पूरा कर दुकान का कब्जा उन्हें दे दिया जाएगा।

दुकान के लिए उन्होंने विभिन्न तारीखों में अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. को 40 लाख 99 हजार 675 रुपये दिए। कॉमर्शियल स्पेस का अलॉट नंबर टू बॉयर एग्रीमेंट भी हुआ। दीपक ने बताया कि जब वह अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के आफिस में गए तो उन्हें अवधेश गोयल, अतुल गुप्ता, विकास गुप्ता, रजनीश मित्तल, सीमा गोयल, आदित्य गोयल, रेशू गुप्ता, चिराग गुप्ता, श्रीमती रेणू गुप्ता, श्रीमती ममता मित्तल, मुकुल गर्ग, अमर सिंह, राजेश गुप्ता तथा नवीन गोयल से दुकान के संबंध में बातचीत की थी। इन सभी ने अपने को अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. से जुड़ा हुआ बताया।

सौदे के दौरान उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा में बनाए जा रहे मॉल अर्थटेक 1 का नक्शा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से पास करा लिया गया है तथा सारे नियम व शर्तों के अनुरुप ही मॉल का निर्माण किया जा रहा है। इन प्राधिकरण का कोई शेष नहीं है। इसके लिए उक्त सभी लोगों ने उन्हें फर्जी दस्तावेज दिखाकर अपने झांसे में फंसाया। वर्ष 2022 में मॉल के निर्माण के संंबंध में जानकारी लेने के लिए जब वह उनकी साइट पर पहुंचे तो वहां मॉल का निर्माण अधूरा पड़ा हुआ था।

जानकारी करने पर पता चला कि अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. के डायरेक्टर व कर्मचारी ग्राहकों की राशि गबन करके भाग गए हैं। उन्होंने इस संबंध में थाना बीटा 2 में भी शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन वहां कोई सुनवाई न होने के बाद अदालत का रुख किया, जिसके बाद अर्थ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. ​के डायरेक्टर व कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।

नोएडा की फ्यूटेक और गार्डन गैलेरिया हाउसिंग सोसायटी पर 10 लाख का जुर्माना

ग्रेटर नोएडा नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post