Saturday, 25 May 2024

रवि काना के अवैध कारोबार का हिस्सेदार सूरज गिफ्तार, बेनामी संपत्ति का है मालिक

Greater Noida News : दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में नोएडा स्वाट टीम और ग्रेटर नोएडा के बीटा…

रवि काना के अवैध कारोबार का हिस्सेदार सूरज गिफ्तार, बेनामी संपत्ति का है मालिक

Greater Noida News : दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में नोएडा स्वाट टीम और ग्रेटर नोएडा के बीटा दो कोतवाली पुलिस ने स्क्रैप माफिया रवि काना के सबसे करीबी साथी सूरज को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया सूरज स्क्रैप माफिया रवि काना का रिश्तेदार भी है।

Greater Noida News

रवि काना का करीबी आरोपी सूरज मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के औरंगाबाद के गांव भीकनपुर का रहने वाला है। आरोपी सूरज के कब्जे से पुलिस ने 15 ट्रक बरामद किए गए हैं। बरामद किए गए ट्रक की कीमत पांच करोड़ रुपये है।

रवि के इशारे पर काम करता था सूरज

पुलिस पूछताछ के दौरान सामने आया है कि रवि काना के काले कारोबार में सूरज बराबर का हिस्सेदार है। वह करीब तीन महीने से फरार चल रहा था। अब उसको पुलिस और स्वाट टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ करने पर यह भी पता चला है कि स्क्रैप के कारोबार में ट्रांसपोर्ट का काम सूरज देखता था। उसके इशारे पर ही सरिया और स्क्रैप से भरे ट्रक धड़ल्ले से फैक्ट्री से निकलते थे। वह ठेका नहीं देने पर फैक्ट्री प्रबंधन को धमकियां भी देता था।

गोदाम से 15 ट्रक किए बरामद

पकड़ा गया आरोपी सूरज रावि काना के काले कारोबार में बराबर का हिस्सेदार के अलावा बेनामी संपत्ति का मालिक भी है। रवि काना ने काले कारोबार से जो अवैध संपत्ति अर्जित उसकी कुछ हिस्सा सूरज के नाम पर है। पुलिस का शिकंजा जब रवि पर कसा तो सूरज ने गोदाम में 15 ट्रक छिपा दिए थे। करीब तीन महीने तक चली छापेमारी के दौरान पुलिस को इन ट्रकों का कुछ पता नहीं चल सका था। अब सूरज की गिरफ्तारी के बाद ट्रक बरामद किए गए है।

अभी भी फरार है रवि काना

आपको बता दें कि स्क्रैप माफिया रवि काना अभी भी फरार है। उसकी महिला मित्र काजल झा भी पुलिस की पकड़ से दूर है। आशंका है कि स्क्रैप माफिया रवि काना और काजल झा दोनों विदेश में भाग गए है। रवि काना पर फिलहाल पुलिस ने 25 हजार का इनाम घोषित कर रखा है।

डीसीपी ने दी जानकारी

ग्रेटर नोएडा के डीसीपी साद मियां खां ने बताया कि आरोपी सूरज को एटीएस गोलचक्कर के समीप से गिरफ्तार किया गया है। उसकी निशानदेही पर ही 15 ट्रक बरामद किए गए है। आरोपी के रिश्तेदार हरवीर द्वारा धर्मवीर से एक करोड़ 65 लाख रुपये में मकान लेना तय किया गया था। 65 लाख रुपये मकान के बैनामे के लिए दिए थे। धर्मवीर द्वारा हरवीर को बैनामे के लिये कहा गया तो हरवीर द्वारा बैनामा नहीं किया गया। उन्होने बताया कि फैसले के बहाने पीड़ित के बेटे को रवि काना की फैक्ट्री ईकोटेक 12 में ले जाया गया था। आरोप है कि वहां पर सूरज, हरवीर, हरवीर के बेटे विवेक, विकास के अलावा आजाद नागर, राजकुमार नागर, अवध बिहारी, विकास नागर द्वारा पीड़ित के बेटे को बंधक बनाकर पीटा। पीड़ित के बेटे को मकान व रकम भूल जाने की धमकी दी। सिर्फ यही नहीं 45 लाख रुपये की और रंगदारी भी मांगी। इस संबंध में बीटा दो कोतवाली में केस दर्ज किया गया। इसी मामले में अब सूरज को गिरफ्तार किया गया है।

सीमा हैदर ने CAA लागू होने की मनाई खुशी, पीएम मोदी को दिया धन्यवाद

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post