Friday, 23 February 2024

गाजियाबाद की महापौर सुनीता दयाल ने दुबई Cop 28 में ऐसा कुछ कहा जिससे गाजियाबाद निवासी हैरान रह गए

गाजियाबाद की महापौर सुनीता दयाल अपने तेवर और अपने कार्यशाली के लिए दबंग लीडर के रूप में मानी जाती हैं

गाजियाबाद की महापौर सुनीता दयाल ने दुबई Cop 28 में ऐसा कुछ कहा जिससे गाजियाबाद निवासी हैरान रह गए

Cop 28 Dubai : गाजियाबाद की महापौर सुनीता दयाल अपने तेवर और अपने कार्यशाली के लिए दबंग लीडर के रूप में मानी जाती हैं। कार्यशैली में तेवर दिखाने उन्होंने छात्र नेता के जीवन से ही शुरू कर दिए थे। और अब गाजियाबाद का प्रतिनिधित्व सुनीता दयाल ने दुबई के 108 राष्ट्रीय अध्यक्षों के बीच वैश्विक भागीदारी के साथ किया और हैरान करने वाली बात तो यह थी कि उन्होंने गाजियाबाद में जलवायु और पर्यावरण के लिए उल्लेखनीय कार्यों को वैश्विक मंच पर रखने के लिए श्री रुई लुओ का आभार जताया।

गाजियाबाद की महापौर सुनीता दयाल ने कहा

मैं डॉ. अजय माथुर को धन्यवाद देना चाहती हूं और इंटरनेशनल सोशल एलायंस के प्रबंध निदेशक और ब्लूमबर्ग फ़िलांथ्रोपीज़ के श्री रुई लुओ जिन्होंने हमें गाजियाबाद में अपने काम को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर प्रदर्शित करने के लिए एक मंच प्रदान किया। आज मुझे क्लाइमेट कंट्रोल लीडरशिप में गाजियाबाद, भारत का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिला @COP28_UAE दुबई में संयुक्त राष्ट्र (यू.एन.) द्वारा शिखर सम्मेलन में वैश्विक मंच पर गाजियाबाद कि पर्यावरण के क्षेत्र में विश्व भर के लिए उल्लेखनीय छवि को पहुंचाने का जो मौका मिला उसके लिए मैं श्री लुओ का आभार व्यक्त करती हूं.

गाजियाबाद मेरी प्राथमिकता है

गाजियाबाद को हरित सुंदर पर्यावरण अनुकूल बनाने में हमारी भाजपा योगी मोदी सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और भारत ने विश्व भर की जलवायु परिवर्तन की चुनौती के बावजूद भारत में पर्यावरण संतुलन बनाकर रखा है। हमने स्वच्छ क्लीन ग्रीन ऊर्जा और पर्यावरण को महत्व दिया है। और हमारा मुख्य मकसद मानवता के लिए है जिसे माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी ने जी-20 में प्रमुखता के साथ विश्व के सामने वन अर्थ वन फैमिली वन फ्यूचर के रूप में प्राथमिकता देकर विश्व को संदेश दे दिया कि भारत मानवता और प्रकृति संतुलन और विकास के मकसद पर प्रतिबद्ध है।

सुनीता दयाल अपने दम पर जीने वाली महिला हैं

महापौर सुनीता दयाल के बारे में कहा जाता है कि वह उन महिलाओं में नहीं जो राजनीति दूसरों के कंधों पर करती हैं बल्कि वह महिला हैं जो अपने बल पर राजनीति करके अन्य महिलाओं को यह प्रेरणा देती हैं कि हमें अपनी कार्यशैली और सक्रियता से ही राजनीति में अपना वर्चस्व और प्रभुत्व बनाना चाहिए। देर लग सकती है लेकिन उसका फल बहुत सुखद होता है। सुनीता दयाल की सक्रियता ने ही कार्यशाली के साथ मिलकर उन्हें वैश्विक मंच पर ले जाकर गाजियाबाद की हिस्सेदारी और उसका गौरव साझा करने का सुनहरा अवसर दिया।

प्रस्तुति मीना कौशिक

Rajasthan Election Results 2023: राजस्थान में परंपरा कायम रहेगी, कांग्रेस को अंतरकलह ले डूबी!

देश विदेशकी खबरों से अपडेट रहने लिए चेतना मंचके साथ जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post