Thursday, 13 June 2024

दुनिया का सबसे खतरनाक नशा है जॉम्बी ड्रग, मचा रहा है तबाही

Zombie Drug : हो सकता है कि आपके मन में यह सवाल आया हो। सवाल यह है कि दुनिया में…

दुनिया का सबसे खतरनाक नशा है जॉम्बी ड्रग, मचा रहा है तबाही

Zombie Drug : हो सकता है कि आपके मन में यह सवाल आया हो। सवाल यह है कि दुनिया में सबसे खतरनाक नशा कौन सा है? इस सवाल का उत्तर है Zombie Drug। जॉम्बी ड्रग दुनिया का सबसे खतरनाक नशा है। नशेड़ी लोग या नशे के शौकीन Zombie Drug को दुनिया का सबसे बेहतरीन नशा मानते हैं। नशे के शौकीनों का कहना है कि Zombie Drug का सेवन करने से उन्हें परम आनंद प्राप्त होता है।

तबाही मचा रहा है Zombie Drug

एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार जॉम्बी ड्रग पूरी दुनिया में तबाही मचा रहा है। अफ्रीका के एक देश में तो जॉम्बी ड्रग के कारण इमरजेंसी लगानी पड़ गई है। रिपोर्ट के मुताबिक ‘जॉम्बी ड्रग’ अमेरिका में तबाही मचाने के बाद अब ब्रिटेन में अपने पैर पसार रहा है। ये ड्रग अब तक वहां 11 लोगों को मौत के घाट उतार चुका है. जिसकी चपेट में लगातार लोग आ रहे हैं। सबसे पहले इस ड्रग की चपेट में किसी व्यक्ति के शरीर की चमड़ी आती है। जिसके चलते उसके शरीर पर घाव होेने लगते हैं. फिर बाद में इस संक्रमण का असर बढ़ने लगता है और व्यक्ति किसी जॉम्बी की तरह ही हरकते करना शुरू कर देता है. यही वजह है कि इस ड्रग का नाम जॉम्बी ड्रग पड़ गया है। जॉम्बी ड्रग असल में डायलेजिन ड्रग है. जो आमतौर पर दवा के तौर पर जानवरों पर इस्तेमाल की जाती है। अमेरिका की हेल्थ एजेंसी यानी CDC के मुताबिक अमेरिका में इस दवा की मांग में तेजी से वृद्धि देखी गई है. जिसका कनेक्शन ओवरडोज के कारण होने वाली मौतों में पाया गया है। जॉम्बी ड्रग का इस्तेमाल नशीले पदार्थों के साथ मिलाकर हो रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जॉम्बी ड्रग का बिजनेस करने वाले इसे कोकीन और हिरोइन जैसी दूसरी ड्रग्स मे मिलाकर देते हैं। जिससे उसमें नशे की मात्रा बढ़ जाती है। इसका नशा जब होता है उस समय तो अच्छा लगता है वहीं सीडीसी कहना है कि नशीले पदार्थों के साथ मिलकर ये ड्रग और खतरनाक बन जाता है। जिसके बाद इंसान अपना होश खो देता है और उसकी त्वचा में घाव होने लगते हैं।जिसके बाद बदहोश होने पर वो अजीब हरकतें करने लगता है। शरीर में जैसे ही ये ड्रग पहुंचता है उसके 20 से 30 मिनट के बाद इसका असर दिखने लगता है. इस ड्रग का नशा कई घंटों तक रहता है। साथ ही इस ड्रग के नशे में व्यक्ति एक ही पोजिशन में घंटों तक रहता है। जिसके चलते उसकी हालत बिगड़ने लगती है।

जॉम्बी ड्रग के कारण लगी इमरजेंसी

हम तरह-तरह के नशों व ड्रग्स के बारे में प्राय: सुनते रहते हैं जैसे चरस, भांग ,गांजा, अफीम एलएसडी ,कोकीन, स्मैक और अभी-अभी तो हमने सांपों के जहर( स्नेक बाइट )के बारे में भी सुना है। लेकिन क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि नशे के लिए इंसान जोंबी( नर पिशाच) बन सकता है? तो जवाब है हां। पश्चिम अफ्रीका के एक देश सिएरा लियोन में नशे की लत पूरी करने के लिए लोग इंसानी कब्रों की खुदाई करके उनकी हड्डियों को पीसकर उनका प्रयोग नशे के लिए कर रहे हैं ।नशे की बढ़ती लत एवं कब्रों की हिफाजत के लिए इस देश में इमरजेंसी लगाई गई है तथा पुलिस को कब्रों की हिफाजत के लिए तैनात किया गया है। सिएरा लियोन एक छोटा सा देश है ,जिसकी आबादी 2022 में लगभग 90 लाख थी ।इसकी राजधानी फ्री टाउन है एवं जूलियस मादी बायो यहां के राष्ट्रपति हैं। सिएरा लियोन एक निर्धन देश है जहां की 80% जनसंख्या कृषि पर आश्रित है। इस देश की प्रति व्यक्ति आय 115 रुपए प्रतिदिन है तथा जीवन प्रत्याशा लगभग 60 वर्ष है। इस देश में जिस जॉम्बी ड्रग का इस्तेमाल लोग नशे के लिए कर रहे हैं उसकी एक दिन की कीमत 800/- है। यद्यपि जॉम्बी ड्रग अभी 6 वर्ष पूर्व ही यहां के बाजार में आई है किंतु स्थिति यह है कि अस्पतालों में भर्ती 63% मैरिज जॉम्बी ड्रग एडिक्ट है 2020-23 के 3 सालों में ही नशेडय़िों की संख्या में 40% की बढ़ोतरी हुई है।ब्रिटेन के मीडिया संगठन डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार जॉम्बी ड्रग एक तरह का सिंथेटिक ड्रग है जिसका नशा फूंक कर किया जाता है। इसे कई तरह के जहरीले पदार्थो से तैयार किया जाता है जिसमें नशे के लिए गांजा, चरस,घातक केमिकल्स, कीड़े मारने वाली दवाएं और सल्फर मिलाया जाता है।

यह एक मनो सक्रिय ड्रग है जिसके प्रयोग से हैलूसीनेशन ( hallucination मति भ्रम) होता है

यूनिवर्सिटी ऑफ़ आर्क के प्रोफेसर आयन हैमिल्टन ने “न्यूज़ वीक” को बताया कि अफ्रीका में इस्तेमाल होने वाला ड्रग Zombie Drug ट्रामाडोल (अफीम के पौधे से बना सिंथेटिक ड्रग) गांजा ,फैंटानिल और कई बार फोरमेल्डिहाइड का भी इस्तेमाल करता है ।यह सियेरा लियोन के लोगों के बीच काफी पॉप्युलर है। व आसानी से उपलब्ध है। आपको बताते चलें कि फैंटानिल में हीरोइन के नशे से 50 गुना अधिक नशा होता है। परन्तु सिएरा लियोन में उपयोगकर्ताओं ने उन सामग्रियों को पिसी हुई मानव हड्डियों के साथ मिलाना शुरू कर दिया है जिनके बारे में कहा जाता है कि वह अपनी उच्च सल्फर सामग्री के कारण दवा को अधिक शक्तिशाली बनाते हैं । इन लोगों का मानना है कि इंसानी हड्डियों में पाया जाने वाला सल्फर नशे के लिए कैटालिस्ट की तरह काम करता है। जॉम्बी ड्रग अत्यंत घातक ड्रग है जिसके नशे में नशेड़ी चलते समय कभी-कभी ट्रैफिक में सो सकते हैं वह दीवारों से अपना सिर टकरा सकते हैं और इमारत से गिर सकते हैं । यह एक मनो सक्रिय ड्रग है जिसके प्रयोग से हैलूसीनेशन ( hallucination मति भ्रम) होता है । जॉम्बी ड्रग के एक ड्रग एडिक्ट ने टेलीग्राफ को दिए अपने बयान में बताया कि जब मैं जॉम्बी ड्रग पीता हूं तो मैं अपनी समस्याओं को भूल जाता हूं। यह आमतौर पर मुझे परमानंद की ओर ले जाता है। मैंने अपनी लत को पूरा करने के लिए अपने कपड़े और किताबें बेंच दी  ।मैंने ड्रग खरीदने के लिए घरेलू सामान फोन बर्तन चुराना शुरू कर दिया। जॉम्बी ड्रग अत्यंत घातक दवा है उपयोगकर्ता अक्सर अपने सिर गर्दन और जोड़ों में तेज दर्द की शिकायत करते हैं इससे अंगों में सूजन आ सकती है और शरीर के अंग किडनी ,लीवर आदि काम करना बंद कर सकते हैं और गंभीर मानसिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती है। इस नशे के लती सबसे अधिक 18 से 25 वर्ष के युवा हुए हैं। नशे की लत से निपटने के लिए राष्ट्रपति बायो द्वारा सिएरा लियोन में आपातकाल लगा दिया गया है एवं अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वह इस समस्या के समाधान के लिए स्पेशल टास्क फोर्स का गठन करें। जॉम्बी ड्रग की बढ़ती हुई मांग ने डीलरों को कब्रों को लूटने पर मजबूर कर दिया है जवाब में सरकार ने कब्रिस्तानों की सुरक्षा के लिए फोर्सेज को तैनात किया है और लोगों के कब्र खोदने पर रोक लगा दी है।

shaadi.com ने दहेज कैलकुलेटर का विकल्प पेश किया,चकराये लोग !

Related Post