Sunday, 14 July 2024

जानें राम सीता विवाह की शुभ तिथि और व्रत एवं त्यौहारों का समय 

साल का अंतिम पड़ाव दिसंबर माह के आगमन के साथ ही आरंभ हो जाता है। इस माह के आगमन के साथ ही शुरू हो जाता है व्रत एवं त्यौहारों का सिलसिला

जानें राम सीता विवाह की शुभ तिथि और व्रत एवं त्यौहारों का समय 

fasts and festivals  साल का अंतिम पड़ाव दिसंबर माह के आगमन के साथ ही आरंभ हो जाता है। इस माह के आगमन के साथ ही शुरू हो जाता है व्रत एवं त्यौहारों का सिलसिला। साथ ही मांगलिक कार्यों का होना। हिंदू पंचांग  के अनुसार इस बार दिसंबर के दौरान मार्गशीर्ष माह का समय रहेगा और दिसंबर का अंतिम पड़ाव पौष माह के साथ समाप्त होगा। ऎसे में इस बार दिसंबर माह के दौरान मार्गशीर्ष माह के पर्व विशेष रुप से संपन्न होंगे।

12 दिसंबर के दिन मार्गशीर्ष अमावस्या

मार्गशीर्ष माह का आरंभ कार्तिक पूर्णिमा की समाप्ति के साथ हो चुका है और अभी मार्गशीर्ष माह के कृष्ण पक्ष का समय चल रहा है जो 12 दिसंबर के दिन मार्गशीर्ष अमावस्या के साथ ही समाप्त होगा। तब उसके पश्चात मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष का आरंभ होगा। इस तरह से इस बार मार्गशीर्ष माह में पड़ने वाले त्यौहार विशेष रूप से दिसंबर माह में आएंगे तो चलिये जानते हैं दिसंबर माह में आने वाले व्रत और त्यौहारों का विस्तृत वर्णन।

दिसंबर माह में कृष्ण पक्ष से मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष तक सभी व्रत त्यौहार 

दिसंबर 2023 मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष के व्रत त्यौहार   

01 दिसंबर को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष चतुर्थी के दिन श्री गणेश चतुर्थी  पूजन होगा।

05 दिसंबर को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष अष्टमी के दिन कालभैरवाष्टमी का पर्व मनाया जाएगा. इस दिन भगवान काल भैरव की जयंती का समय होता है।

06 दिसंबर को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष नवमी के दिन नवमी व्रत होगा।

08 दिसंबर को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष एकादशी के दिन उत्पन्ना एकादशी व्रत होगा।

10 दिसंबर को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष त्र्योदशी के दिन प्रदोष व्रत होगा।

11 दिसंबर को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष चतुर्दशी के दिन मासशिवरात्रि का व्रत होगा तथा बालाजी जयंती का उत्सव होगा।

12 दिसंबर को  मार्गशीर्ष माह की अमावस्या होगी तथा जिसमें स्नान दान एवं तर्पण से जुड़े कार्य संपन्न होंगे।

fasts and festivals in hindi

दिसंबर 2023 मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष के व्रत त्यौहार   

13 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि का आरंभ होगा।

16 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष चतुर्थी के दिन पौष संक्रांति का पर्व मनाया जाएगा।

17 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष पंचमी के दिन नाग पंचमी के साथ ही, श्री पंचमी तथा श्री राम जानकी विवाहोत्सव मनाया जाएगा. इसी दिन मार्गशीर्ष माह के पंचक का आरंभ भी होगा।

18 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष षष्ठी के दिन स्कन्द तथा चम्पा षष्ठी का पर्व मनाया जाएगा।

19 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष सप्तमी के दिन मित्र सप्तमी का पर्व संपन्न होगा।

20 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष अष्टमी के दिन मासिक दुर्गाष्टमी का पर्व होगा।

21 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष नवमी के दिन नंदा नवमी का उत्सव मनाया जाएगा। इस दिन पर ही मार्गशीर्ष माह के पंचक की समाप्ति होगी।

22 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष दशमी के दिन गीता जयन्ती एवं मोक्षदा एकादशी (स्मार्त्त) मनाई जाएगी।

23 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल द्वादशी के दिन मोक्षदा एकादशी (वैष्णव) संपन्न होगी तथा मत्स्य द्वादशी भी मनाई जाएगी।

24 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष त्रयोदशी के दिन हनुमान जयन्ती के साथ ही प्रदोष व्रत भी होगा।

25 दिसंबर को मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष चतुर्दशी के दिन पिशाचमोचन श्राद्ध होगा तथा पितरों के निमित्त तर्पण कार्य किया जाएगा। इसी के साथ क्रिसमस डे भी मनाया जाएगा।

26 दिसंबर को मार्गशीर्ष पूर्णिमा का पर्व होगा इसके साथ ही इस दिन दत्तात्रेय जयन्ती का पर्व भी मनाया जाएगा।

आचार्या राजरानी

बड़ी खबर : नोएडा में पूर्व उपराज्यपाल बने साइबर ठगों के शिकार, बैंक अकाउंट किया खाली

ग्रेटर नोएडा– नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post