Friday, 21 June 2024

चार धाम को लेकर लिया गया बड़ा फैसला, इस तारीख तक बंद किए रजिस्ट्रेशन

Char Dham Yatra 2024 : उत्तराखंड के चार धाम में कपाट खुलने के बाद से ही भक्तों का तांता लगा…

चार धाम को लेकर लिया गया बड़ा फैसला, इस तारीख तक बंद किए रजिस्ट्रेशन

Char Dham Yatra 2024 : उत्तराखंड के चार धाम में कपाट खुलने के बाद से ही भक्तों का तांता लगा हुआ है। हजारों-लाखों की संख्या में भक्त चारों तीर्थस्थलों पर पहुंच रहे हैं। दिन पर दिन बढ़ती भीड़ के चलते तीर्थस्थलों पर लोगों को कई परेशानियों का भी सामना करना पड़ रहा है। वहीं तीर्थस्थलों पर आने वाले भक्तों को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि बिन स्वास्थ्य जांच के कई तीर्थयात्री चार धाम पहुंच रहे हैं। ऐसे में उत्तराखंड सरकार ने तीर्थयात्रियों को स्वास्थ्य की जांच करवा कर ही आने की अपील कर रही है। हाल ही में जारी कि एक रिपोर्ट के मुताबिक अब तक चार धाम यात्रा के दौरान 11 लोगों की मौत का मामला सामने आया है। वहीं, तीर्थस्थलों में उमड़ रही भीड़ को लेकर 19 मई तक ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन को बंद कर दिया गया है। वहीं, तीर्थयात्रियों के लिए डॉक्टरों की ओर से विशेष जानकारी दी गई है।

ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा हुई बंद

उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के शुरू होने के बाद से ही भक्तों की भारी भीड़ दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। लोगों की सुविधा के लिए सरकार की ओर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गई है, लेकिन लोग ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था को देखकर हरिद्वार और ऋषिकेश सीधे पहुंच रहे हैं। चार धाम में लगातार बढ़ी रही भीड़ को देखते हुए ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन पर अब रोक लगा दी गई है। ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था पर गुरुवार को रोक लगाई गई थी। जोकि अब 19 मई तक बढ़ा दी गई है। पहले ऑफलाइन पंजीकरण पर रोक 16 मई तक तय की गई थी। ऑफलाइन पंजीकरण करने वाले श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या और धामों में बढ़ती भीड़ को देखते हुए पर्यटन विभाग ने यह फैसला लिया है। गुरुवार को पर्यटन सचिव सचिन कुर्वे की ओर से ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन पर रोक 19 में तक बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं।

स्वास्थ्य परीक्षण की दी जा रही सलाह

चार धाम यात्रा पर आने वाले सभी भक्तों से यहां आने से पहले तीर्थयात्रियों को अपना स्वास्थ्य परीक्षण जरूर कराने की सलाह दी गई है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का दावा है कि अगर सांस और दिल की ज्यादा दिक्कत है तो यात्रा नहीं करें। डॉक्टर की अनुमति देने पर ही यात्रा पर जाने की सलाह दी गई है। मैदान और पहाड़ के तापमान में अंतर को देखते हुए तीर्थयात्रियों को अपना शरीर इसके अनुरूप ढालने के लिए मैदान से पहाड़ी इलाकों में जाकर पहले आराम करने को कहा गया है। इसके साथ ही एकदम से ज्यादा पैदल न चलने को कहा गया है। दरअसल, देश में अभी गर्मी अपने चरम पर है। कई जगहों पर तापमान 40 डिग्री या इससे अधिक पहुंच गया है। वहीं, चार धाम में तापमान 15 से 20 डिग्री सेल्सियस तक रह रहा है। रात को यहां 10 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे तापमान है। जिससे लोगों की तबियत खराब होने आम बात है, इसलिए सभी भक्तों को अपनी स्वास्थ्य परीक्षण करवा कर ही आने की सलाह दी जा रही है।

75 साल का दूल्हा और 60 साल की दुल्हन, गुजरात में दिखा अनोखी शादी का नजारा

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें

Related Post