Monday, 24 June 2024

दु:खद समाचार : नहीं रहे नेचुरल आइसक्रीम के जादूगर, छाया शोक

Natural Ice Cream Man Death : एक बड़ा दु:खद समाचार सामने आया है। समाचार यह है कि भारत को नेचुरल…

दु:खद समाचार : नहीं रहे नेचुरल आइसक्रीम के जादूगर, छाया शोक

Natural Ice Cream Man Death : एक बड़ा दु:खद समाचार सामने आया है। समाचार यह है कि भारत को नेचुरल आइसक्रीम (Natural’s Icecream) खिलाने वाले नेचुरल आइसक्रीम के जादूगर रघुनंदन श्रीनिवास कामथ का निधन हो गया है। इस दु:खद घटना की जानकारी नेचुरल आइसक्रीम बनाने वाली कंपनी ने सोशल मीडिया पर दी है। नेचुरल आइसक्रीम के मालिक के निधन से उनके चाहने वालों में शोक छा गया है।

अब नहीं रहे नेचुरल आइसक्रीम के मालिक

आपको बता दें कि नैचुरल्स आइसक्रीम (Natural’s Icecream) के फाउंडर रघुनंदन श्रीनिवास कामथ का निधन (Raghunandan Srinivas Kamath Dies) हो गया है, उन्होंने 70 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। साधारण परिवार में जन्मे इस बिजनेस मैन ने अपनी काबिलियत और मेहनत के दम पर 400 करोड़ रुपये का विशाल कारोबारी साम्राज्य खड़ा किया था और देश में इन्हें भारत के आइसक्रीम मैन (Icecream Man Of India) के नाम से पहचाना जाता था. Natural’s Icecream का नाम आइसक्रीम पसंद करने वाले लगभग सभी ने सुना होगा, लेकिन इसे पहचान दिलाने की कहानी बेहद ही दिलचस्प है. नेचुरल आइसक्रीम के फाउंडर रघुनंदन श्रीनिवास कामथ का निधन (Raghunandan Srinivas Kamath Dies) हो गया है और इसकी जानकारी कंपनी ने सोशल मीडिया के जरिए शेयर की है. आम बेचने वाले के बेटे की सफलता की कहानी आज सभी के लिए प्रेरणादायक है।

मुंबई जाकर शुरू किया कारोबार

रघुनंदन कामथ का जन्म कर्नाटक के मंगलुरु के एक गांव में फल बिक्रेता के घर में हुआ था। उनके पांच भाई-बहन थे। बचपन में पढ़ाई-लिखाई के साथ ही उन्होंने अपने पारिवारिक फलों के बिजनेस में पिता का हाथ बंटाया और फलों के इसी बिजनेस का अनुभव उनके लिए काफी मददगार साबित हुआ। फलों की गहरी समझ रखने वाले रघुनंदन श्रीनिवास कामथ जब 14 साल के हुए तो उन्होंने मुंबई का रुख कर लिया। यहां शुरुआती दौर में उन्होंने अपने भाई के रेस्टोरेंट में काम किया।  भाई के रेस्टोरेंट में काम करते-करते Raghunandan Srinivas Kamath के मन में अपना बिजनेस शुरू करने का आइडिया आया और बस यहीं Natural’s Icecream की नींव पड़ी।

Natural Ice Cream Man Death

रघुनंदन श्रीनिवास ने 14 फरवरी 1984 को महज 4 कर्मचारियों के साथ और फलों की बारिकियों की जानकारी के साथ इसकी छोटी सी शुरुआत की। उनका आइडिया काम आया और जुहू मुंबई में उनका छोटा सा स्टोर चल निकला, फिर उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। प्रोडक्ट की गुणवत्ता में लगातार इजाफा करते हुए उन्होंने कई प्लेवर में नेचुरल्स आइसक्रीम को पेश किया और देखते ही देखते सिंगल स्टोर से शुरू हुआ बिजनेस देशभर में फैल गया।

चार सौ करोड़ की कंपनी है नेचुरल आइसक्रीम

वित्त वर्ष 2020 तक कंपनी का रेवेन्यू 400 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया था। अपने प्रोडक्ट्स में आर्टिफिशियल टेस्ट की जगह नेचुरल स्वाद पेश करने वाले रघुनंदन श्रीनिवास कामथ के आइसक्रीम ब्रांड की सफलता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि फल विक्रेता के बेटे को देश में ‘आइसक्रीम मैन ऑफ इंडिया’ के नाम से पहचाना जाने लगा। बहरहाल अब, रघुनंदन दुनिया को अलविदा कह चुके हैं, लेकिन उन्होंने नेचुरल्स आइसक्रीम के जरिए जो स्वाद लोगों को दिया, वो हमेशा उनकी याद दिलाता रहेगा। Natural Ice Cream Man Death

इंसानों की तरह से ही पेड़ों को भी मिलेगी वृद्धावस्था पेंशन

ग्रेटर नोएडा– नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post