Monday, 24 June 2024

तीन माह बाद सम्मानजनक तरीके से सेवानिवृत्त हो सकेंगे श्रीपाल भाटी

Noida News : अंतत: 6 माह की जांच के बाद सभी आरोपों से दोषमुक्त किए गए नोएडा प्राधिकरण के उप…

तीन माह बाद सम्मानजनक तरीके से सेवानिवृत्त हो सकेंगे श्रीपाल भाटी

Noida News : अंतत: 6 माह की जांच के बाद सभी आरोपों से दोषमुक्त किए गए नोएडा प्राधिकरण के उप महाप्रबंधक (सिविल) श्रीपाल भाटी अब सम्मान के साथ सेवानिवृत्त हो सकेंगे। बता दें कि तकरीबन तीन माह बाद श्री भाटी सेवानिवृत्त हो जाएंगे।

शासन ने 6 माह पूर्व किया था निलंबित, जांच में सभी आरोपों से हुए मुक्त

Noida News

बताते चलें कि 20 सितंबर 2022 को नोएडा सेक्टर-21 स्थित जलवायु विहार में नाली से सटी चारदिवारी के निर्माण के दौरान दीवार गिरने से चार मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई थी। इस घटना की जांच के लिए तत्कालीन एसीईओ मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गई थी। जिसमें एसीईओ प्रवीण सिंह तथा उप महाप्रबंधक (नियोजन) इश्तियाक अहमद भी सदस्य के रूप में नामित थे। एसीईओ प्रवीण कुमार के स्थानांतरण होने के बाद जांच समिति का पुनर्गठन किया गया जिसमें मानवेंद्र सिंह की अध्यक्षता में एसीईओ प्रभास कुमार को सदस्य के तौर पर नामित किया गया। नोएडा प्राधिकरण के सीईओ ने 28 अप्रैल 2023 को श्रीपाल भाटी के विरुद्ध कार्रवाई किए जाने की संस्तुति शासन को भेजी थी। शासन ने 28 नवंबर 2023 को श्रीपाल भाटी को लापरवाही पाए जाने पर प्रथम दृष्टïया निलंबित करते हुए विभागीय अनुशासनिक कार्रवाई स्थापित की थी।

Noida News

तीन माह बाद सम्मानजनक तरीके से सेवानिवृत्त हो सकेंगे श्रीपाल भाटी

अनुशासनिक कार्यवाही की जांच के लिए शासन ने नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ संजय खत्री को नामित किया था। श्री खत्री ने जांच पूरी कर 23 फरवरी 2024 को अपनी जांच की आख्या शासन को प्रेषित की थी। जांच की कार्रवाई के दौरान श्री भाटी पर लगे कोई भी आरोप सिद्ध नहीं हो पाए। औद्योगिक विकास एवं स्थापना विभाग के प्रमुख सचिव अनिल सागर ने आदेश के जरिए श्रीपाल भाटी का निलंबन का आदेश निरस्त करते हुए उनके विरुद्ध अनुशासनिक करवाई बिना किसी दंड के समाप्त करने के निर्देश जारी किए। शासन के इस आदेश के बाद नोएडा प्राधिकरण में श्री भाटी के सहयोगियों एवं कर्मचारियों में खुशी का माहौल है। उनका कहना है कि अब खुशी के साथ तथा सम्मानजनक तरीके से श्रीपाल भाटी नोएडा प्राधिकरण से सेवानिवृत्ति हो सकेंगे।

नोएडा की सबसे बड़ी बिल्डर कंपनी हुई दिवालिया, नई कंपनी देगी 20 हजार फ्लैट

Related Post