Sunday, 16 June 2024

Apple ने गूगल को पछाड़ने के लिए पेश किए नए पावरफुल AI फीचर्स

WWDC 2024: जबसे दुनिया में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) आया है, तबसे उसने दुनिया में तहलका मचा रखा है। हर कंपनी…

Apple ने गूगल को पछाड़ने के लिए पेश किए नए पावरफुल AI फीचर्स

WWDC 2024: जबसे दुनिया में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) आया है, तबसे उसने दुनिया में तहलका मचा रखा है। हर कंपनी में AI को लेकर कंपटीशन बढ़ता जा रहा है। क्योंकि दुनियाभर की कंपनियां अपने-अपने नए AI मॉडल्स डेवलप कर रही हैं। ChatGPT को टक्कर देने के लिए गूगल ने एआई मॉडल Gemini AI को उतारा था। ऐसे में एप्पल कैसे पीछे रह जाता। एप्पल ने भी अपनी वर्ल्डवाइड डेवलपर कॉन्फ्रेंस (WWDC 2024) में नए एआई फीचर्स का खुलासा किया है। एपल ने यह सब OpenAI के ChatGPT मॉडल की मदद से किया है।

WWDC 2024

एप्पल लाया नया AI

आपको बता दें कि WWDC 2024 इवेंट में एपल ने कई बड़े ऐलान किए। कंपनी ने एआई के अलावा नए ऑपरेटिंग सिस्टम को भी पेश किया जिनमें- iOS 18, iPadOS 18, VisionOS 2, macOS Sequoia और WatchOS11 शामिल हैं। टिम कुक की लीडरशिप वाली एपल ने बताया कि उसके कई सॉफ्टवेयर को ChatGPT से जोड़ दिया जाएगा।

WWDC 2024

एपल की एआई दुनिया

दरअसल एप्पल AI की दुनिया में पूरी ताकत के साथ कदम रखने वाली है, एपल ने अपनी एआई की दुनिया को Apple Intelligence का नाम दिया है। इसके तहत कंपनी ने एआई असिस्टेंट Siri में बड़ा बदलाव किया है। इसी के साथ लोगों की प्राइवेसी को भी ध्यान में रखते हुए कंपनी एआई फीचर्स का बेनिफिट देने वाली है।

एपल इंटेलिजेंस के काम

मिली जानकारी के अनुसार एपल ने ‘एपल इंटेलिजेंस’ के नाम से एआई की दुनिया में एंट्री मारी है। इंटेलिजेंस का मकसद यूजर्स की प्राइवेसी का ध्यान रखते हुए एआई फीचर्स को फायदा देना है। एपल इंटेलिजेंस के बारे में बताते हुए टिम कुक ने कहा कि अब ‘पर्सनल इंटेलिजेंस’ की जरूरत है। एपल के लिए यह अगल बड़ा कदम हो सकता है।

एपल इंटेलिजेंस जेनरेटिव एआई के बूते इमेज बना सकता है, अलग-अलग ऐप में काम कर सकता है, आपकी बात जान सकता है, और रोजमर्रा के कामों को आसान और बेहतर बना सकता है। इसके जरिए आप ईमेल और कंटेंट भी लिख सकते हो।  इसके अलावा ऑडियो यानी आवाज को टेक्स्ट में समराइज कर सकते हैं, नोटिफिकेशन सेट कर सकते हैं, इमेज और इमोजी को भी बना सकते हैं।

इन डिवाइस पर चलेगा एपल इंटेलिजेंस

आपको बता दें कि एपल इंटेलिजेंस एप्पल फोन में ही काम करेगा। हालांकि, कुछ मुश्किल टास्क के लिए यह प्राइवेट क्लाउड कंप्यूट की मदद ले सकता है। इस बारें में कंपनी का कहना है कि आपके डेटा को स्टोर नहीं किया जाता है, ना ही उसे खोला जाएगा।  एपल इंटेलिजेंस iPhone 15 Pro, iPhone 15 Pro Max, iPad समेत M1 या इससे बाद के चिपसेट वाले MacBooks पर चलेगा। अमेरिका में यह iOS18, iPadOS 18 और macOS Sequoia यूजर्स को ये फ्री मिलेगा।  WWDC 2024

उत्तर प्रदेश वालों के लिए आई खराब खबर, बढ़ेंगे बिजली के रेट

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करे

Related Post