Tuesday, 16 April 2024

IREDA का भी तोड़ेगा रिकॉर्ड, आने वाला है इस सरकारी कंपनी का IPO

अगर आप IREDA का IPO लेने से चूक गए थे तो अब आपके लिए यहाँ एक अच्छा मौका हो सकता है

IREDA का भी तोड़ेगा रिकॉर्ड, आने वाला है इस सरकारी कंपनी का IPO

IIFCL IPO : इन दिनों भारतीय शेयर बजार में तेजी का दौर चल रहा है। न सिर्फ आम निवेशक बल्कि विदेशी निवेशक भी शेयर भारतीय शेयर बजार की ओर काफी अकर्षित हो रहे हैं।  इस बीच अगर आप सोच रहे हैं कि आप शेयर बजार में इंवेस्ट करने में पीछे हो गए हैं। तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। जल्द भारत सरकार की स्वामित्व वाली एक और कंपनी (IIFCL IPO) का Initial Public Offering यानि IPO जारी होने वाला है। IREDA के शेयर की जानकारी तो आपको पता ही होगी। इसके एक शेयर की कीमत 30 से 32 रुपए से होकर 105 रूपए के पार पहुंच चुकी है। अगर आप IREDA का IPO लेने से चूक गए थे तो अब आपके लिए यहाँ एक अच्छा मौका हो सकता है । आइए जानते हैं IIFCL IPO के बारे में।

भारत सरकार के स्वामित्व वाली India Infrastructure Finance Company Ltd  (IIFCL) अगले साल के फाइनेंशियल ईयर में अपना IPO जारी कर सकती है। हाल ही में IIFCL के 19वें स्थापना दिवस पर इस बात की जानकारी देते हुए कंपनी के प्रबंधन निदेशक पी आर जयशंकर ने इस बताया कि हम लिस्टिंग पर विचार कर रहे हैं, और उम्मीद लगाई जा रही है कि अगले फाइनेंशियल ईयर तक इस काम को पूरा कर लिया जाएगा। कंपनी प्रबंधन के मुताबिक IIFCL (IIFCL IPO) एक ऐसे मुकाम पर है जहां कंपनी सरकार को एक सही वैल्यूएशन दे सकती है। कंपनी बहुत जल्द IPO लाने के लिए परामर्श प्रक्रिया की शुरूआत करेगी और इससे जुड़ी जरूरी मंजूरियां ले सकती है। आपको बता दें कितनी हिस्सेदारी ऑफर की जाएगी इसके बार में निर्णय बाद में लिए जाने की बात कही जा रही है।

जल्द आ सकता है IPO

आपको बता दें वर्तमान में, IIFCL की 100 फीसदी हिस्सेदारी भारत सरकार के पास है। कंपनी को उम्मीद है कि वित्त वर्ष 24 में उसे 1500 करोड़ रुपए का मुनाफा हो सकता है। अपने स्थापना दिवस पर IIFCL ने सतत विकास और इंफ्रास्ट्रक्चर (IIFCL IPO) पर आधारित एक सम्मेलन ‘इंफ्रास्ट्राइव’ का आयोजन किया था। सम्मेलन के मुख्य अतिथि भारत सरकार के वित्त सेवा विभाग के अतिरिक्त सचिव डॉ. एम पी तांगीराला थे।

IIFCL के बारे में

IIFCL भारत के इंफ्रा प्रोजेक्ट्स की लंबी अवधि की फाइनेंसिंग की जरूरतों को पूरा करती है। साथ ही यह सरकार की नीति निर्धारण में भी मदद करती है। IIFCL ने पिछले कुछ सालों में कई रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन किया है। वहीं फाइनेंशियल ईयर 24 में दिसंबर 2023 तक कंपनी ने 30 हजार 315 करोड़ की मंजूरी दी है। इसके साथ ही 14 हजार 784 करोड़ का वितरण भी किया है। वर्तमान में IIFCL की 100 फीसदी हिस्सेदारी भारत सरकार के पास है। कंपनी अपने अलग -अलग प्रोडक्ट्स के जरिए इंफ्रास्ट्रक्चर सब-सेक्टर्स को सेवाएं मुहैया करवाती है।

इनके प्रोडक्ट्स में डायरेक्ट लेंडिंग टेकआउट, फाइनेंस क्रेडिट इनहैंसमेंट, इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट, इन्फ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड और रीफाइनेंस आदि शामिल है। आपको जान कर हैरानी होगी कि इस समय कई सरकारी कंपनियां भारतीय शेयर बजार में लिस्ट होना चाहती है। IREDA के अलावा NTPC कंपनी अपनी ग्रीन एनर्जी यूनिट को 1 से 2 साल में लिस्ट करने की योजना बना रही है।

इस सरकारी कंपनी के शेयर ने मचा दिया तूफान ,12 दिन में 32 रुपए से पहुंचा 120 पर

 

Related Post