Friday, 21 June 2024

सावधान: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में खड़ी हो गई साइबर ठगों की राजधानी, जामताड़ा से भी ज्यादा खतरनाक

आपको बता दें कि दिल्ली, गुरूग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा गाजियाबाद जैसे शहरों में रहने वालों को बेहद सावधान रहने की जरूरत है

सावधान: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में खड़ी हो गई साइबर ठगों की राजधानी, जामताड़ा से भी ज्यादा खतरनाक

Delhi NCR : यदि आप राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र यानि NCR में रहते हैं तो आपको बेहद सावधान व सतर्क रहने की आवश्यकता है। NCR में देश की राजधानी की ठीक बगल में बेहद खतरनाक साइबर ठगों का पूरा शहर बसा हुआ है। NCR के इस शहर को अब साइबर ठगों की राजधानी भी कहा जाने लगा है। NCR का यह शहर साइबर ठगी के लिए बदनाम पुराने जामताड़ा से भी ज्यादा खतरनाक है।

कहां है साइबर ठगी का सबसे बड़ा गढ़ ?

आपको बता दें कि दिल्ली, गुरूग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा गाजियाबाद जैसे शहरों में रहने वालों को बेहद सावधान रहने की जरूरत है। आपके शहर के बेहद निकट हरियाणा के गुरूग्राम जिले में एक पूररा शहर साइबर ठगों का गढ़ बन गया है। साइबर ठगी के यहां से एक से एक नए हथकंड़े अपनाए जा रहे हैं। इस शहर का नाम नूंह है। इस शहर को साइबर ठगी का बड़ा गढ़ माना जाता है। यह शहर दिल्ली से मात्र 80 किलोमीटर दूर है। नूंह में बैठकर साइबर ठग रोज हजारों लोगों को साइबर ठगी का शिकार बना रहे हैं। हाल ही में दिल्ली पुलिस ने दावा किया है कि नूंह के साइबर ठग 30 हजार से ज्यादा मोबाइल फोनों के जरिए साइबर ठगी कर रहे हैं। नूंह के साइबर ठगों ने देश भर में होने वाली साइबर ठगी के सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं।

पुलिस से आगे नूंह के साइबर ठग

Delhi NCR

ऐसा नहीं है कि हरियाणा, दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश की पुलिस नूंह के साइबर ठगों पर नियंत्रण का प्रयास नहीं कर रही है, किन्तु नूंह के साइबर ठग पुलिस से अव्वल साबित हो रहे हैं। रोज नए-नए तरीके निकालकर साइबर ठगी की जा रही है। साइबर ठगी का सबसे नया तरीका आर्टीफिशियल इंटेलीजेंसAI के द्वारा अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैमेलिंग करने का है। हाल ही में सामने आए आंकड़ों के मुताबिक AI के द्वारा सीधे-साधे नागरिकों की अश्लील वीडियो बनाकर नूंह के साइबर ठगों ने तीन करोड़ रूपए से भी अधिक की ठगी की है।

तीन हजार बैंक खाते सीज

हरियाणा पुलिस ने हाल ही में नूंह के साइबर ठगों के तीन हजार बैंक खातों को सीज कराया है। नूंह के साइबर ठग कितनी बड़ी मात्रा में सक्रिय हैं। इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि साइबर ठगों के तीन हजार बैंक खाते तो सामने आ चुके हैं जिनमें साइबर ठगी से प्राप्त की जाने वाली रकम को जमा किया जाता है। नूंह में रहने वाले रामबीर सिंह सरपंच बताते हैं कि उनके शहर में साइबर ठगों की बाढ़ सी आई हुई है। नूंह के कुछ साइबर ठग दिल्ली व उत्तर प्रदेश के मथुरा में छुपकर अपना धंधा चला रहे हैं। नूंह को अब साइबर ठगों की राजधानी कहा जाने लगा है। इस शहर का नाम अब जामताड़ा से भी अधिक बदनाम नाम हो चुका है। आपको यह बताना जरूरी है कि जामताड़ा झारखंड प्रदेश का एक शहर है। जामताड़ा शहर बांग्लादेश और भारत की सीमा पर बसा हुआ है। इस शहर के हर घर में साइबर ठग पैदा होते हैं। लम्बे अर्से से जामताड़ा भारत में साइबर ठगी का सबसे बड़ा केन्द्र रहा है। अब Delhi NCR का नूंह जामताड़ा से भी ज्यादा खतरनाक साइबर ठगों का केन्द्र बन गया है। हमारी सलाह है कि साइबर ठगों से बचने के लिए आप रात-दिन सतर्क व सावधान रहें।Delhi NCR

फ्लैट पर लगी सील तोड़ने वालों पर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का बड़ा ऐक्‍शन, दर्ज कराई एफआईआर

ग्रेटर नोएडा नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post