Saturday, 18 May 2024

घुटने के दर्द का कारगर उपाय, खानपान और स्ट्रेचिंग, आप खुद बन सकते हैं डॉक्टर kneepain simple remedies

kneepain simple remedies आजकल कम उम्र के लोगों में भी घुटने में दर्द की शिकायत देखी जा रही है. घुटने…

घुटने के दर्द का कारगर उपाय, खानपान और स्ट्रेचिंग, आप खुद बन सकते हैं डॉक्टर kneepain simple remedies

kneepain simple remedies आजकल कम उम्र के लोगों में भी घुटने में दर्द की शिकायत देखी जा रही है. घुटने में दर्द के कई कारण हो सकते हैं. अगर समय रहते कारणों पर ध्यान नहीं दिया जाए तो समस्या और बढ़ती ही जाएगी।
कुछ लोग मानते हैं कि घुटने या जोड़ों का दर्द बुढ़ापे की बीमारी है और कम उम्र में इसका कोई असर नहीं होता. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं, तो आप बिल्कुल गलत सोचते हैं। घुटने का दर्द किसी भी उम्र में आपको परेशान कर सकती है इसीलिए इस दर्द के ऐसे उपाय जानने बेहद जरूरी है जिससे हमेशा के लिए इस दर्द से छुटकारा मिल जाए। आज हम घुटने के दर्द के कुछ घरेलू उपाय के बारे में बात करेंगे साथ ही जानेंगे खुद को फिट रखने का राज।

kneepain simple remedies

घरेलू उपाय
घुटने के दर्द का कारगर उपाय खानपान और स्ट्रेचिंग
(आप स्वयं बन सकते हैं अपने डॉक्टर ! बस अपनाए यह बातें)

बचपन और जवानी में हम जिन घुटनों के बदौलत दुनिया की सारी सफलताएं छूते हैं वही घुटने आम तौर पर 40 की उम्र के बाद हमारा साथ छोड़ने लगते हैं। अब तो 40 से कम उम्र के लोगों में भी घुटने के दर्द की समस्याएं सामने आ रही है। जिसको घुटने के दर्द की समस्या हो, उठते बैठने में घुटने की हड्डियों में कड़कड़ की आवाज आती हो, घुटने की मांसपेशियों में सूजन आ जाए और और घुटने की मांसपेशियों में कसावट आ जाए, और घुटने की कमजोरी से अपने ही शरीर का वजन बोझिल लगने लगे।असली मुसीबत तो तब आती है जब घुटने का दर्द इतना बढ़ जाता है कि अचानक से बिस्तर से बॉथरूम तक जाने में भी समस्या आने लगती है। घुटने के दर्द के रोगी का उठना बैठना लेटना मुश्किल हो जाता है। कभी-कभी तो डॉक्टर ऑपरेशन के जरिए घुटने बदलने तक की सलाह दे देते हैं। जब ऐसी भयंकर स्थिति हो कि आप डॉक्टर के पास जाने के लिए मोहताज हो जाएं क्योंकि ना आप सीढ़ियां उतर सकते हैं ना चढ़ सकते हैं ना डॉक्टर की जाने के लिए हिम्मत जुटा सकते हैं । क्योंकि आपसे दो कदम भी चला नहीं जा रहा… ऐसी स्थिति के लिए हम आपको कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं जिन्हें अपना कर आप स्वयं अपने डॉक्टर साबित हो सकते हैं और आश्चर्य की बात तो यह है कि आप अपने घुटने के दर्द को पूरी तरह दूर करके सामान्य व्यक्ति की तरह उठ बैठ सकते हैं, चल सकते हैं और अपनी मांसपेशियों को मजबूत करके घरेलू उपाय अपनाकर अपने को पूरी तरह स्वस्थ रख सकते हैं।
घुटने के दर्द को दूर करने और घुटनों की मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए आपको यह बातें सुनने और पढ़ने में जरूर अजीब लग सकती हैं लेकिन सच यही है कि यह अपनाया हुआ उपाय और वह तरीका है जिससे घुटने के दर्द को दूर किया जा सकता है और आगे के लिए अपने घुटने को एकदम स्वस्थ बनाया जा सकता है। इसके लिए आपको तीन बातें जरूर करनी होगी। सबसे पहले घुटने के दर्द से राहत देने के लिए कुछ त्वरित उपाय, मसलन स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज…दूसरा संतुलित खानपान। तीसरा अगर वजन अधिक है तो वजन कम करने के उपाय।

kneepain simple remedies

घुटने का दर्द होने पर तुरंत राहत के लिए स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

अगर घुटने में तेज दर्द ( एक्यूट पेन) है घुटने में सूजन है ना बैठ सकते है ना उठ सकते है। घुटने की मांसपेशियों में सूजन और कसावट आ गई है तो सबसे पहले रोगी को पैरों की कुछ स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करनी चाहिए हम आपको बता रहे हैं कि घुटने के दर्द में कौन सी स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज की जाती है और कैसे की जाती है।
* पहली स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज सबसे पहले बिस्तर पर सीधा लेट जाएं या बैठ जाएं। एक मुलायम सा तौलिया लेकर उसे गोल रोल जैसा लपेट लें। और घुटनों को सपोर्ट देने के लिए उसे तोलिए को घुटनों के नीचे रख ले। अगर दर्द बहुत ही ज्यादा है तो इसमें किसी और की सहायता ले सकते हैं। और घुटनों से नीचे की तरफ प्रेस करें। ऐसा तीन-चार बार करें। इसके बाद सीधे बैठे हुए या सीधे लेटे हुए … अपने पैर के पंजों को बहुत हल्के हल्के बाहर की तरफ खिंचे,यानी स्ट्रेच करें। पहले एक पैर का पंजा धीरे-धीरे स्ट्रेच करें फिर दूसरे पैर का पंजा धीरे-धीरे 1,2,3 और रिलैक्स स्क्रेच करो। उसके बाद रिलैक्स करें। दोबारा फिर यही क्रम से दोहराएं। ऐसा दिन में बार-बार करते रहे। लेकिन पैर पर जरा सा भी जोर नही पड़ना चाहिए, स्ट्रेचिंग इतनी धीरे की जाए।

दूसरी एक्सरसाइज में तौलिए का वही रोल एड़ी के नीचे रखें, इसके बाद हल्के हल्के एड़ी से तौलिए को दबाए आप एहसास करेंगे की घुटने के नीचे की मांसपेशियां खींच रही हैं और वहां पर हल्का सा दबाव पड़ रहा है। पहले एक पैर की एड़ी से उसके बाद दूसरे पैर की एड़ी से भी तौलिए को ऐसे ही दबाए दबाए।

तीसरी एक्सरसाइज में तौलिए का वही रोल दोनो घुटने के बीच में रखें। फिर दोनों घुटनों से तौलिए को ऐसे दबाए जैसे हम नींबू निचोड़ रहे हैं। ऐसा दिन में कई बार करें। इससे घुटने के बाहर साइड वाली मांसपेशियों पर दबाव बनता है और उनकी सावत दूर होती है और वह मांसपेशियां मजबूत बनती हैं।
चौथी एक्सरसाइज में सीधा लेटे एक पैर के घुटने को धीरे से त्रिकोण जैसा बनाएं, यानी पैर मोड़कर को अपने नजदीक लाएं और दूसरे पैर को किसी की मदद से या अपने हाथ से घुटने के नीचे सपोर्ट देकर पर को दूसरे घुटने के ऊंचाई तक लाकर बिल्कुल सीधा घुटने की ऊंचाई तक ऊपर उठाएं।और फिर धीरे-धीरे उसको नीचे जमीन तक वापिस लाएं। ऐसा चार-पांच बार करें। इसके बाद दूसरे पैर से भी यही एक्सरसाइज दोहराएं।
पांचवी एक्सरसाइज में पलंग या जमीन पर सीधा बैठ जाए। दोनों पैर सीधे रखे। एक पैर थोड़ा अपनी तरफ लाते हुए त्रिकोण जैसा बना ले, और दूसरे पैर को बिल्कुल सीधे रखते हुए जमीन से सटाते हुए पैर को अपनी जांघ तक स्लाइडिंग करे। फिर अपने पैर की एड़ी को सटाते हुए पंजे को वापिस ले जाए। ऐसा कई बार करें। इसके बाद दूसरे पैर को मोड कर बैठे और बाएं पैर को सीधे बार-बार अपनी लाते हुए पैर स्लाइडिंग करे।जैसे हम सीधी लाइन पर अपनी एड़ी पंजों से वापस जांघ तक ला रहे हैं। इससे घुटने के नीचे मांसपेशियों में मजबूती आती है।
दिन में जितने भी बार संभव हो सकता है यह एक्सरसाइज बार-बार करें। इससे दर्द राहत मिलती है लेकिन याद रखें की एक्सरसाइज करते समय बिल्कुल भी झटका नहीं लगना चाहिए। यह एक्सरसाइज ऐसी होती हैं जैसे हम नन्हे बच्चे की एक्सरसाइज धीमे धीमे कर रहे हो।
ऐसा करने से मांसपेशियों की जकड़न खत्म होती है उनमें ढीलापन आता है मांसपेशियां मजबूत होती हैं और तीन से चार दिन में आप स्वयं देखेंगे कि आप चलने के काबिल हो रहे हैं।

kneepain simple remedies घुटनों पर ठंडी और गरम सिकाई

घुटनों पर सूजन और दर्द के दौरान राहत देने के लिए पोटली में बर्फ रखकर, या आइस क्रीम घर मंगाने पर जो ठंडे पैड उसके साथ में आते हैं उन्हें फ्रिज में ठंडा करके उनसे ठंडी सिकाई करें।
कुछ देर बाद घुटने पर गरम सिकाई करें। गरम सिकाई के लिए तौलिए को हल्के गर्म पानी में भिगोकर उसे निचोड़कर घुटने के चारों तरफ 5 मिनट तक लपेट लें। कई बार ऐसा करें ऐसी गरम सिकाई हो जाएगी।
सूखी मालिश घुटने के रक्त संचार (ब्लड सर्कुलेशन) के लिए
घुटने के दर्द में आप चल फिर सकते तो नहीं कम से कम अपने घुटने का ध्यान तो रख सकते हैं खाली बैठने या परेशान होने से कोई फायदा नहीं ।बार-बार स्ट्रेचिंग करेंगे और इसके साथ अपने हाथ की हथेली से घुटने के चारों तरफ हाथ घुमाते हुए सूखी मालिश करें। घुटने के चारों तरफ बार-बार गोल गोल हथेली से हल्का दबाते हुए मालिश करें। ऐसा दिन में 7-8 बार 10 बार जितना भी हो सके करें। आप देखेंगे की घुटनों की मांसपेशियों की कसावट ढीली पड़ती है और दर्द में रहता होता है।

kneepain simple remedies

दर्द निवारक दवा और क्रीम या स्प्रे

तुरंत लाभ के लिए डॉक्टर घुटने के दर्द में सुबह और शाम एक टैबलेट फ्लैक्जोन flaxzon MR एमआर का सुझाव देते हैं। इस बारे में डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए। इसके साथ आराम करने के समय घुटने के ऊपर चारों तरफ दर्द निवारक क्रीम ओमनी जेल आदि लगाने का सुझाव डॉक्टर देते हैं। इसके बाद घुटने के चारों तरफ बाजार से गर्म पट्टी आती है उसको हल्के से बांध लें ताकि घुटने को सपोर्ट मिले और बाथरूम आदि जाने में घुटने पर सीधे कोई जोर ना पड़े। जिस पैर में बहुत अधिक दर्द है और घुटना आपके शरीर का वजन नहीं संभाल रहा उसे पैर पर अपने शरीर का वजन ना डालें , बल्कि दीवार कुर्सी या किसी की सहायता लेकर ही बॉथरूम तक जाएं। क्योंकि दर्द के समय घुटने पर जोर पड़ने से घुटने की स्थिति अधिक खराब हो सकती है।

kneepain simple remedies

घुटने के दर्द में खानपान और ओमेगा 3 डाइट
* घुटने के रोगी को पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए।
* सब्जियों में पत्ता गोभी पालक, ब्रोकली,, टमाटर, मशरूम, हल्की सी सुपाच्य सब्जियां खानी चाहिए जो अधिक तेल में न बनी हो।
* अदरक की चाय, रात में हल्दी वाला दूध, खाने में लहसुन का प्रयोग अवश्य करना चाहिए। क्योंकि हल्दी अदरक और लहसुन एंटी इन्फ्लेमेटरी है यानी यह मांसपेशियों की सूजन कम करने का गुण रखते हैं।
*हर्बल ग्रीन टी दिन में दो बार पीनी चाहिए.।
* गैस बढ़ाने वाली या बड़ी वाली चीज नहीं खानी चाहिए जैसे उड़द की दाल राजमा या भारी तैलीय खानपान।
*सब्जी और ड्राई फ्रूट्स में ओमेगा 3 वाली डाइट लेनी चाहिए। जैसे कैप्सिकम, मशरूम सूखे मेवे आदि।
*सूखे मेवे में अखरोट और बादाम घुटने के के दर्द वाले रोगी के लिए स्वस्थ आहार है। हमें अपने घुटने के जोड़ में चिकनाहट के लिए अखरोट का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए।
*अंकुरित आहार का भी हफ्ते में दो या तीन बार इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।
* मैदा या मैदा से बनी चीजों के खानपान से बचना चाहिए।
* घुटने का दर्द कैल्शियम और विटामिन डी और विटामिन ए की भारी कमी से होता है। इसलिए हमें कैल्शियम विटामिन डी और विटामिन ए की पूर्ति वाले खान-पान अवश्य करनी चाहिए। जो लोग शाकाहारी है उन्हें कैल्शियम की पूर्ति के लिए पर्याप्त मात्रा में दूध पीना चाहिए। अगर जरूरत पड़े तो कैल्शियम विटामिन डी और विटामिन ए के सप्लीमेंट्र कुछ समय के लिए लिए जा सकते हैं । लेकिन कोशिश करें कि प्राकृतिक रूप से ही हमारे शरीर में कैल्शियम विटामिन डी और विटामिन ए जाए।
* विटामिन डी की कमी से हमारा शरीर अन्य विटामिन शरीर तक पहुंचने में नाकाम हो जाता है इसलिए हमें प्रतिदिन सूर्योदय के समय कम से कम 20 मिनट धूप का सेवन जरूर करना चाहिए. धूप हमारे शरीर को विटामिन डी की प्राकृतिक शक्ति देती है. इसलिए हम कोशिश करें की बंद कमरों में रहने के बजाय थोड़ा देर धूप में जरूर शरीर की सिकाई धूप से करें.


अपना वजन संतुलित रखें
अधिक वजन का बोझ घुटने सह नहीं पाते। क्योंकि व्यायाम के अभाव में मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं और घुटने में हड्डियों के बीच जो तरल बनता है वह तरल बनना भी लगभग बंद हो जाता है और घुटने आपस में घिसने लगते हैं जिसके कारण घुटने की मांसपेशियां में सूजन और अकड़न आ जाती है।
इसलिए हमें अपने वजन को अधिक नहीं बढ़ने देना चाहिए इसके लिए हमें संतुलित आहार खाना चाहिए वजन न बढ़े इसका ध्यान आप स्वयं रख सकते हैं। शाम के समय बहुत हल्का खाना खाए। ताकि खाना पच सके अधिक खाना बार-बार कुछ कुछ खाते रहना ,जंक फूड खाना, अधिक बैठे रहने से या शरीर को एक्टिव न रहने से मोटापे की समस्या घेर लेती है और शरीर का वजन इतना अधिक बढ़ जाता है कि हमारी घुटने अपने ही शरीर का वजन सहन में नाकाम हो जाते हैं। इससे पैरों में टेड़ापन पर घुटनों में दर्द की समस्या पैदा हो जाती है।

kneepain simple remedies

टिप्स ताकि वजन न बढ़े
* हमे आलसी नहीं बनना चाहिए, हर छोटे छोटे काम अपने आप करने चाहिए जैसे रसोई ऑफिस से पानी लेना दरवाजा बंद करना, बिजली की बत्ती स्विच ऑफ ,स्विच ऑन खुद करना, चादर बिछाना , धोए हुए कपड़े बालकनी में डालना, घर के अन्य छोटे छोटे तमाम काम अगर हम स्वयं करते हैं या फिर निरंतर अपनी आदत में हर रोज सुबह व्यायाम करने की आदत अपनाते हैं तो हमारा शरीर फिट रहता है और स्वस्थ रहता है शरीर पर फालतू चर्बी नहीं बढ़ती ,ना वजन बढ़ता है। इसके विपरीत जो महिलाएं और पुरुष हमेशा छोटे-छोटे काम के लिए भी दूसरे पर निर्भर करते हैं हमें पानी दे दो, बिजली की बत्ती बंद कर दो ,खाना रसोई से उठाकर ले आओ ,यह मेज कुर्सी इधर खिसक दो। फ्रिज से फ्रूट निकाल दो। अलमीरा से मेरे कपड़े निकाल दो। अलमारी से मेरी किताबें निकाल दो आदि आदि। जब यह हम छोटे-छोटे आदेश किसी और को देते हैं तो समझ लो हम आलसी बनकर अपने शरीर को मोटा थुल थुला और कमजोर बना रहे हैं। जिसका नतीजा बाद में हमारे घुटनों पर और हमारी मांसपेशियों की कमजोरी के साथ घुटने के दर्द के रूप में देखने को मिलता है।
सुंदर जीवन शैली स्वस्थ जीवन
यानी हम रोजमर्रा की अपनी आदतों से संतुलित खानपान व्यायाम और एक्टिव रहने जैसी सुंदर जीवन शैली अपना कर आजीवन स्वस्थ रह सकते हैं। अपने घुटने अपने शरीर को युवा बनाए रख सकते हैं। हमें युवा बनाने में हमारी सकारात्मक सोच और स्फूर्ति बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखती है। इसके विपरीत आलसी लोग उम्र के एक पड़ाव तक तमाम बीमारियों का अड्डा बन जाते हैं। यह छोटी-छोटी टिप्स अपना कर हम न सिर्फ अपने घुटनों को स्वस्थ रखेंगे बल्कि हम अपनी फिटनेस पर ध्यान देकर हमेशा युवा भी बने रहेंगे। तब लोग आपके बारे में यही कहेंगे देखो इस उम्र में भी दे रहे हैं युवाओं को मात।

kneepain simple remedies किसी को प्रेरणा अवश्य बनाएं

आपको कभी घुटने का दर्द सताए ही नहीं इसके लिए किसी भी सफल स्वस्थ और फिटनेस वाले व्यक्तित्व को अपनी प्रेरणा बनाएं। मसलन योग गुरु पतंजलि के बाबा रामदेव हम सबके लिए एक आदर्श उदाहरण हो सकते हैं… या फिर एक्टिव रहने वाले प्रधानमंत्री मोदी जी जैसे तमाम व्यक्तित्व जो अपनी उम्र के बारे में नहीं सोचते बल्कि हमेशा सकारात्मक सोच के साथ एक्टिव रहकर अपने जीवन को जीना जानते हैं. अपने आसपास के जीवन से अपने पेड़ पौधों से भी आप प्रेरणा ले सकते हैं. पेड़ पौधे एक्टिव रहते हैं धूप और पानी समय पर लेतेहैं संतुलित खाद के जरिए अच्छा पनपते हैं….. अच्छी प्रेरणा लेकर हम अपनी शरीर को स्वस्थ सुंदर और निरोग बनाएं।kneepain simple remedies

Eye Flu 2023 : दिल्ली एनसीआर में तेजी से बढ़ रही है (EYE FLU) आंखों के संक्रमण की बीमारी

Related Post