Saturday, 25 May 2024

प्यार है या अट्रैक्शन,बड़ा कन्फ्यूजन,क्यों आकर्षण को प्यार समझ लेते हैं लोग

प्यार या अट्रैक्शन में हैं कन्फ्यूजन, जाने इनके बीच का अंतर

प्यार है या अट्रैक्शन,बड़ा कन्फ्यूजन,क्यों आकर्षण को प्यार समझ लेते हैं लोग

Love vs Attraction – पहली नजर का प्यार जिसे आज की जनरेशन ‘लव एट फर्स्ट साइट’ या अट्रैक्शन (Attraction) के नाम से भी जानती है। लेकिन बहुत बार कुछ लोग इसमें काफी कन्फ्यूज हो जाते हैं, कि आखिर उन्हें प्यार हुआ है या फिर वह सिर्फ आकर्षण है। खासतौर पर आज की जनरेशन इस सवाल के चलते काफी परेशान रहती है। किसी को देखकर उन्हें अट्रैक्शन होता है और वह उसे प्यार समझने लगते हैं। तो आखिर प्यार और अट्रैक्शन में अंतर क्या है? आइए जानते हैं इसके बारे में।

अट्रैक्शन को समझना है थोड़ा मुश्किल

यह चीज तो आपके साथ भी हुई होगी कि आप कहीं बाहर या किसी पार्टी में गए और किसी को पहली नजर में देखते ही वो आपको अच्छा लगने लगे। अब आपको उससे बात करने की इच्छा होगी, और धीरे-धीरे आपको उसकी आदत लगने लग जाएगी। जिसे कई लोग प्यार समझने लगते हैं। लेकिन समाने वाला आपको लेकर इस तरह का कुछ भी फील नहीं कर रहा होता। आप उससे बात करने को इच्छुक हैं, तो वह भी आपसे मिल रहा है और बात कर रहा है। लेकिन यह सब केवल कुछ दिनों तक ही चलता है। वहीं जब वह व्यक्ति आपको टाइम देना बंद कर देता है, तब आपको बुरा लगने लग जाता है। ऐसे में आपको समय रहते ही इस बात को समझ लेना चाहिए कि सामने वाला आपको लेकर वह सब फील नहीं करता जो आप कर रहे हैं। और आपको सिर्फ उसको लेकर अट्रैक्शन हुई है न कि प्यार। कई बार यह दोनों तरफ से भी होता है, जिसमें दोनों को पहले तो सब कुछ अच्छा लग रहा होता है। लेकिन समय के साथ -साथ दोनों में झगड़ा होना शुरु हो जाता है और वह एक दूसरें से बोर होने लगते हैं।

Love vs Attraction

यह होते हैं अट्रैक्शन के लक्षण

प्यार के मुकाबले अट्रैक्शन काफी जल्दी से होता है। जैसे आप उसके लुक्स के चलते उसे पसंद करने लगे या फिर आप दोनों में कई तरह की समानता है इस वजह से आपको वह व्यक्ति पसंद आ रहा है। इस तरह शुरु होने वाले रिश्तों में खुशियां काफी जल्दी आती है और उतनी ही जल्दी चली भी जाती है, इसके बाद सिर्फ दुख ही बचता है। कई बार लोग इसे समझ नहीं पाते और इस तरह की फीलिंग्स को प्यार समझ कर खुद को धोखे में रखते हैं।

ऐसा होता है प्यार

प्यार कई तरह का होता है। जब कोई बच्चा छोटा होता है तो उसका पहला प्यार उसके माता-पिता होते हैं। फिर उसकी लाइफ में दोस्त आते हैं, जिसके साथ वह अपनी अगले की लाइफ गुजारता है। यह प्यार बिना किसी स्वार्थ के होता है। इसके बाद होता है लाइफ पर्टनर वाला प्यार। जिसके साथ आप अपनी पूरी लाइफ बिताने का सपना देखते हैं। प्यार में व्यक्ति सामने वाले की बुराइयों के साथ उसे अपनाता हैं। ऐसा केवल एक तरफ से नहीं बल्कि दोनों तरफ से होता है।

Love vs Attraction प्यार और अट्रैक्शन में होता है ये अंतर

बात जब प्यार और अट्रैक्शन में फर्क की आती है तो इसमें बहुत अंतर होता है। जहां अट्रैक्शन समय के साथ कम होती चली जाती है, वहीं प्यार समय के साथ-साथ बढ़ता जाता है। अट्रैक्शन में पहले आपको उसकी सारी बातें अच्छी लगती है, लेकिन बाद में आपको उसकी बातें या काम से परेशानियां होनी शुरू हो जाती है। पर जब दो लोग प्यार करते हैं तो वह एक दूसरें की गलतियों के बारे में बताते हैं और उसे ठीक करने की कोशिश भी करते हैं।

बुद्धिमान व्यक्ति को हमेशा गुप्त रखनी चाहिए ये बातें

ग्रेटर नोएडा नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post