Tuesday, 25 June 2024

गुर्जर समाज से इस साल बने कितने सांसद, दो मोदी कैबिनेट में भी शामिल

Gujjar MP : लोकसभा 2024 के नतीजे आने के बाद मोदी की सरकार एक बार फिर सत्ता में बैठ गई…

गुर्जर समाज से इस साल बने कितने सांसद, दो मोदी कैबिनेट में भी शामिल

Gujjar MP : लोकसभा 2024 के नतीजे आने के बाद मोदी की सरकार एक बार फिर सत्ता में बैठ गई है। इसमें गइ जातियों और धर्म से जुड़े सासंद आए। वहीं जिनकी सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। वो गुर्जर समाज से है। बीजेपी के कैबिनेट में गुर्जर समाज के दो सासंद को जगह मिली है। गुर्जर समाज के दो सासंदों को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल करने के बाद पूरे गुर्जर समाज में खुशी की लहर है।

Gujjar MP

आपको बता दें कि इस साल के लोकसभा चुनाव में 7 गुर्जर समाज के सांसद चुने गए है, जो अलग- अलग पार्टियों से ताल्लुक रखते हैं। वहीं भाजपा में गुर्जर समाज के दो सांसद है, जिन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल राज्य मंत्री बनाया गया है।

बीजेपी के दो सांसद कैबिनेट

बता दें भाजपा में कृष्णपाल गुर्जर ने चुनाव जीतकर अपना दबदबा कयाम रखा है। बीजेपी के कृष्णपाल गुर्जर फरीदाबाद से लोकसभा सांसद चुने गए है। बीजेपी की तरफ से पुराने खिलाड़ी कृष्णपाल गुर्जर थे तो वहीं पांच बार विधानसभा चुनाव जीत चुके दिग्गज नेता महेंद्र प्रताप कांग्रेस की तरफ से थे, लेकिन बाजी कृष्णपाल गुर्जर ने मारी। बीजेपी के कृष्णपाल गुर्जर को कुल 7 लाख 88 हजार 969 वोट मिले और उन्होंने कांग्रेस के महेंद्र प्रताप को 1 लाख 72 हजार 914 वोटों से हराया था। कृष्णपाल  मोदी सरकार ने तीसरी बार मंत्री बनाया है।  इससे पहले भी वह साल 2014 और 2019 में राज्यमंत्री रह चुके हैं।

चौधरी रामवीर बिधूड़ी (गुर्जर सांसद) 

इस लिस्ट में रामवीर बिधूड़ी का नाम भी है, वह भी गुर्जर समाज से आते है। रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कुल 1 लाख 24 हजार 333 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है। उन्होंने दक्षिणी दिल्ली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा। पिछले तीन दशक में यह सीट भारतीय जनता पार्टी का गढ़ बनकर उभरी है।

कंवर सिंह तंवर (गुर्जर सांसद)

उत्तर प्रदेश की अमरोहा लोकसभा सीट से कंवर सिंह तंवर ने 4 लाख 76 हजार 506 वोटों से जीत दर्ज की है। कंवर सिंह तंवर भी गुर्जर समाज से ताल्लुक रखते है।

चंदन चौहान (गुर्जर सांसद)

बिजनौर लोकसभा सीट से राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) ने  चंदन चौहान को खड़ा किया। जिन्होंने 4 लाख 4 हजार 493 वोट से सपा के उम्मीदवार दीपक सैनी को मात दी थी।दीपक सैनी के 3 लाख 66 हजार वोट आए थे। कहा जा रहा है कि चंदन चौहान को गुर्जर होने के कारण बड़ी जीत मिली है। क्योंकि बिजनौर, मुजफ्फरनगर में जाट और गुर्जर समुदाय का बाहुल्य है। इसी कारण जयंत चौधरी ने चंदन चौहान को टिकट देकर जाट-गुर्जर कार्ड खेलने की कोशिश की थी।

रक्षा खडसे (गुर्जर सांसद)

महाराष्ट्र की रावेर लोकसभ सीट से जीती रक्षा खडसे (37) मोदी 3.0 में मंत्री बनी हैं। रक्षा खडसे महाराष्ट्र बीजेपी के कद्दावर नेता रहे एकनाथ खडसे की बहू हैं। रक्षा खडसे गुर्जर समाज से आती है। इनकी जीत के बाद पूरे गुर्जर समाज में खुशी के लहर है।

अल्ताफ अहमद  (गुर्जर सांसद)

जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग राजौरी लोकसभा सीट मियां अल्ताफ अहमद ने चुनाव जीत कर सबको चौंका दिया था। नेशनल कॉन्फ्रेंस उम्मीदवार मियां अल्ताफ को 5 लाख 21 हजार 836 वोट से चुनाव जीते है। उन्होंने अनंतनाग-राजौरी सीट से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी जम्मू-कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की महबूबा मुफ्ती को दो लाख से अधिक वोटों से करारी शिकस्त दी। ऐसा कहा जा रहा हैअल्ताफ अहमद को जीत मिलना गुर्जर समाज से जुड़े होने का फायदा मिला है। क्योंकि वह गुज्जर-बक्करवाल समुदाय का पीर माने जाते है।  Gujjar MP

नोएडा में तेज हुआ वसूली अभियान, मच गया हड़कंप

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें

Related Post