Saturday, 18 May 2024

गज़ब…. एडमिट कार्ड जारी करने के बाद परीक्षा कराना ही भूल गई यूनिवर्सिटी

MP News : अकसर आपने किसी स्टूडेंट को अपनी परीक्षा की तारीख भूलते हुए सुना-देखा होगा। लेकिन हाल ही में एक…

गज़ब…. एडमिट कार्ड जारी करने के बाद परीक्षा कराना ही भूल गई यूनिवर्सिटी

MP News : अकसर आपने किसी स्टूडेंट को अपनी परीक्षा की तारीख भूलते हुए सुना-देखा होगा। लेकिन हाल ही में एक यूनिवर्सिटी के ही परीक्षा की तारीख भूलने का मामला सामने आया है। ये हैरान कर देने वाला मध्य प्रदेश से सामने आया है। जहां परीक्षा के नाम पर यूनिवर्सिटी ने एग्जाम शेड्यूल जारी किया था। परीक्षा के लिए छात्रों के एडमिट कार्ड भी जारी किए लेकिन जब छात्र परीक्षा देने पहुंचे तो उन्हें पता चला कि यूनिवर्सिटी एग्जाम कराना ही भूल गई। न तो एग्जाम की तैयारी थी और न ही क्वेश्चन पेपर तैयार था।

MP News

ये अजब कारनामा मध्य प्रदेश के जबलपुर की एक यूनिवर्सिटी का है। जिसके लिए ये यूनिवर्सिटी सालों-साल चर्चा में रहेगी। ये अजीब घटना जबलपुर यूनिवर्सिटी की है। यहां का रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय कंप्यूटर साइंस की परीक्षा ही आयोजित करना भूल गया। मजे की बात ये है कि यूनिवर्सिटी ने एग्जाम शेड्यूल रिलीज किया जिसमें परीक्षा की तारीख के विषय में जानकारी दी थी लेकिन परीक्षा नहीं ली गई है।

परीक्षा की नहीं थी कोई तैयारी

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की ये परीक्षा एमएससी कंप्यूटर साइंस विषय की थी। इस बारे में छात्रों ने जमकर नाराजगी प्रकट की। छात्रों का कहना था कि ये उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ है। वे पूरे मन से परीक्षा की तैयारी करके एग्जाम देने आए थे और यहां परीक्षा की कोई व्यवस्था ही नहीं थी। जिसको लेकर छात्रों ने विरोध प्रदर्शन भी किया। छात्रों का हना है कि एग्जाम की डेटशीट रिलीज करने के साथ ही परीक्षा से कुछ दिन पहले यूनिवर्सिटी ने एडमिट कार्ड भी रिलीज कर दिए थे। सभी छात्रों ने अपने एडमिट कार्ड कलेक्ट किए और तय तारीख यानी 5 मार्च को जब वे पेपर देने पहुंचे तो एग्जाम की कोई व्यवस्था ही नहीं थी। यूनिवर्सिटी छात्रों का पेपर आयोजित करना ही भूल गई थी।

छात्रों ने जताया विरोध

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की इस लापरवाही को लेकर NSUI के कार्यकर्ता यूनिवर्सिटी के कुलपति से मिलने पहुंचे। जहां एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने आंखों पर काली पट्टी बांधकर यूनिवर्सिटी की लापरवाही का विरोध किया और नारे-बाजी की। एनएसयूआई संगठन के नेता सचिन रजन के कहा कि यह यूनिवर्सिटी प्रशासन की लापरवाही का एक गंभीर मामला है। वे परीक्षा आयोजित करने के लिए जरूरी डेटशीट और अन्य जरूरी व्यवस्थाओं को कैसे भूल सकते हैं। छात्रों ने परीक्षा के लिए कड़ी मेहनत की है, यह किसी छोटे स्कूल या कॉलेज का नहीं बल्कि एक प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय का मामला है।

वीसी ने दिए जांच के आदेश

यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर आरके वर्मा ने विभागाध्यक्षों के साथ बैठक की और छात्रों से भी मिले। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच होगी। उनका ये भी कहना था कि कंट्रोलर ऑफ एग्जाम ने परीक्षा पोस्टपोन करने की बात कही लेकिन इस बारे में कॉलेज और छात्रों को सूचित कैसे नहीं किया गया, ये जांच का मुद्दा है। वाइस चांसलर आरके वर्मा ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं, जांच के बाद जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

फेसबुक-इंस्टाग्राम हुआ डाउन तो एलन मस्क ने लिए मजे, जानें क्या कहा?

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post