Monday, 24 June 2024

बड़ी भूल के बाद पश्चाताप के लिए भाजपा नेता ने किया उपवास

Sambit Patra Remark : अपने बयानों के लिए चर्चित बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा और उड़ीसा के पुरी से लोकसभा…

बड़ी भूल के बाद पश्चाताप के लिए भाजपा नेता ने किया उपवास

Sambit Patra Remark : अपने बयानों के लिए चर्चित बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा और उड़ीसा के पुरी से लोकसभा प्रत्याशी संबित पात्रा अपने बयान को लेकर चर्चा का केंद्र बन गए हैं । भगवान जगन्नाथ को लेकर दिए गए एक बयान के बाद संबित पात्रा ने राजनीतिक गलियारों में तूफान उठा दिया है।

क्या कहा था संबित पात्रा ने

उड़ीसा के पुरी में प्रधानमंत्री मोदी के रोड शो के बाद संबित पात्रा ने भगवान जगन्नाथ को प्रधानमंत्री मोदी का भक्त बता दिया था। उनके बयान के मीडिया में आने के बाद चारों तरफ उनकी निंदा होने लगी। उड़ीसा ही नहीं पूरे देश और दुनिया में भगवान जगन्नाथ के लाखों करोड़ों भक्त हैं और पुरी जगन्नाथ को वह अपनी आस्था का केंद्र मानते हैं।

संबित पात्रा को सुनाई खरी खोटी

संबित पात्रा के इस बयान (Sambit Patra Remark)  के बाद उन्हें हर तरफ से कड़ी फटकार सुननी पड़ रही है । खासतौर पर उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इसे भगवान जगन्नाथ और उड़ीसा का अपमान बताया है ।

संबित पात्रा ने मांगी माफी, माना जबान फिसलने से हुई गलती

संबित पात्रा ने अपनी भूल को स्वीकार कर लिया है और उनका कहना है कि बेतहाशा गर्मी में जबान फिसलने के कारण वह ऐसी बात कह गए और वह भगवान से क्षमा मांगने के लिए इस गलती का पश्चाताप करेंगे। इसके लिए वह उपवास रखेंगे संबित पात्रा ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रोड शो के बाद उन्होंने कई मीडिया चैनलो को इंटरव्यू दिया था जिसमें उन्होंने यही कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी महाप्रभु जगन्नाथ के अनन्य भक्त हैं। उस दिन काफी गर्मी थी,भीड़ थी और वे भी काफी परेशान भी थे, एक टीवी चैनल को इंटरव्यू देते हुए गलती से उनके मुंह से यह वाक्य निकल गया की प्रभु जगन्नाथ मोदी के भक्त हैं। संबित पात्रा ने अपने एक्स हैंडल पर भी इसके लिए क्षमा मांगी है और कहा है कि मैं महाप्रभु जगन्नाथ से क्षमा मांगता हूं। जबान फिसलने की वजह से इस तरह की बात मेरे मुंह से निकली और अब मैं इसका पश्चाताप करने के लिए उपवास भी रख रहा हूं।

उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बताया भगवान का अपमान

इससे पहले उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने संबित पात्रा के बयान पर कहा कि उन्होंने महाप्रभु के प्रति आस्था को चोट पहुंचाई है । साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी को राजनीति में भगवान को लाने की कोई जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक्स हैंडल पर लिखा है कि महाप्रभु श्री जगन्नाथ पूरे ब्रह्मांड के देवता हैं। महाप्रभु को किसी मनुष्य का भक्त बताना यह उनका घोर अपमान है । इससे महाप्रभु के लाखों करोड़ों श्रद्धालुओं का अपमान हुआ है, और उड़ीसा का भी अपमान हुआ है।

राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल ने भी की निंदा

इस बयान के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी बीजेपी की आलोचना करते हुए कहा कि बीजेपी का यह अहंकार बेहद खतरनाक है । आत्म मुग्धता का यह स्तर बताता है कि BJP और इसके नेता कितने अहंकारी हैं । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी संबित पात्रा के इस बयान के लिए उनकी आलोचना की और कहा कि पात्रा का बयान अहंकार की पराकाष्ठा है। उन्होंने इस बयान को भगवान का अपमान बताया।

पात्रा की माफी के बावजूद विपक्षी दल अड़े 

ओडिशा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (ओपीसीसी) ने एक औपचारिक शिकायत दर्ज की है, जिसमें आरोप लगाया गया कि संबित पात्रा का बयान धार्मिक भावनाओं का अपमान करने का जानबूझकर किया गया प्रयास था। उन्होंने उन पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया और सख्त कार्रवाई की मांग की। यह विवाद तब सामने आया है जब ओडिशा चुनाव के महत्वपूर्ण चरण में पहुंच गया है।

पीएम मोदी ने रोड शो से पहले लिया भगवान जगन्नाथ का आशीर्वाद,खजाने की चाबी पर उठाए सवाल

Related Post