Saturday, 18 May 2024

किसानों के लिए बड़ी खबर: मधुमक्खी पालन के लिए सरकार दे रही 90% तक सब्सिडी

Sarkari Yojana: भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में मधुमक्खी पालन अब भी एक लोकप्रिय व्यवसाय बना हुआ है। बड़ी संख्या में…

किसानों के लिए बड़ी खबर: मधुमक्खी पालन के लिए सरकार दे रही 90% तक सब्सिडी

Sarkari Yojana: भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में मधुमक्खी पालन अब भी एक लोकप्रिय व्यवसाय बना हुआ है। बड़ी संख्या में किसान इस व्यवसाय से जुड़कर अपना जीवनयापन कर रहे हैं। इधर सरकार भी किसानों को मधुमक्खी पालन के लिए लगातार प्रोत्साहित करती रही है। इसी कड़ी में बिहार सरकार एक नई योजना लेकर आई है। जिससे किसान कम लागत में अच्छी कमाई कर सकेंगे। मधुमक्खी पालन को लेकर बिहार सरकार इच्छुक किसानों को 90 प्रतिशत तक की सब्सिडी दे रही है।

Sarkari Yojana

झारखंड में भी मधुमक्खी पालन को लेकर कई फैसले लिए गए हैं। इसी कड़ी में मीठी क्रांति योजना भी लॉन्च की गई। इस योजना के तहत मधुमक्खी पालन की इकाई की स्थापना के लिए 80% तक अनुदान दिया जाता है। प्रत्येक किसान को कुल इकाई (1 लाख रुपये) लागत का 80 प्रतिशत यानी 80 हजार तक दिया जाता है।

75 से 90 प्रतिशत तक मिलेगी सब्सिडी

बिहार सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक शहद के लिए कॉलोनी सहित मधुमक्खी बॉक्स, मधु निष्कासन यंत्र और प्रसंस्करण के लिए सामान्य वर्ग के किसानों को 75% तक अनुदान और एससी-एसटी वर्ग के किसानों को 90% तक सब्सिडी दी जाएगी।

4 हजार का बॉक्स 400 में मिलेगा

राज्य सरकार की इस योजना के तहत सामान्य जाति को 1,000 रुपये और एससी-एसटी को 400 रुपये प्रति बॉक्स के हिसाब से दिए जाएंगे। सरकारी लागत के हिसाब से प्रति बॉक्स 4 हजार रुपये है। इसमें सामान्य जाति के लिए 75% सब्सिडी और एससी-एसटी के लिए 90 फीसदी तक अनुदान है। मधुमक्खी पालकों को बक्से के साथ मधुमक्खी छत्ता भी दिए जाएंगे। छत्ते में रानी, ड्रोन और वर्कर्स के साथ 8 फ्रेम होंगे। सभी फ्रेम्स की भीतरी दीवार मधुमक्खियों और बुड्स से पूरी तरह से ढंकी होगी। इसमें इस बार जमीन की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है।

15 दिसंबर से शुरू आवेदन प्रकिया

मधुमक्खी पालन पर सब्सिडी पाने के इच्छुक किसान उद्यान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट http://horticulture.bihar.gov.in पर जाकर सब्सिडी हासिल कर सकते हैं। मधुमक्खी पालन के लिए इच्छुक किसान 15 दिसंबर से आवेदन कर सकते है।

नाबार्ड भी मधुमक्खी पालन के लिए देती है सब्सिडी

किसानों को मधुमक्खी पालन के दौरान हर संभव मदद करने के लिए राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड (एनबीबी) ने नाबार्ड के साथ टाई अप कर रखा है। दोनों ने मिलकर भारत में मधुमक्खी पालन बिजनेस के लिए फाइनेंसिंग स्कीम भी शुरू की है। इससे इस क्षेत्र में रूचि रखने वाले किसानों को बेहद लाभ होता है। इसके अलावा केंद्र सरकार भी मधुमक्खी पालन पर 80 से 85% तक सब्सिडी देती है।

खंजर से पूछते हो कि क़ातिल किधर गये ? संसद की घटना पर पूर्व सांसद की बेबाक़ टिप्पणी

देश विदेशकी खबरों से अपडेट रहने लिए चेतना मंचके साथ जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post