Saturday, 25 May 2024

रवि काना से ज्याद चर्चाओं में उसकी प्रेमिका काजल झा, जाने उसकी पूरी हिस्ट्री

Noida News : नोएडा पुलिस दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में सक्रिय स्क्रैप माफिया और गैंगस्टर रवि काना और उसके गिरोह पर लगातार…

रवि काना से ज्याद चर्चाओं में उसकी प्रेमिका काजल झा, जाने उसकी पूरी हिस्ट्री

Noida News : नोएडा पुलिस दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में सक्रिय स्क्रैप माफिया और गैंगस्टर रवि काना और उसके गिरोह पर लगातार कार्रवाई कर रही है। नोएडा पुलिस अब तक रवि काना की 200 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्तियों को सील कर चुकी है। रवि काना के खिलाफ नोएडा पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई लगातार सुर्खियों में बनी हुई है, लेकिन पिछले दो-तीन दिन से रवि काना से ज्यादा चर्चा उसकी गर्लफ्रेंड काजल झा की हो रही है।

Noida News

दरअसल नोएडा पुलिस ने अपनी कार्रवाई के दौरान रवि काना की ओर से गिफ्ट में मिले काजल झा के 80 करोड़ रुपये के बंगले को भी सील कर दिया है। काज झा का यह बंगला साउथ दिल्ली की न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में स्थित है। ऐसे में अब हर कोई यह जानना चाह रहा है कि आखिर कौन है काजल झा? कैसे वह रवि काना की इतनी खास बनी?

कौन हैं काजल झा?

पुलिस जांच के मुताबिक रवि काना की प्रेमिका काजल झा कुछ साल पहले नौकरी तलाश रही थी। जॉब की तलाश में ही वह गैंगस्टर रवि काना के संपर्क में आई। रवि से मिलने के कुछ दिन बाद ही काजल झा उसके गिरोह में शामिल हो गई और गैंग की सबसे अहम सदस्य बन गई। रवि काना के काले चिट्ठे खुलने के बाद से ही उसकी प्रेमिका भी लगातार सुर्खियों में बनी हुई है। फिलहाल पुलिस गैंगस्टर रवि काना और उसकी प्रेमिका काजल झा की तलाश में जुटी हुई है।

किसके पास है रवि काना के अवैध कारोबर का हिसाब?

स्क्रैप माफिया रवि काना के लिए काजल झा कितनी खास है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रवि काना ने उसे दिल्ली की न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में 80 करोड़ का तीन मंजिला बंगला गिफ्ट में दिया था। रवि काना के सारे कारोबार का हिसाब भी काजल झा के पास था। काजल झा ही रवि काना की सभी बेनामी संपत्तियों का हिसाब-किताब रखती थी। इसके अलावा उसके स्क्रैप से जुड़े काम को भी काजल ही देखती थी। धीरे-धीरे वह जुर्म की दुनिया में भी घुसती गई। उसे दिल्ली-एनसीआर का लेडी डॉन भी कहा जाता है। अब थाना बीटा 2 और इकोटेक 1 पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दिल्ली स्थित न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी की कोठी पर रेड मारी और उसे सीज कर दिया। इसी के साथ रवि की फैक्ट्री और गोदाम सहित स्क्रैप से भरे कई वाहनों को सीज किया जा चुका है।

16 सदस्यों का गिरोह चलाता है रवि काना

पुलिस के अनुसार स्क्रैप माफिया रवींद्र नागर उर्फ रवि काना 16 सदस्यीय गिरोह चलाता है। यह गिरोह सरिया और स्क्रैप की अवैध खरीद और बिक्री में शामिल है। इसके अलावा वह दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में कारोबारियों से जबरन वसूली भी करता है। रवि काना ग्रेटर नोएडा के एक अन्य गैंगस्टर हरेंद्र प्रधान का भाई है। जिसे 2014 में एक प्रतिद्वंद्वी गिरोह ने मार डाला था। उसकी मौत के बाद रवि काना ने गैंग की बागडोर संभाली। नोएडा पुलिस ने रवि की पत्नी समेत 16 गुर्गों के खिलाफ गैंगस्टर का केस दर्ज किया था। अब उसकी करीब 200 करोड़ से अधिक की संपति सीज कर दी गई है। आपको बता दे कि रवि काना को जान से मारने की धमकी मिलने के बाद में पुलिस ने उसे सुरक्षा भी मुहैया कराई थी।

Noida News रवि काना के खिलाफ 11 केस दर्ज

मीडिया रिपोर्ट में ग्रेटर नोएडा के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी साद मिया खान के हवाले से बताया गया कि गैंगस्टर और उसके सहयोगियों के खिलाफ अपहरण और चोरी के आरोप सहित अब तक 11 मामले दर्ज किए गए हैं। गिरोह के छह सदस्यों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। ग्रेटर नोएडा और नोएडा में गिरोह की तरफ से इस्तेमाल किए जाने वाले कई स्क्रैप गोदामों पर छापा मारा गया। इसके बाद उन्हें सील कर दिया गया। गैंगस्टर फिलहाल अपनी प्रेमिका और गिरोह के अन्य सदस्यों के साथ फरार है।

रवि काना और कानून का शिकंजा: 70 करोड़ की 5 दुकान और प्लाट पर पुलिस का कब्जा

ग्रेटर नोएडा– नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post