Friday, 21 June 2024

अब साइबर अपराधी की खैर नहीं, भारत सरकार ने कर ली बड़ी तैयारी

Cyber Crime : टेक्नोलॉजी के इस दौर में ऑनलाइन फ्रॉड (online fraud) तेजी से बढ़ रहा है। साइबर अपराधी (Cyber…

अब साइबर अपराधी की खैर नहीं, भारत सरकार ने कर ली बड़ी तैयारी

Cyber Crime : टेक्नोलॉजी के इस दौर में ऑनलाइन फ्रॉड (online fraud) तेजी से बढ़ रहा है। साइबर अपराधी (Cyber Criminals) कई अनोखे तरीके अपनाकर चंद मिनटों में आपको झांसे में ले सकते हैं। साइबर अपराधी ज्यादातर उन लोगों को अपना शिकार बनाते हैं जो कम पढ़े-लिखे होते हैं। ऐसे में लगातार बढ़ रहे online fraud को देखते हुए भारत सरकार (Indian Government) ने साइबर अपराधियों को सबक सिखाने की बड़ी तैयारी कर ली है।

Cyber Crime 

भारत में तेजी से बढ़ रहे online fraud ने हर किसी को परेशान कर रखा है। अधिकतर लोग साइबर अपराधी के सिकंजे में आसानी से फंस जाते हैं जिसके बाद अपराधी सीधे लोगों को धमकाकर उनसे पैसे हड़पने लगते हैं। ऐसे में लगातार बढ़ रहे ऑनलाइन फ्रॉड को देखते हुए भारत सरकार ने अपराधियों को सबक सिखाने की प्लानिंग कर ली है। दरअसल गृह मंत्रालय ने SBI कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज और टेलीकॉम ऑपरेटर्स के साथ मिलकर फुलप्रूफ प्लान बनाने का फैसला लिया है। इन सभी स्टेकहोल्डर्स ओटीटी स्कैम (OTP Scam) की मदद से बैंकिंग सेक्टर पर होने वाले साइबर अटैक (Cyber Attack) पर लगाम लगाएं जाएंगे।

लोकेशन के आधार पर होगी Scam की पहचान

जानकारी के मुताबिक फिलहाल अपराधियों को सबक सिखाने के लिए तैयार किए गए सॉल्यूशन की टेस्टिंग की जा रही है। यह सॉल्यूशन बैंकिंग सिस्टम (Banking System) में ग्राहकों के रजिस्टर्ड अड्रेस के लोकेशन और OTP डिलीवर होने के लोकेशन के आधार पर Scam की पहचान करेगा। रिपोर्ट की मानें तो भारत में पिछले वित्त वर्ष 2023 में 302.5 बिलियन यानी 30 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के बैंक फ्रॉड (Bank Fraud) रिकॉर्ड किए गए हैं। हालांकि यह वित्त वर्ष 2021 के 1.3 ट्रिलियन रुपये के मुकाबले बेहद कम है। अगर बात करें पिछले एक दशक की तो 1 जून 2014 से लेकर 31 मार्च 2023 तक भारतीय बैंकों में 65,017 फ्रॉड के मामले सामने आ चुके हैं। Cyber Criminals UPI स्कैम, क्रेडिट कार्ड स्कैम, OTP स्कैम, नौकरी के नाम पर स्कैम, डिलीवरी स्कैम आदि के जरिए लोगों को चूना लगाकर बड़े ही आसानी से उन्हें बेवकूफ बना रहे हैं।

Cyber Fraud को रोकने की तैयारी

भारत सरकार द्वारा OTP Scam पर लगाम लगाने के लिए जिस सॉल्यूशन पर काम किया जा रहा है वो बैंक अकाउंट होल्डर्स (Bank Account Holders) के रियल टाइम लोकेशन के आधार पर फिशिंग के लिए अलर्ट जारी करेगा। जिसके कारण रिमोट लोकेशन से किए जाने वाले फ्रॉड की पहचान की आसानी से की जा सकेगी। इस सॉल्यूशन के लिए SBI Card और टेलीकॉम कंपनियों के साथ साझेदारी की गई है। खाता धारकों के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के रियल टाइम लोकेशन को इस सॉल्यूशन द्वारा डिटेक्ट कर लिया जाएगा। जैसे ही Cyber Criminal ग्राहकों के डिवाइस की लोकेशन और OTP चुराने की कोशिश करेंगे या उनमें कोई अंतर दिखेगा। वैसे ही ग्राहकों को तुरंत फिशिंग अलर्ट (Phishing Alert) मिल जाएगा, जिसके चलते भारत में तेजी से होने वाले साइबर फ्रॉड को रोका जा सकेगा।

Criminals चाहकर भी नहीं कर सकेंगे फ्रॉड

भारत सरकार (Indian Government) द्वारा तैयार किया जा रहा यह सॉल्यूशन न सिर्फ ग्राहकों को Phishing का अलर्ट भेजेगा, बल्कि पहले भेजे हुए ओटीपी को ब्लॉक करने का भी काम करेगा। जिससे अगर साइबर अपराधियों के हाथ पेमेंट करने के लिए OTP लग भी जाती है तो भी वो Fraud नहीं कर पाएंगे। Cyber Crime

सावधान : साइबर अपराधियों के झांसे में आने से बचें, वरना हाथ मलते रह जाएंगे

ग्रेटर नोएडा– नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post