Friday, 23 February 2024

पेटीएम पर बड़ी खबर : पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा ने आरबीआई अधिकारियों से मुलाकात की

नियामक संबंधी चिंताओं को दूर करने के लिए पेटीएम के सह-संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने आरबीआई अधिकारियों से मुलाकात की

पेटीएम पर बड़ी खबर : पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा ने आरबीआई अधिकारियों से मुलाकात की

Paytm Big Update: पेटीएम को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है । सूत्रों के अनुसार नियामक संबंधी चिंताओं को दूर करने के रोडमैप पर चर्चा करने के लिए पेटीएम के सह-संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने सोमवार को आरबीआई अधिकारियों से मुलाकात की ।

 जानकारी के मुताबिक  कंपनी को लेकर चल रही रेगुलेटरी चिंताओं को दूर करने के लिए रोडमैप तैयार करने पर चर्चा हुई है।

Paytm Big Update

पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा ने आरबीआई अधिकारियों से मुलाकात की

सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि कंपनी के खिलाफ ED ने FEMA के नियमों के तहत जांच शुरू कर दी है। अब रॉयटर्स के सूत्रों के हवाले से खबर है कि केंद्रीय रिजर्व बैंक RBI के अधिकारियों ने कंपनी के संस्थापक विजय शेखर शर्मा से मुलाकात की है।  जानकारी है कि उनसे मिलकर कंपनी को लेकर चल रही रेगुलेटरी चिंताओं को दूर करने के लिए रोडमैप तैयार करने पर चर्चा हुई है। इसे लेकर एक बैठक हुई है, जिसमें कंपनी के अधिकारी भी शामिल रहे।  कंपनी पर फॉरेक्स वॉयलेशन को लेकर जांच चल रही है। हालांकि, पेटीएम ने फेमा उल्लंघन की खबरों से इंकार  किया है।Paytm Big Update

इसके पहले खबर आई थी कि आर्थिक अपराधों की जांच करने वाली एजेंसी ED ने One 97 Communications के खिलाफ जांच शुरू की है कि पेटीएम के ब्रांड के तहत चलने वाली कंपनियां क्या फॉरेन एक्सचेंज नियमों के उल्लंघन में शामिल थीं या नहीं।

बता दें कि पिछले हफ्ते भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (Paytm Payments Bank Limited) को किसी भी ग्राहक खाते, प्रीपेड साधन, वॉलेट एवं फास्टैग आदि में 29 फरवरी, 2024 के बाद जमा या टॉप-अप स्वीकार करने से रोक दिया था।  पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) के खिलाफ RBI ने यह कदम व्यापक प्रणाली ऑडिट रिपोर्ट और बाहरी ऑडिटरों की अनुपालन सत्यापन रिपोर्ट के बाद उठाया था.

पहले भी लगा है प्रतिबंध

आपको बता दें कि आरबीआई ने पेटीएम पर 20 जून, 2018 से कोई भी नया खाता और वॉलेट खोलने पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, दिसंबर, 2018 में प्रतिबंध हटा लिया गया था। इसके बाद भी कंपनी में अनियमितताओं की जानकारी आती रही। आरबीआई और ऑडिटर्स दोनों की जांच में पाया गया कि नियमों का पालन नहीं हो रहा है। गौरतलब है कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक के पास करीब 35 करोड़ ई-वॉलेट हैं। इनमें से करीब 31 करोड़ निष्क्रिय हैं। लाखों खातों में केवाईसी अपडेट नहीं है।

पेटीएम वॉलेट खरीदने पर जियो फ़ाइनेंशियल की सफाई के बाद फिर नीचे गिरे शेयर

 

Related Post