Thursday, 13 June 2024

पुलिस ने 5वीं पास फर्जी इंस्पेक्टर को पकड़ा, चोर से बना पुलिस

UP News : उत्तर प्रदेश के आगरा में पुलिस ने एक पांचवी पास फर्जी इंस्पेक्टर को पकड़ा है। बताया जा रहा…

पुलिस ने 5वीं पास फर्जी इंस्पेक्टर को पकड़ा, चोर से बना पुलिस

UP News : उत्तर प्रदेश के आगरा में पुलिस ने एक पांचवी पास फर्जी इंस्पेक्टर को पकड़ा है। बताया जा रहा है कि ये फर्जी इंस्पेक्टर नेशनल हाईवे पर वाहनों की चेकिंग कर रहा था। जो मोबाइल से वाहनों की फोटो लेने के बाद चालान की धमकी देकर वसूली कर रहा था।

UP News

मामले की जानकारी न्यू आगरा थाना पुलिस को मिली। सूचना के बाद मौके पहुंचे चौकी प्रभारी ने खाकी और तीन स्टार देखकर पहले तो सकते में आ गया। सलाम करने के बाद चेकिंग का कारण पूछा। बातों-बातों में ही असली नकली का फर्क पता कर लिया। फर्जी इंस्पेक्टर की पुष्टि होने पर चौकी प्रभारी ने आरोपी को पकड़ लिया।

वाहन चलकों से करता था उगाही

आगरा स्थित नेशनल हाईवे के अबुल उलाह कट पर एक युवक फर्जी इंस्पेक्टर बनकर वाहनों की चेकिंग कर रहा था। इस दौरान लोगों ने मोबाइल से उसकी फोटो खींची तो उसने चालान करने की धमकी दी। लोगों ने इसकी सूचना न्यू आगरा थाने पर दी। डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि इसकी जांच के चौकी प्रभारी मांगेराम को भेजा गया। मांगेराम ने मौके पर पहुंचकर तीन स्टार लगी वर्दी देखी तो सकते में आ गया। उसने सैल्यूट करने के बाद चेकिंग का कारण पूछा। फर्जी इंस्पेक्टर दरोगा मांगेराम की बातों में आ गया। इसी बीच दरोगा ने असली और नकली का अंदाजा लगा लिया। इसके बाद फर्जी इंस्पेक्टर को पकड़ लिया गया। इसका नाम देवेंद्र बताया जा रहा है, जो आगरा का ही रहने वाला है।

लॉकडाउन में खरीदी थी वर्दी

पकड़े गए फर्जी इंस्पेक्टर देवेंद्र ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह कक्षा पांच तक पढ़ा है। कोरोना काल से पहले बिजलीघर के पास स्थित एक दुकान से वर्दी खरीदी थी। लॉकडाउन में वो सड़कों पर निकलता था। वर्दी पहने होने की वजह से कोई रोकता नहीं था। बाद में वह वर्दी की मदद से आटो और बस में सफर करने लगा। वर्दी देखकर वाहन चालक डर जाते थे, जो किराया नहीं मांगते थे। साथ ही आरोपी ने बताया कि खरीदारी करने किसी दुकान में जाता था तो डिसकाउंट भी मिल जाता था। वर्तमान में वह कोई काम नहीं कर रहा था। उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। इस कारण सोचा कि वाहन चालकों से वसूली कर लेगा। चालान के डर से वो खुद ब खुद रकम दे देंगे। इससे वह खर्च निकाल लेगा।

UP News पहले चोरी का मामला है दर्ज

न्यू आगरा थाना प्रभारी राजीव कुमार ने बताया कि आरोपी देवेंद्र से 2015 रुपये बरामद किए। यह उसने आटो चालकों से वसूली कर लिए थे। मामले में आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी और रंगदारी की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया। उसके खिलाफ पहले से थाना हरीपर्वत में चोरी का मुकदमा दर्ज है। आरोपी ने बताया कि अबुल उलाह कट पर पुलिस कम ही रहती है। इस कट पर आटो और बस खड़ी रहती हैं। इनके चालकों को धमकाकर वसूली कर लेगा। लेकिन किसी ने इसकी शिकायत पुलिस से कर दी, जिससे वो पकड़ा गया।

डीसीपी ने दी मामले की जानकारी

मामले को लेकर डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि आरोपी राजपुर चुंगी निवासी देवेंद्र उर्फ राजू है। वह इंस्पेक्टर की वर्दी पहने हुए था। उसकी वर्दी पर तीन सितारे भी लगे हुए थे। पुलिस की तरह जूते भी पहने था। वह वाहन चालकों को धमका रहा था। शिकायत मिली थी कि एक इंस्पेक्टर वाहनों से वसूली कर रहा है। मोबाइल से फोटो लेने के बाद चालान की धमकी दे रहा है। इस पर कार्रवाई की गई। चौकी प्रभारी मांगेराम को भेजा गया। पहली बार में चौकी प्रभारी भी उसे इंस्पेक्टर ही समझने लगे। इसलिए सीनियर अधिकारी की तरह बात करने लगे। लेकिन कुछ ही देर में देवेंद्र का भेद खुल गया। उसे पकड़ लिया गया।

यूपी के युवाओं के लिए बड़ी खुशखबरी, सरकारी पदों पर निकली बंपर भर्ती

ग्रेटर नोएडा– नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post