Thursday, 13 June 2024

गाड़ी में क्यों इस्तेमाल होती है BH नंबर प्लेट? जानें फायदे

BH Number Plate:  अगर आपको भारत के किसी राज्य या शहर में जाना है, तो इसके लिए आपको नई जगह…

गाड़ी में क्यों इस्तेमाल होती है BH नंबर प्लेट? जानें फायदे

BH Number Plate:  अगर आपको भारत के किसी राज्य या शहर में जाना है, तो इसके लिए आपको नई जगह पर अपना व्हीकल रजिस्टर करना पड़ता है, और इस प्रक्रिया में आपको थोड़ी परेशानी भी जरूर होती है। हालांकि, सड़क परिवहन (Road Transport) और राजमार्ग मंत्रालय ने इस प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए कुछ समय पहले एक सुझाव भी दिया था। आपको बता दें कि भारत सीरीज नंबर प्लेट्स, जिन्हें BH नंबर प्लेट भी कहा जाता है। इसे साल 2021 में लॉन्च किया गया था। इसका उद्देश्य उन व्यक्तियों के लिए व्हीकल रजिस्ट्रेशन को आसान बनाना है जो अक्सर काम के लिए रिलोकेट करते रहते है। ऐसे में हम यहां BH नंबर प्लेट्स के बेनिफिट्स, एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया और बाकी डिटेल के बारें में जानाकरी देने जा रहे है।

BH Number Plate को क्यों करते है रजिस्टर?

BH नंबर प्लेट एक यूनिक रजिस्ट्रेशन नंबर होता है। इसे पूरे भारत में एक इंडिविजुअल व्हीकल को दी जाती है। इससे वाहन मालिक एक ही रजिस्ट्रेशन नंबर से एक राज्य से दूसरे राज्य में जा सकते है। इसके अलावा, BH नंबर प्लेट होना बीमा के लिहाज से भी सुविधाजनक है। क्योंकि, इससे कार का बीमा अप्रभावित रहता है। इसके फॉर्मेट की बात करें तो इसमें ईयर ऑफ रजिस्ट्रेशन (YY), फिर BH (भारत सीरीज), फिर 4 डिजिट का रजिस्ट्रेशन नंबर और फिर XX होता है। ये व्हीकल कैटेगरी को इंडिकेट करता है। उदाहरण के लिए 22BH 9999AA को देख सकते हैं।

BH Number Plate का क्या है फायदा

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि स्टेट रजिट्रेशन नंबर की बात है तो अगर आप अपनी जगह बदलते हैं तो आपको नए राज्य में जाने के बाद 12 महीने के भीतर व्हीकल रजिस्ट्रेशन को बदलना होता है। अगर आप ऐसा नहीं करते तो सड़क उल्लंघन कर सकते है। इससे आपका कार इंश्योरेंस क्लेम रिजेक्ट हो सकता है।  बीमा कंपनी सड़क नियमों का पालन न करने के चलते कार इंश्योरेंस क्लेम को रिजेक्ट कर सकता है। हालांकि, BH नंबर के साथ आपको ये दिक्कत नहीं होती है। क्योंकि, आपको एक से दूसरी जगह जाने पर व्हीकल रजिस्ट्रेशन को चेंज नहीं करना होता है। ऐसे में कार इंश्योरेंस कवरेज या क्लेम वैलिडिटी को लेकर चिंता नहीं करनी होती है।

BH सीरीज नंबर प्लेट के लिए कौन हैं एलिजिबल और क्या है क्राइटेरिया?

BH सीरीज नंबर प्लेट का इस्तेमाल राज्य और केंद्र सरकार के कर्मचारी के साथ-साथ…

रक्षा कर्मी,

बैंक कर्मचारी

प्रशासनिक सेवा कर्मचारी

पांच से अधिक राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में कार्यालयों वाली निजी कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारी।

व्हीकल के पास पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल (PUC) सर्टिफिकेट भी होना चाहिए।

व्हीकल के लिए रोड टैक्स का भुगतान करना होगा।

ये केवल नॉन-ट्रांसपोर्ट व्हीकल्स के लिए लागू होता है।

BH Number Plate

भारत सीरीज नंबर प्लेट के फायदे..

ये नंबर प्लेट पूरे देश में मान्य होता है, और  एक से दूसरे राज्य जाने पर व्हीकल को फिर से रजिस्टर करने की जरूरत नहीं पड़ती।

BH सीरीज नंबर प्लेट के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

इसके लिए आप MoRTH के वाहन पोर्टल पर खुद से लॉगिन कर सकते हैं। या इस काम के लिए आप किसी ऑथोराइज्ड ऑटोमोबाइल डीलर की मदद ले सकते हैं। इसके अलावा अगर आप किसी ऑटोमोबाइल डीलर की मदद लेते हैं तो वाहन पोर्टल में फॉर्म 20 को भरें। बता दे कि एलिजिबल प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों को फॉर्म 60 को भरना होता है। उन्हें वर्क सर्टिफिकेट के साथ एम्प्लॉयमेंट ID भी दिखानी होती है। इसके बाद ऑथोरिटीज व्हीकल ओनर की एलिजिबिलिटी को वेरिफाई करते हैं। फिर जरूरी डॉक्यूमेंट्स सबमिट करने होते हैं। इसके बाद BH नंबर के लिए RTO से अप्रूवल मिलने के बाद जरूरी मोटर व्हीकल टैक्स भरना होता है। फिर VAHAN पोर्टल आपकी व्हीकल के लिए BH Series रजिस्ट्रेशन जनरेट करता है। BH Number Plate

राउज एवेन्यू कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल को जारी किया नया समन 

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें

Related Post