Sunday, 14 July 2024

अरविंद केजरीवाल का जेल से बाहर आना विपक्ष की बड़ी जीत, शुरू किया अभियान

Arvind Kejriwal : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जेल से बाहर आ गए हैं। जेल से बाहर आते ही अरविंद…

अरविंद केजरीवाल का जेल से बाहर आना विपक्ष की बड़ी जीत, शुरू किया अभियान

Arvind Kejriwal : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जेल से बाहर आ गए हैं। जेल से बाहर आते ही अरविंद केजरीवाल ने चुनावी अभियान शुरू कर दिया है। अरविंद केजरीवाल के जेल से बाहर आने के बाद से एक ही बड़ा सवाल पूछा जा रहा है। सवाल यह पूछा जा रहा है कि क्या अरविंद केजरीवाल का जेल से बाहर आना विपक्षी दलों के लिए लाभदायक होगा की नहीं ? अधिकतर राजनीतिक विश्लेषक बोल रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल के बाहर आने से विपक्ष को बड़ा फायदा होने वाला है।

जेल से बाहर आए अरविंद केजरीवाल

आपको बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शुक्रवार 10 मई को जेल से बाहर आ गए। सुप्रीम कोर्ट की दो जजों की बेंच ने उन्हें 1 जून तक अंतरिम ज़मानत दी है, साथ ही उन्हें चुनाव प्रचार करने की भी इजाज़त दे दी है। केजरीवाल को 2 जून को दोबारा सरेंडर करना होगा। लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण की वोटिंग तक केजरीवाल जेल से बाहर रहेंगे। विपक्ष ने केजरीवाल की गिरफ़्तारी को चुनाव के दौरान समान अवसर पर हमला बताया था। हालांकि, कई राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि इस गिरफ़्तारी से विपक्ष के पक्ष में लोगों की सहानुभूति बढ़ी है। अब कई राजनीतिक जानकारों का मानना है कि केजरीवाल की रिहाई से विपक्ष को फ़ायदा मिलेगा। ख़ासकर, दिल्ली और पंजाब जैसे राज्यों में जहां आम आदमी पार्टी का मज़बूत आधार है. इससे इंडिया गठबंधन भी मज़बूत होगा। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि लोकसभा चुनाव पांच साल में होने वाली एक अहम लोकतांत्रिक घटना है। कोर्ट को अंतरिम ज़मानत देने से पहले इस पहलू पर विचार करना था। कोर्ट ने कहा कि अरविंद केजरीवाल का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है और वो ”समाज के लिए ख़तरा” नहीं हैं। इन सब बातों को ध्यान में रखकर कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ केजरीवाल को ज़मानत देने का आदेश सुनाया।

Arvind Kejriwal

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा गया कि केजरीवाल, मुख्यमंत्री कार्यालय नहीं जाएंगे। वो किसी भी फ़ाइल पर हस्ताक्षर नहीं करेंगे। आदेश में यह भी कहा गया है कि अरविंद केजरीवाल अपने ख़िलाफ़ चल रहे मौजूदा केस के बारे में कोई बयान नहीं देंगे और केस से जुड़े गवाहों से बातचीत नहीं करेंगे। हालांकि, केजरीवाल अपनी सियासी गतिविधियां जारी रख सकते हैं। फि़लहाल, लोकसभा चुनाव चल रहे हैं. तीन चरणों के लिए वोटिंग हो चुकी है, अभी चार चरण बाक़ी हैं। आम आदमी पार्टी के लिए महत्वपूर्ण माने जाने वाले दो राज्य दिल्ली और पंजाब में अभी मतदान होना है। दिल्ली की 7 सीटों पर 25 मई को चुनाव है। यहां से आम आदमी पार्टी 4 सीटों पर और कांग्रेस 3 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। दोनों ही पार्टियां इंडिया गठबंधन के तहत एक साथ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं। पंजाब की सभी 13 सीटों पर आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ रही है। यहां 1 जून को मतदान है। इन दोनों राज्यों के अलावा आम आदमी पार्टी हरियाणा में भी एक सीट पर चुनाव लड़ रही है। यहां दिल्ली के साथ ही 25 मई को चुनाव है। पूरे देश की बात करें तो 543 में से 285 सीटों पर वोटिंग हो चुकी है। इनमें से कई जगहों पर आम आदमी पार्टी का भी आधार था।

Arvind Kejriwal

Big Breaking : केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत, मिली जमानत

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post