Tuesday, 23 April 2024

यूरिक एसिड के बढ़ने से हो सकती है गंभीर बीमारी

शरीर में यूरिक एसिड का संतुलन कभी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। साइंटिफिक एक्सपर्ट्स के अनुसार यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने…

यूरिक एसिड के बढ़ने से हो सकती है गंभीर बीमारी

शरीर में यूरिक एसिड का संतुलन कभी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

साइंटिफिक एक्सपर्ट्स के अनुसार यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने से कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। दरअसल, यूरिक एसिड ब्लड में पाया जाने वाला एक केमिकल होता है जो कि शरीर में प्योरीन नाम के पदार्थ के टूटने से बनता है। डॉक्टरों का मानना है कि यूरिक एसिड की मात्रा शरीर में बढ़ने से गाउट की समस्या उत्तपन्न हो जाती है। गाउट से ग्रसित व्यक्ति के पैरों में अक्सर सूजन के कारण दर्द बना रहता है। जिसके बाद जोड़ो में छोटे-छोटे क्रिस्टल जमा होने लगते हैं जो कि यूरीन के ज़रिये बाहर नहीं निकल पाते, तब व्यक्ति को दिक्कत होती है। इसलिए एक्सपर्ट्स का कहना है कि व्यक्ति को यूरिक एसिड को कंट्रोल में रखने के लिए संतुलित आहार लेना चाहिए। डॉक्टरों के मुताबिक, बथुआ के पानी का सेवन करें। रोज़ बथुआ की पत्तियों का जूस निकालकर उसे पीएं, पीने के करीब 2 घंटे बाद तक कुछ नहीं खाएं। ऐसा एक हफ्ते तक करने से आपको फर्क मालूम पड़ेगा। वहीं, किचन में हमेशा जैतून के तेल का ही इस्तेमाल करें। जैतून के तेल में मौजूद विटामिन ई यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में काफी सहायक साबित होता है। इसके अलावा कच्चे पपीते को पानी में उबालें। उबालने के बाद उसे ठंडा करें और फिर पानी का सेवन करें इससे आपको बहुत लाभ होगा।

Related Post