Tuesday, 23 July 2024

Noida News : नोएडा के इस पार्क में जाने से लगता है डर !!

अंजना भागी Noida News  : नोएडा के सेक्टर 52 का आदर्श पार्क आजकल अपने नाम के बिलकुल विपरीत दिखाई देता…

Noida News : नोएडा के इस पार्क में जाने से लगता है डर !!

अंजना भागी

Noida News  : नोएडा के सेक्टर 52 का आदर्श पार्क आजकल अपने नाम के बिलकुल विपरीत दिखाई देता है। इसका नाम तो आदर्श है लेकिन अब क्या कहें? सेक्टर 52 के अध्यक्ष अशोक शर्मा के अनुसार एक महीना हो गया इस पार्क में रात में बिजली गुल रहती है। शाम गहराते ही यह पार्क संपूर्ण अंधेरे में डूब जाता है। सेक्टर 52 के अध्यक्ष बिजली विभाग को हर प्रकार से लिखकर,कहकर पूरी कोशिश कर चुके हैं। अब वे रात में वीडियो बना कर भी स्थिति से अवगत करवा रहे हैं। अंधेरे पार्क में जब इतना अंधेरा रहेगा तो उजले काम भी शायद न हों क्योंकि अंधेरे के साथ अपराध  भी होते है। असामाजिक तत्व कोई भी वहाँ बैठे रहते है। रेजिडेंट्स उसके आसपास से निकलने से डरने लगे हैं। लोग घर से टॉर्च लेकर जाने लगे हैं। ताकि कुछ इधर-उधर की दुर्घटना ना हो जाए। या कुत्ता ही अंधेरे में काट खाएं।  हर कोई एक दूसरे से कह रहा है हर कोई सुन रहा है बात को आगे भी पहुँचा रहा है लेकिन एक महीना हो गया फिर भी कोई सुनवाई नहीं कि पार्क की बत्तियां ही ठीक हो सकें।

दिन में इतनी चहल पहल, तो  रात में घुप अंधेरा, आखिर क्यों ?

नोएडा  में यह बात सिर्फ आदर्श पार्क की ही नहीं है अन्य भी कुछ सेक्टर ऐसे हैं जहां पर पार्क बहुत अच्छे हैं दिन में वहां बैठो तो बहुत ही अच्छा लगता है घने पेड़ हैं, लेकिन शाम होते ही वहां बत्तियां गुल कर दी जाती हैं। बत्तियां गुल होने का सबसे बड़ा नुकसान तो यह होता है कि अंधेरे में वहाँ उस सेक्टर के रेजिडेंट्स लगभग जाना बंद ही कर देते हैं फिर वहां कौन जाने लगते हैं?  असामाजिक तत्व उस जगह का दुरुउपयोग न करें इसी चिंता में अध्यक्ष अशोक जी रात के अन्धेरे में खड़े वहाँ अपनी परेशानी बता रहे हैं। ऐसा नहीं कि लोग शिकायत नहीं करते।

Noida News डरने लगे हैं हैं लोग 

नोएडा के लोग शिकायत करते हैं। तो समस्या को बिगड़ने से पहले उसका समाधान भी कर ही दिया जाना चाहिये, उसमें  परेशानी क्या है? जिस चीज की खबर ना हो वह तो बात समझ में आती है लेकिन जिस समस्या  के बारे में बार-बार खबर किया जा रहा है उसका समाधान न होना । पार्क जैसी जगह जहां दिन में लोग बैठते हैं वहां रात में ऐसे अंधेरा क्यों रहता है? शिकायतों के बाद भी उसे ठीक क्यों नहीं किया जाता? यह लापरवाही है या कोई ठीक करता नहीं  है? या जानबूझ कर ये किया जा रहा है ? इसकी जानकारी तो ली ही जानी चाहिए  ।

असामाजिक तत्व का राज

Noida News

यही समस्या कुछ समय पहले नोएडा के सेक्टर 12 के भी एक पार्क की थी। वहां भी पूरी सड़क पर अंधेरा और पार्क में तो घुप अंधेरा हो जाता था। वहां के रेसिडेएंट्स ने काफी भागदौड़ के बाद यह समस्या का हल करवाया। अभी कुछ ही महीने पहले सेक्टर 11 में भी एक मशहूर अस्पताल वाली सड़क पर शाम को बत्तियां जलती थीं। सर्दियों का मौसम था रात में 10:00 बजते ही बत्तियां गुल और घुप अंधेरा हो जाता था। दो एक दिन तो यह सब देखा गया लेकिन उसके बाद सेक्टर की अध्यक्ष अंजना भागी ने यूपीपीसीएल विभाग और नोएडा प्राधिकरण दोनों को एक साथ सूचित किया। दिन में दो बार इसकी जानकारी ली जाती। 4 दिन के अंदर यूपीपीसीएल वालों ने ध्यान दिया और नोएडा प्राधिकरण वालों ने भी पूरी तारों की चेकिंग करवाई। वहाँ सब कुछ ठीक था लेकिन समस्या वैसी ही थी, रात को 10:00  बजे कहीं किसी बिंदु से बत्तियां बुझा दी जाती थीं। कारण जो भी था एक हफ्ते के अंदर इस समस्या से छुटकारा पा लिया गया नोएडा प्राधिकरण के पी ई अजय सक्सेना जे ई  उद्धव शर्मा और साथ ही सेक्टर 11 के यू पी पी सी एल विभाग के एसडीओ संजय सागर तथा जे ई मनोज भारद्वाज ने भी तारें बदलवाईं । कुछ स्विच ऊपर करवाए तथा पी सी आर वैन ने भी चक्कर अधिक लगाए। नोएडा सेक्टर 52 के अध्यक्ष स्वयं अंधेरे में खड़े  होकर यह वीडियो बना रहे हैं और अपने सेक्टर की समस्या बता रहे हैं। समस्या कहीं  कोई दुर्घटना में न बदल जाए शायद ये ही उनका आशय है। इसलिए पार्क की जिम्मेदारी यदि प्राधिकरण की है तो नोएडा प्राधिकरण या यूपीपीसीएल विभाग जिसकी भी है उसका समाधान  होना ही चाहिए।

नोएडा के दो स्थानों पर चला प्राधिकरण का पीला पंजा, 3.20 करोड़ की जमीन कराई मुक्त

Related Post