Saturday, 13 July 2024

बीजेडी सांसद ने पार्टी छोड़ी, बीजेपी में शामिल होने की संभावना

Loksabha Election : उड़ीसा में लोकसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ पार्टी बीजेडी से नेताओं की भगदड़ जारी है । अब…

बीजेडी सांसद ने पार्टी छोड़ी, बीजेपी में शामिल होने की संभावना

Loksabha Election : उड़ीसा में लोकसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ पार्टी बीजेडी से नेताओं की भगदड़ जारी है । अब इसमें कटक के सांसद भर्तृहरि महताब भी शामिल हो गए हैं, जिन्होंने पार्टी पर अपने पथ से भटकने का आरोप  लगाया है । उड़ीसा में बीजेडी के सांसद भर्तृहरि महताब ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। लोकसभा चुनाव 2024 से पहले बीजेपी से पार्टी छोड़ने वाले नेताओं का तांता लगा हुआ है।  भर्तृहरि महताब ने पार्टी पर अपने उद्देश्य से भटकने का आरोप लगाया है।  ऐसी जानकारी मिल रही है कि मेहताब जल्द ही भाजपा में शामिल हो सकते हैं। 

चुनाव से पहले कई नेताओं ने छोड़ा बीजेडी का साथ 

आपको बता दें कि भाजपा पहले ही यह साफ कर चुकी है कि वह बीजेडी के साथ चुनाव को लेकर कोई एलाइंस नहीं करने जा रही है। उड़ीसा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल के एक और महत्वपूर्ण नेता ने बीजेडी को अलविदा कह दिया है।  शुक्रवार को कटक से सांसद भर्तृहरि  महताब ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। मेहताब ने इस साल फरवरी में नवीन पटनायक पर आरोप लगाया था कि वह पार्टी के सिद्धांतों से हट गए हैं । और किसी के भी  धेर्ये के एक सीमा होती है। गौरतलब है कि सांसद का इस्तीफा उस दिन आया जब बीजेपी ने बीजेडी के साथ किसी तरह का चुनावी गठबंधन न करने की घोषणा की। 

बीजेपी ने बीजेडी से तोड़ा गठबंधन Loksabha Election

राज्य भाजपा के अध्यक्ष मनमोहन संमाल ने एक पोस्ट में लिखा है “उड़ीसा के अस्मिता को लेकर कई मुद्दों पर हमें चिंता होती है।  उड़ीसा का गर्व और राज्य के लोगों का हित ऐसे कई मुद्दे हैं जिन्हें लेकर हमें चिंता है।”  पिछले कुछ दिनो में ही बीजेडी के कई नेता पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। हाल ही में इस्तीफा देने वालों में शामिल हैं बीजेडी के ऑर्गेनाइजिंग सेक्रेट्री पीवी दास और उड़िया फिल्मों के लोकप्रिय अभिनेता अनिंदम राय जिन्होंने पिछले हफ्ते ही बीजेडी को छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था।  उनका कहना था कि बीजेडी में अब कोई उम्मीद नजर नहीं आती है।  इस पार्टी में अब कोई भविष्य नहीं बचा है । यहां पर केवल भीड़ इकट्ठी की जा रही है।  इस पार्टी में जिसे लोगों के लिए समर्पित होकर काम करना है ऐसे लोगों की यहां कोई जगह नहीं है।  इसलिए मैं पार्टी छोड़ रहा हूं । बीजेडी के एक और सीनियर आदिवासी नेता और पूर्व मंत्री बलभद्र मांझी ने भी बीजेडी के नेतृत्व पर उपेक्षा करने और साइड लाइन करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल से  पार्टी में अवहेलना झेलनी पड़ रही थी।  उन्होंने पार्टी से  इस्तीफा देकर कांग्रेस ज्वाइन कर ली है।  बीजेडी से इस्तीफा देने वाले नेताओं की कतार बहुत लंबी है। जयदेव से विधायक अरबिंदो ढाली ने भी बीजेडी से इस्तीफा देकर भाजपा को ज्वाइन कर लिया है।  उनके साथ मलकानगिरी के विधायक को मुकुंद सोडी और बिपिन चन्द्र प्रधान और अन्य नेताओं ने भी पार्टी छोड़ दी है।Loksabha Election

केजरीवाल की पत्नी सुनीता आई सामने, बोली आपका बेटा व भाई लोहे का बना है

 

Related Post