Thursday, 18 April 2024

टोक्यो पैरालिंपिक्स : भारत के नाम 7 मेडल

टोक्यो पैरालिंपिक्स में अब तक भारत के नाम पर 7 मेडल हो चुके है। निशाने बाजी से लेकर भाला फेंक…

टोक्यो पैरालिंपिक्स  : भारत के नाम 7 मेडल

टोक्यो पैरालिंपिक्स में अब तक भारत के नाम पर 7 मेडल हो चुके है। निशाने बाजी से लेकर भाला फेंक में भारत के जाबाज प्लेयरों ने दुनिया में तिरंगे का मान रखा है। सिल्वर से लेकर गोल्ड मेडल भारत के नाम पर हो चुके है। हाल ही में मिली जानकारी कि, 2 घंटे के अंतराल में भारत के होनहार खिलाड़ियों ने 4 मेडल लेकर दुनिया में अपना परचम लहराया है। बता दें कि महिला निशाने बाजी में भारत को गोल्ड मेडल मिला इसके अलावा पुरूष डिस्कस थ्रो में सिल्वर और जैवलिन थ्रो में चांदी के मेडल प्राप्त किए है। दरहसल भारत ने सभी रंगों से चमचमाते मेडल प्राप्त कर लिए है। इस खुशी में हिंदुस्तान में जश्न का माहौल छाया है। जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर भारत ने 4 मेडल जीतकर त्योहार को खुशियों से भर दिया। जानकारी के मुताबिक निशाने बाजी मे अवनि लेखरा नाम की महिला ने 10 मीटर एयरस्टैडिंग में अपना रिकॉर्ड बनाया है। बता दें कि अवनि ने फाइनल राउंड में 249.6 अंक हासिल कर अपनी बढ़त बनाई है। महिला ओलपिंक का इतिहास में भारत को पहला करिश्मा मिला है। अवनि ने बताया कि भारत को मेडल दिलाने के लिए 100 फीसदी तैयार थी, जबकि सीधा फोकस मेडल की तरफ ही था। उनका कहना है कि ये मेडल मेरे अकेले की मेहनत नहीं है बल्कि सभी भारतीय नागरिकों के प्रोत्साहन का नतीजा है। मुझे भारत की समाज पर गर्व है “जय भारत माता की” बोलकर उन्होने भारत सरकार और समाज को धन्यबाद किया। दूसरी तरफ योगेश काठुनिया ने पुरूष डिस्कस थ्रो में शानदार जीत दिलाई। योगेश ने एफ56 कैटेगरी में भारत को सिल्वर मेडल दिलाया। उन्होंने 44.38 मीटर की दूरी का थ्रो फेंक कर भारत को मेडल दिलाया। जैवलिन थ्रो में देवेंद्र झाझड़िया ने 64.35 मीटर की दूरी भाला फेंकर सिल्वर मेडल भारत के नाम किया है। वहीं सुदर्शन सिंह ने 64.01 कीमी की भाला फेंक में कांसा मेडल नाम किया है। फिलहाल भारत ने रंगबिरंगे 7 मेडल अपने नाम पर किया है। इस जीत पर भारतीय समाज में काफी खुशी है।

Related Post