Monday, 24 June 2024

एसएन में कैंसर से तड़प रहे रोगी

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में कैंसर रोगी दर्द से तड़प रहे है। अस्पताल में ब्रेकीथैरेपी करने वाली 3.5 करोड़…

एसएन में कैंसर से तड़प रहे रोगी

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में कैंसर रोगी दर्द से तड़प रहे है। अस्पताल में ब्रेकीथैरेपी करने वाली 3.5 करोड़ की दो मशीनें खराब हो जाने की वजह से मरीजों को जयपुर और दिल्ली रेफर किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक अस्पताल में करीब 8 महीने से मशीनें खराब पड़ी है। वहीं डिजिटल सिम्युलेटर एक साल से बंद होने के कारण आगरा, शिकोहाबाद, मथुरा, फिरोजाबाद औऱ मैनपुरी के मरीजों को तत्काल दिल्ली और जयपुर के लिए रेफर कर दिया जाता है। दरहसल, ब्रेकीथैरेपी मशीन से कैंसर रोगी की रेड़ियोथैरेपी की जाती है। इसके लिए शरीर के अंदर एप्लीकेटर डाला जाता है। एसएन अस्पताल का एप्लीकेटर करीब 8 माह से खराब पड़ा है। कैंसर विभाग के मुताबिक हालही में अधिकांश मरीज बच्चेदानी और मुंह के कैंसर से त्रस्त आ रहे है। इन रोगियों की खाना व पेशाब की नली पर सीधा असर पड़ता है। ब्रेकीथैरेपी से शरीर के उस अंग की रेड़ियोथैरेपी की जाती है जिस जगह कैंसर की संभावना होती है। बता दें कि, एसएन अस्पताल में 2016 को 1.5 करोड़ से ब्रेकीथैरेपी मशीन खरीदी गई थी, साथ ही 2 करोड़ में एप्लीकेटर मशीन को खरीदा गया था। इन मशीनों से टार्गेटेड रेडियोथैरेपी करने में मदद मिलती है। बता दें कि एसएन अस्पताल में करीब 60 मशीनें है। थैरेपी न होने की वजह से मरीजों को इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। रामसेवक, फीरोजाबाद आज ही ब्रेकीथैरेपी मशीन के एप्लीकेटर के लिए प्रस्ताव भेजा है। सिम्युलेटर क्यों बंद है, इसका पता करने के बाद जल्द शुरू कराया जाएगा।

Related Post