Saturday, 2 March 2024

आनंद गिरी का विवादों से रहा पुराना नाता

राष्ट्रीय ब्यूरो। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की सुसाइड नोट के आधार पर हिरासत में लिए गए उनके…

आनंद गिरी का विवादों से रहा पुराना नाता

राष्ट्रीय ब्यूरो। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की सुसाइड नोट के आधार पर हिरासत में लिए गए उनके शिष्य आनंद गिरी का विवादों से पुराना नाता रहा है। उन पर महिलाओं के साथ छेड़छाड़,शराब पीने व मंदिर से धन चुराने जैसे आरोप पहले ही लग चुके हैं।

अखाड़ा परिषद को नजदीक से जानने वाले लोगों को कहना है कि आनंद गिरी संत जरूर थे। लेकिन उन पर अखाड़ा के नियमों को तोड़ने का कई बार आरोप लगा है। जिसकी वजह से गुरू-शिष्य के रिश्ते कई बार तल्ख हुए हैं। 2016 की एक घटना का हवाला देते हुए बताया गया कि आनंद आस्ट्रेलिया की यात्रा पर गए थे,जहां एक होटल में दो महिलाओं ने उन पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था,जिसके चलते उन्हें गिराफ्तार कर लिया गया था। बाद नरेंद्र गिरी ने वकीलों की मदद से उन्हें रिहा करवाया। लेकिन इसी मामले में आनंद गिरी ने गुरू पर आरोप मढ़ा था कि उन्हें रिहा कराने के लिए कुछ सम्पन्न लोगों से 4 करोड़ रुपए वसूल किए गए। वहीं एक बार आनंद की विमान में शराब पीते हुए एक तस्वीर वायरल हुई थी। हालांकि उन्होंने इस आरोप खारिज करते हुए कहा था कि वह सेब का जूस पी रहे थे,रंग की वजह से लोग उसे शराब मान बैठे। इसके अलावा संगम के तट पर लेटे हुए हनुमानजी पर चढ़ने वाले चढ़ावा की चोरी का आरोप खुद उन पर नरेंद्र गिरी ने ही लगाया था और कहा था कि वे पैसा चुराकर अपने घर भेजते हैं। जिसके चलते गुरू-शिष्य के रिश्ते मधुर नहीं रह गए थे। अब नरेंद्र गिरी की कथित सुसाइड नोट में आरोप लगा है कि आनंद उन्हें मानसिक रूप से परेशान करते हैं।

Related Post