Tuesday, 25 June 2024

यह कार 1100 करोड़ रुपए में हुई नीलाम, जानिए इसकी खसियात

World’s most expensive car:  वैसे तो कारों की कीमत खरीदने और नीलाम होने में उसके प्राइस करोड़ो में पहुंच जाते…

यह कार 1100 करोड़ रुपए में हुई नीलाम, जानिए इसकी खसियात

World’s most expensive car:  वैसे तो कारों की कीमत खरीदने और नीलाम होने में उसके प्राइस करोड़ो में पहुंच जाते है। लेकिन क्या आप जानते है, दुनिया में एक ऐसी कार है, जिसकी नीलामी में 1100 करोड़ रुपए में सेल किया गया है। जिसे सुनने के बाद आपको अपने कॉनों पर विश्वास नहीं होगा, लेकिन ऐसा सच है। आज हम आपको 1100 करोड़ रुपये में बिकने वाली दुनिया की सबसे मंहगी कार के बारे में  कुछ जानाकरी बताने जा रहे है, आइए जानते है उसकी खसियात के बारे में..

मर्सिडीज बेंज 300 एसएलआर

आज हम आपको जिस कार के बारे में बता रहे है, वो साल 1955 में बनी मर्सिडीज बेंज 300 एसएलआर कार है। ये कार अभी तक की दुनिया की सबसे महंगी कार में गिनी जाती है और इसे जर्मनी में 1100 करोड़ रुपए में नीलाम किया गया है। मर्सिडीज बेंज 300 एसएलआर(Mercedes-Benz 300 SLR) एक स्पोर्ट्स कार है और इसे अमेरिकन बिजनेसमैन डेविड मैकनील ने खरीदा है।

इस नीलामी को सोथबी नीलामी घर द्वारा आयोजित किया गया था। इस कार को ‘मोनालिसा ऑफ कार्स कहा जाता है। कंपनी ने अब तक इस मॉडल की केवल 2 ही कारें बनाकर तैयार की थी। इनमें 3.0 लीटर इंजन है और 180 किमी की टॉप स्पीड से चल सकती हैं। यह कार 12 कार रेस में से 9 जीत कर उस जमाने में रेसिंग कारों पर हावी रही थी।

World’s most expensive car

इससे पहले ये कार थी सबसे महंगी

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इससे पहले फेरारी 250 जीटीओ के नाम दुनिया की सबसे महंगी कार होने का रिकोर्ड दर्ज था। इसे 542 करोड़ रुपये में बेचा गया था। मर्सिडीज बेंज 300 एसएलआर की नीलामी 5 मई को जर्मनी के स्टटगार्ट में मर्सिडीज बेंज संग्रहालय में हुई थी। इस नीलामी ने फेरारी 250 GTO के नीलामी के रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

जानिए, कब बनी थी ये कार ?

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मर्सिडीज-बेंज 300 SLR के केवल दो मॉडल को कंपनी ने 1950 के दशक में बनाया था। इसके बाद मर्सिडीज ने 1955 में इस रेसिंग कार को बनाना बंद कर दिया था। मर्सिडीज की इन दो हाईटॉप वेरिएंट कार में तीन लीटर का इंजन है। जिसकी क्षमता 302 PS की है। इसका इंजन काफी मजबूत होता है। उस समय की कारों में यह सबसे तेज रफ्तार की कार थी।

चालक सहित 83 दर्शकों की हो गई थी मौत

इस रेसिंग कार को रेसिंग ट्रैक पर भी उतारा गया था। साल 1954 में इस कार ने रेस में कमाल कर दिया था। 12 रेसों में से 9 में जीत हासिल कर इस कार ने लोगों का ध्यान अपनी खींचा। एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस रेसिंग कार को साल 1955 में जब ले मैन्स रेस में रेसिंग ट्रैक पर उतारा गया तो एक दुर्घटना में कार चालक सहित 83 दर्शकों की मौत हो गई थी। जिसके बाद इस कार को रेसिंग से अलग कर दिया गया है। World’s most expensive car

पुलिसकर्मी ने मारी नमाजियों को लात, हुआ सस्पेंड

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post