Sunday, 16 June 2024

LIC IPO: लिस्टिंग के पहले ही जीएमपी हुआ धड़ाम, निवेशकों को झेलना पड़ सकता है नुकसान

नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े आईपीओ (LIC IPO) जारी होने के बाद बात करें तो सरकारी बीमा कंपनी एलआईसी…

LIC IPO: लिस्टिंग के पहले ही जीएमपी हुआ धड़ाम, निवेशकों को झेलना पड़ सकता है नुकसान

नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े आईपीओ (LIC IPO) जारी होने के बाद बात करें तो सरकारी बीमा कंपनी एलआईसी के शेयर (LIC Share Listing) कल मंगलवार को बाजार में लिस्ट होने जा रहा है। रिकॉर्ड 6 दिनों तक खुलने वाले एलआईसी के आईपीओ को लगभग हर कैटेगरी में बढ़िया रिस्पॉन्स मिलना शुरू हो गया है। बीते सप्ताह देखा जाए तो एलआईसी के शेयर भी अलॉट (LIC IPO Share Allotment) कर दिया गया है। जिन्हें शेयर मिलना शुरू हो गए हैं, उनके डीमैट अकाउंट (Demat Account) में आज यानी सोमवार को क्रेडिट होने के लिए तैयार हो गया है।

वहीं आईपीओ में सफल हुए इन्वेस्टर्स के लिए लिस्टिंग से पहले तगड़ा झटका लग गया गया है। ग्रे मार्केट में एलआईसी आईपीओ का प्रीमियम (LIC IPO) लिस्टिंग से पहले और गिरना शुरू हो गया है। जिससे डिस्काउंट पर लिस्टिंग के संकेत मिल रहा है।

लिस्टिंग से पहले कम हो गया जीएमपी

लिस्टिंग के एक दिन पूर्व सोमवार को एलआईसी आईपीओ में जीएमपी शून्य से 25 रुपये तक गिरावट हो चुकी है। एक समय यह ग्रे मार्केट में 92 रुपये के प्रीमियम के साथ ट्रेड होना शुरू हो गया था। टॉप शेयर ब्रोकर (Top Share Broker) के आंकड़ों के मुताबिक, अभी एलआईसी आईपीओ का ग्रे मार्केट प्रीमियम (LIC Grey Market Premium) शून्य से 15 रुपये नीचे पहुंच चुका है। वहीं आईपीओ वॉच (IPO Watch) पर एलआईसी आईपीओ का जीएमपी निगेटिव में 25 रुपये तक हो चुका है।

जानकारी के मुताबिक देश के सबसे बड़े आईपीओ में 16,20,78,067 शेयर ऑफर करने का कार्य हुआ है और इनके लिए 47,83,25,760 बोलियां प्राप्त कर दी गई है। पॉलिसी होल्डर्स की कैटेगरी में आईपीओ को 6.12 गुना सब्सक्राइब किया जा चुका है। इसी तरह एलआईसी के कर्मचारियों (LIC Employees) के लिए रिजर्व रखे गए हिस्से को 4.4 गुना सब्सक्राइब हो चुका है। रिटेल इन्वेस्टर्स (Retail Investors) का हिस्सा भी 1.99 गुना सब्सक्राइब किया जा चुका है। इनके अलावा QIB के लिए रखे गए हिस्से को 2.83 गुना और NII के हिस्से को 2.91 गुना सब्सक्राइब करने की पहल हो चुकी है। कुल मिलाकर एलआईसी आईपीओ को 2.95 गुना सब्सक्रिप्शन मिलना शुरू हो गया है।

LIC बन जाएगी पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी

बीएसई (BSE) और एनएसई (NSE) पर डिस्काउंट लिस्टिंग होने के बावजूद एलआईसी का मार्केट कैप (LIC MCap) 6 लाख करोड़ रुपये से अधिक होने का संकेत मिल चुका है। अगर ऐसा हो जाता है तो एलआईसी बाजार में लिस्ट होने के साथ भारत की पांचवीं सबसे बड़ी पब्लिक कंपनी बनने जा रही है।

Related Post