Friday, 14 June 2024

Petrol-CNG Price: पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं हुआ बदलाव, कल बढ़ोतरी के बाद सीएनजी रेट भी रहा स्थिर

नई दिल्ली: तेल कंपनियों में आज भी पेट्रोल और डीजल (Petrol-CNG Price) के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई…

Petrol-CNG Price: पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं हुआ बदलाव, कल बढ़ोतरी के बाद सीएनजी रेट भी रहा स्थिर

नई दिल्ली: तेल कंपनियों में आज भी पेट्रोल और डीजल (Petrol-CNG Price) के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। वहीं सीएनजी की कीमत में भी आज कोई बदलाव नहीं हुआ हालांकि कल सीएनजी में 2.20 रुपये की वृद्धि कर दी गई थी। पुणे में इस महीने चौथी बार शुक्रवार से सीएनजी की कीमतों में बढ़ोतरी की गई है। सीएनजी की दरों में 2.20 रुपए की बढ़ोतरी होने के बाद 77.20 रुपए प्रति किलोग्राम हो गई हैं।

दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल (Petrol-CNG Price) 105.41 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल 96.67 रुपये प्रति लीटर पर मौजूद है। वहीं मुंबई में पेट्रोल की कीमत 120.51 रुपये व डीजल की कीमत 104.77 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गई है।

कोलकाता में पेट्रोल का दाम 115.12 रुपये हो गया है जबकि डीजल का दाम 99.83 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच चुका है। वहीं चेन्नई में भी पेट्रोल 110.85 रुपये प्रति लीटर तो डीजल 100.94 रुपये प्रति लीटर हो गया है। जानकारी के मुताबिक पिछले वर्ष 4 नवंबर के बाद देखा जाए तो इन दोनों ईंधन के मूल्य में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई थी।

अंतरराष्ट्रीय बाजार की बात करें तो कच्चे तेल का भाव 112 डॉलर प्रति बैरल पहुंचने के बाद रविवार को तेल कंपनियों ने डीजल के थोक खरीदारों को लेकर मूल्य में 25 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी कर दिया था। तेल डीलरों ने जानकारी दिया है कि खुदरा मूल्य में धीरे-धीरे बढ़ोतरी हुई थी।

जानें प्रमुख महानगरों में कितनी पहुंच गई है कीमत

शहर डीजल पेट्रोल
दिल्ली 96.67 105.41
मुंबई 104.77 120.51
कोलकाता 99.83 115.12
चेन्नई 100.94 110.85

जानकारी के मुताबिक प्रतिदिन सुबह छह बजे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। सुबह छह बजे से ही नई दरें लागू करना शुरु कर दिया जाता है। पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना होता है।

इन्हीं मानकों के आधार पर पेट्रोल रेट और डीजल रेट रोज तय करने का काम तेल कंपनियां द्वारा किया जाता है। डीलर पेट्रोल पंप चलाने वाले लोग होते हैं। वे खुद को खुदरा कीमतों पर उपभोक्ताओं के अंत में देखा जाए तो करों और अपने स्वयं के मार्जिन जोड़ने के बाद पेट्रोल बेचने का काम होता है। पेट्रोल रेट और डीजल में यह कॉस्ट भी जुड़ना शुरु हो जाती है।

Related Post