Friday, 14 June 2024

किसान रिहा न हुए तो जेल भरो आंदोलन

कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा नोएडा (चेतना मंच)। सरकार के इशारे पर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किसानों…

किसान रिहा न हुए तो जेल भरो आंदोलन

कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा

नोएडा (चेतना मंच)। सरकार के इशारे पर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किसानों व उनकी आवाज उठाने वाले कांग्रेस नेताओं की रिहाई के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आज सेक्टर 19 स्थित नगर मजिस्ट्रेट कार्यालय पर जमकर प्रदर्शन किया तथा राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन भी सौंपा।

महानगर अध्यक्ष शाहबुद्दीन ने संबोधित करते हुए कहा कि सरकार लाठी तथा संगीनों के दम पर किसानों की आवाज को दबाने पर आमादा है। हक की आवाज उठाने वाले किसानों तथा उनकी आवाज बुलंद करने वाले कांग्रेसी नेताओं को जेल भेज दिया गया। जिसे कांग्रेस बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि अगर किसान नहीं माने तो इन्हें भी हिरासत में लिया जाएगा।

यह आंदोलन भारतीय किसान परिषद के अध्यक्ष सुखबीर खलीफा के नेतृत्व में किया जा रहा है हालांकि सुखबीर खलीफा जेल में बंद हैं।
गौरतलब हो कि भारतीय किसान परिषद के नेतृत्व में 81 गांवों के किसानों ने 1 सितंबर को प्राधिकरण कार्यालय के पास प्रदर्शन किया था। इस दौरान बड़ी संख्या में किसानों को गिरफ्तार किया गया था। किसानों के धरना प्रदर्शन के चलते आज तीसरे दिन भी प्राधिकरण के आसपास भारी पुलिस बल तैनात रहा। किसान प्राधिकरण में न घुस पाए इसको लेकर ग्राम हरौला के शर्मा मार्केट के रास्ते एवं उद्योग मार्ग वाले रास्तों को बंद कर रखा था। जिसका गांव में आने जाने वालों ने विरोध किया था। जिसके चलते आज कई रास्तों को खोल दिया गया।

इसके बावजूद किसानों से निपटने के लिए एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह , एसीपी रजनीश वर्मा, एसीपी अंकिता शर्मा, थाना सेक्टर-20 के थाना प्रभारी मुनेश कुमार चौहान, थाना सेक्टर-24 के थाना प्रभारी सुधीर कुमार, थाना सेक्टर-58 के थाना प्रभारी अनिल कुमार राजपूत, थाना फेस-3 के थाना प्रभारी विवेक त्रिवेदी, थाना सेक्टर-49 के थाना प्रभारी विनोद कुमार, थाना सूरजपुर के थाना प्रभारी अजय कुमार , आदि थानों के प्रभारी एवं पुलिसकर्मी भारी संख्या में प्राधिकरण कार्यालय के आसपास मौजूद रहे। वहीं गिरफ्तार किए गए किसानों की अभी तक रिहाई नहीं हुर्ई है। आज कोर्ट परिसर सूरजपुर में भी भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। यहां किसानों के पहुंचने की उम्मीद की जा रही हैं।

Related Post