Saturday, 13 April 2024

का़ड की बैठक में 24 सितंबर को पहुँचेंगे प्रधानमंत्री

नई दिल्ली :क्वाड देश अब चीन के खिलाफ लामबंद होना शुरू हो चुका है। अमेरिका में 24 सितंबर को क्वाड…

का़ड की बैठक में 24 सितंबर को पहुँचेंगे प्रधानमंत्री

नई दिल्ली :क्वाड देश अब चीन के खिलाफ लामबंद होना शुरू हो चुका है। अमेरिका में 24 सितंबर को क्वाड की पहली इन-पर्सन समिट होने की शुरुआत हो रही है। वॉशिंगटन में होने वाली इस समिट की मेजबानी में पहली दफा अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन करने जा रहे हैं। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ऑस्ट्रेलियाई PM स्कॉट मॉरीसन और जापानी PM योशिहिदे सुगा भी शामिल हो सकते हैं। मोदी 25 अगस्त को संयुक्त राष्ट्र की महासभा में भाषण भी देने जा रहे हैं।

समिट में 12 मार्च को हुई क्वाड की वर्चुअल बैठक तय होने वाले एजेंडों की तरक्की पर बात की जा रही है। इसके साथ कोविड-19, जलवायु परिवर्तन, नई तकनीकें, साइबरस्पेस और इंडो-पैसेफिक क्षेत्र को मुक्त रखने जैसे मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने पर फोकस किया जाना वाला है। ग्रुप का गठन 2007 में किया गया था, लेकिन ऐसा पहली बार चारों देश एक साथ इन पर्सन बैठक करने वाला है। कोरोनाकाल में प्रधानमंत्री मोदी का यह दूसरा विदेश दौरा हुआ है।

चीन पर नकेल कसेंगे क्वाड देश

पिछली क्वाड बैठक 12 मार्च 2021 को वर्चुअली की गई थी। यह क्वाड की पहली बैठक हुई थी। इसमें चीन को कई मोर्चों पर घेरने की रणनीति बनाने की तैयारी की गई। चीन की वैक्सीन पॉलिसी को काउंटर करने के लिए अमेरिका ने गरीब देशों को वैक्सीन सप्लाई करने पर सहमति जताई गई।

वैक्सीन प्रोडक्शन बढ़ाने पर बनी थी सहमति

चारों देशों ने वैक्सीन बनाने के अपने संसाधनों को साझा करने पर सहमति जताई गई है। इसको लेकर बताया गया है कि कि चारों देशों के पास वैक्सीन बनाने की जो क्षमताएं मौजूद हैं, उन्हें और बढ़ाने का काम किया जाएगा।

बाइडेन ने मैकेनिज्म लाने की कही बात

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने जानकारी दिया कि कि US इंडो पैसेफिक में सभी सहयोगियों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हो गया है। उन्होंने बताया कि कि अमेरिका क्लाइमेट चेंज की चुनौतियों से निपटारा पाने के लिए आपसी सहयोग बढ़ाने के लिए एक नया मैकेनिज्म लाने की योजना दी गई है।

Related Post