Tuesday, 28 May 2024

CAG Report: मोदी राज में 7 बड़े घोटाले, CAG रिपोर्ट से हुआ खुलासा, कॉंग्रेस ने मोदी सरकार पर उठाए सवाल

CAG Report: अगले साल देश में आम चुनाव होने हैं, विपक्षी दल अभी तक महंगाई, बेरोजगारी आदि जनता से जुड़े…

CAG Report: मोदी राज में 7 बड़े घोटाले, CAG रिपोर्ट से हुआ खुलासा, कॉंग्रेस ने मोदी सरकार पर उठाए सवाल

CAG Report: अगले साल देश में आम चुनाव होने हैं, विपक्षी दल अभी तक महंगाई, बेरोजगारी आदि जनता से जुड़े बड़े मुद्दों पर सरकार को घेरने में नाकाम रहे हैं। अविश्वास प्रस्ताव लाकर सरकार को घेरने की विपक्ष रणनीति भी कारगर साबित नहीं हुई। लेकिन अब सीएजी रिपोर्ट (CAG Report) ने उन्हें सरकार को कटघरे में खड़ा करने का एक बड़ा मौका दे दिया है । इस रिपोर्ट में कई योजनाओं में घोटाले की बात उजागर हुई है।

कॉंग्रेस ने रिपोर्ट के आधार पर सरकार को घेरा

CAG Report: सीएजी रिपोर्ट आने और इस रिपोर्ट में कई योजनाओं में घोटाले की बात पर सवाल उठाए जाने के बाद कॉंग्रेस (Congress) को अब सरकार को घेरने का एक बड़ा मुद्दा मिल गया है। कॉंग्रेस नेत्री सुप्रिया श्रीनेत (Supriya Shrinate) ने इस रिपोर्ट को लेकर पीएम मोदी पर तंज़ कसा है।

सुप्रिया श्रीनेत ने तंज़ कसते हुए कहा कि “एक संस्था ईमानदार प्रधानमंत्री को भ्रष्ट करार दे रही है। पीएम को इसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए। इसके खिलाफ ईडी, सीबीआई और इन्कम टैक्स डिपार्टमेन्टों को लगाकर इसे सबक सिखाना चाहिए। पीएम मोदी (PM Modi) की छवि धूमिल करने वाली इस संस्था को देश द्रोही करार देना चाहिए, इन्हें जेल भेज देना चाहिए।”

आगे अपना तंज़ जारी रखते हुए कहा “इस संस्था की इतनी हिम्मत कैसे हुई जो आपके ऊपर सवाल उठाए। इस देशद्रोही संस्था पर ताला लगवा दीजिए। लेकिन मोदी जी कोई तो है, जो आपकी छवि बिगड़ रहा है। आपको उससे सावधान रहने की जरूरत है। लगता है सीएजी को ऐसा लग रहा है कि आपकी अगले चुनाव में वापसी नहीं होगी। इसलिए उसने आप पर सवाल खड़े किए हैं?”

CAG Report: क्या कहा गया है सीएजी रिपोर्ट में

CAG Report: भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) द्वारा हाल ही में पेश हुई रिपोर्ट में 7 योजनाओं में गड़बड़ी का खुलासा किया गया है। ये योजनाएँ हैं भारतमाला प्रोजेक्ट-1, द्वारका एक्सप्रेस वे, अयोध्या विकास परियोजना, आयुष्मान भारत योजना, NHAI टोल योजना, एचएएल (HAL) में डिजाइन और निर्माण में खामी और ग्रामीण विकास विभाग द्वारा पेंशन के पैसे का प्रचार के लिए उपयोग करने का खुलासा किया गया है।

CAG Report: इन योजनाओं को लेकर उठ रहे हैं सवाल

CAG Report: दिल्ली में बन रहे द्वारका एक्सप्रेस-वे (Dwarka Expressway) पर CAG रिपोर्ट ने कई अहम सवाल खड़े किए हैं. सीएजी रिपोर्ट में कहा गया है कि इस सड़क की लागत कई गुना है। रिपोर्ट के मुताबिक कहा गया है कि कैबिनेट ने इस सड़क के लिए 18.20 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर का बजट प्रस्तावित किया था, लेकिन इसके लिए 251 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर का बजट पारित किया गया।

द्वारका एक्सप्रेसवे के निर्माण की लागत CCEA की ओर से स्वीकृत राशि से 14 गुना ज्यादा हो गई। इसके कारण इस प्रोजेक्ट का कॉस्ट बढ़कर 7,287.29 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। द्वारका एक्सप्रेसवे बनना था इसमें खूब भ्रष्टाचार हुआ, 2 किलोमीटर सड़क बनने में 500 करोड़ लग गए, जितने में चंद्रयान चला गया।

CAG Report: इसी तरह NHAI टोल योजना को लेकर भी कई तरह की गड़बड़ियों के कई खुलासे हुए हैं, जिनमें 50 में से 35 प्रोजेक्ट ऐसे हैं, जहां टेंडर से जुड़ी प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है। कुछ परियोजनाएं हैं, जहां परियोजना मूल्यांकन-तकनीकी जांच समिति में नीति आयोग के किसी भी सदस्य को शामिल नहीं किया गया था। सीएजी ने कुछ टोल प्लाजा का ऑडिट किया, जिसमें ये पता चला कि लोगों से 132 करोड़ गलत तरीके से लूट लिए गए।

CAG Report: अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है, उसके डेवलपमेंट प्रोजेक्ट में खूब धांधली हो रही है। सिंचाई विभाग ने अयोग्य लोगों को ठेका दे दिया है। इस रिपोर्ट में केंद्र सरकार की स्वदेश दर्शन योजना के तहत उत्तर प्रदेश में अयोध्या विकास परियोजना के कार्यान्वयन में ठेकेदारों को अनुचित लाभ देने सहित कई अनियमितताएं पाई हैं। रिपोर्ट के अनुसार यही नहीं इसी तरह ठेकेदारों को 6 राज्यों में इस तरह की परियोजनाओं में 19.73 करोड़ रुपये का अनुचित लाभ दिया गया।

CAG Report: इसके अलावा केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Scheme) में भी CAG ने भारी मात्रा में गड़बड़ी का खुलासा किया है। इस योजना के तहत ऐसे मरीजों को भी लाभ मिल रहा है, जो पहले ही मर चुके हैं। 88 हजार मृत लोगों के नाम से क्लेम पास हो गए। ये पैसे किसके खाते में गए? यहीं नहीं इस योजना के 7.5 लाख से ज्यादा लाभार्थी तो सिर्फ एक ही मोबाइल नंबर से जुड़े हुए पाए गए हैं।

CAG Report: यही नहीं इसके अलावा भारतमाला प्रोजेक्ट की अन्य योजनाओं में भी इसी तरह की अनियमितताओं की बात कही गई है। भारतमाला प्रोजेक्ट में करीब 70-75 हजार किलोमीटर की सड़क बनी थी। इसके लिए कैबिनेट कमेटी इन इकोनॉमिक अफेयर ने फंड दिया गया। लेकिन सड़क बनाने में भी खूब घोटाला हुआ। जो सड़क 15 करोड़ 37 लाख रुपए प्रति किलोमीटर के हिसाब से बननी थी, वो 32 करोड़ के हिसाब से बनकर तैयार हुई।

CAG Report: साथ ही एचएएल (HAL) में डिजाइन और निर्माण में खामी को लेकर भी गड़बड़ी की बात कही गई है। बताया जा रहा है इसी तरह HAL में 154 करोड़ का राजस्व नुकसान हुआ है। इसके अतिरिक्त ग्रामीण विकास विभाग द्वारा लोगों के पेंशन के पैसे का उपयोग प्रचार के लिए करने का खुलासा भी हुआ है। वृद्धा, विकलांग, विधवा पेंशन का पैसा सरकारी प्रचार-प्रसार में खर्च में कर दिया गया।

CAG Report

अगली खबर

किसानों के साथ सहानुभूति रखें व आम जनता के साथ संवेदनशीलता बरतें : डा. लोकेश एम

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

#CAG Report #Congress #Supriya Shrinate #cag #PM Modi #Ayushman Bharat Scheme

Related Post