Tuesday, 28 May 2024

UP Election 2022: 5वें चरण में इन दिग्गज नेताओं की किस्मत दांव पर, विस्तार से देखे

UP Election 2022: जनवरी माह में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की घोषणा हुई और अबतक चार चरण का चुनाव खत्म…

UP Election 2022: 5वें चरण में इन दिग्गज नेताओं की किस्मत दांव पर, विस्तार से देखे

UP Election 2022: जनवरी माह में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की घोषणा हुई और अबतक चार चरण का चुनाव खत्म हो चुका है। अब बारी 5 वें चरण में पूर्वांचल और अवध की है।

यूपी के 7 चरणों के चुनाव में सबसे ज्यादा सीटें इसी 5 वे चरण में है। 5 वे चरण के 12 जिलों की 61 विधान सभा सीटों पर 27 फरवरी को मतदान होने जा रहा है।

इस चरण में 692 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमाने मैदान में उतरे हैं। 5 वे चरण में भगवान श्रीराम के अयोध्या से लेकर चित्रकूट और प्रयागराज जैसे धार्मिक नगरी में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच सियासी संग्राम होने जा रहां हैं।

>> यह भी पढ़े:- सीबीआई कोर्ट ने लालू यादव को 5 साल की सजा सुनाई…

भारतीय जनता पार्टी के लिए अपने दुर्ग को बचाए रखने की चुनौती है तो समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस सत्ता की वापसी दारोमदार इसी 5 वे चरण में टिका है।

सूबे के बदले हुए सियासी समीकरणों में भारतीय जनता पार्टी के सामने पिछली बार की तरह नतीजे दोह राना आसान नहीं होगा।

तो समाजवादी पार्टी गठबंधन के लिए भी चुनौतियां कम नहीं हुई है। ऐसे में सबसे बड़ी चुनौती कांग्रेस के सामने अमेठी और रायबरेली में है। अमेठी में राहुल गांधी को 2019 में लोकसभा चुनाव में हार का मूंह देखना पड़ा था।

>> यह भी पढ़े:- रूस और यूक्रेन में गहराता विवाद, अमेरिका ने लगाई पाबंदियां

ऐसे में कांग्रेस हरहाल में अपनी अमेठी में वापसी करना चाहेगी। बहुजन समाज पार्टी भी इस चरण में अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए बेताब है।

उत्तर प्रदेश के 5 वें चरण में अयोध्या के साथसाथ गांधी परिवार का गढ़ अमेठी जिले की सीटों पर सियासी दलों की परीक्षा देखनी होगी। तो रायबरेली जिले की भी सीट भी 5 वे चरण में है।

UP Election 2022 में राजा भैया की अग्निपरीक्षा होगी

प्रतापगढ़ की सियासत के बेताज बादशाह कहे जाने वाले कुंडा से अपक्ष विधायक राजा भैया उर्फ़ रघुराज प्रताप सिंह इस बार अपनी जन सत्ता पार्टी से चुनाव के मैदान में उतरे हैं।

मां – बहन दोनों ही समाजवादी पार्टी से गठबंधन कर चुनाव लड़ रही हैं जबकि अनुप्रिया पटेल भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर चुनावी मैदान में उतरी है।

वही अयोध्या सीट पर समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता पवन पांडेय उर्फ़ तेज नारायण पांडेय की किस्मत दांव पर लगी। तो रामपुर की खास सीट पर कांग्रेस से आराधना मिश्रा प्रत्यशी हैं।

आपको बता दू, आराधना मिश्रा ये प्रमोद तिवारी की बेटी हैं और 2 बार से विधायक रही हैं।

>> यह भी पढ़े:- यूपी में आज चौथे चरण की वोटिंग शुरू, लखीमपुर खीरी पर फोकस

अनुप्रिया पटेल की मां चुनावी मैदान में

5 वें चरण में केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की माँ कृष्णा पटेल प्रतापगढ़ सदर और अनुप्रिया पटेल की बहन पल्लवी पटेल सिराथू सीट पर चुनावी मैदान में उतरी है।

माँ और बहन दोनों ही समाजवादी पार्टी गठबंधन से चुनाव लड़ रही हैं जबकि अनुप्रिया पटेल भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर चुनावी मैदान में है।

>> यह भी पढ़े:- लखीमपुर खीरी में वोटिंग बाधित, शरारती तत्वों ने EVM में डाला फेविक्विक

Related Post