Monday, 24 June 2024

अमेरिका तक पहुंचा अरविंद केजरीवाल का मामला, आया अमेरिका का बयान

USA News : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है । अब अरविंद…

अमेरिका तक पहुंचा अरविंद केजरीवाल का मामला, आया अमेरिका का बयान

USA News : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है । अब अरविंद केजरीवाल का मामला अमेरिका USA तक पहुंच गया है । अमेरिका की सरकार ने अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी पर बाकायदा आधिकारिक बयान जारी किया है।  सबको पता है कि भारत की राजनीति में अमेरिका की हमेशा दिलचस्पी रही है। अमेरिका में अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी की खूब चर्चा हो रही है।  अमेरिका से पहले जर्मनी से भी अरविंद केजरीवाल के मामले में प्रतिक्रिया आ चुकी है। 

 अमेरिका से आई प्रतिक्रिया:

दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी पर अमेरिका USA की आधिकारिक प्रतिक्रिया सामने आई है । अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि हम मुख्यमंत्री केजरीवाल के निष्पक्ष, पारदर्शी और समयबद्ध कानूनी प्रक्रिया की उम्मीद करते हैं. दरअसल केजरीवाल की गिरफ्तारी पर जर्मनी के बयान के बाद भारत ने जर्मनी के राजदूत को तलब कर कड़ी नाराजगी जताई थी. इस घटनाक्रम के बाद ही अमेरिका की इस मामले पर प्रतिक्रिया आई है. केजरीवाल की गिरफ्तारी पर जर्मनी के विरोध पर भारत की आपत्ति के बारे में पूछने पर अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि इसके लिए आपको जर्मनी के विदेश मंत्रालय से बात करनी होगी कि उनकी भारत सरकार के साथ क्या बातचीत रही.

 जर्मनी ने भी दी प्रतिक्रिया

USA News
शराब घोटाले में केजरीवाल की गिरफ्तारी पर जर्मनी ने कहा था कि इस मामले में पूरी कार्रवाई निष्पक्ष होनी चाहिए और सीएम केजरीवाल को बिना किसी प्रतिबंध के कानूनी रास्ते अपनाने का हक मिलना चाहिए. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कानून के शासन और मूलभूत सिद्धांत पर भी जोर दिया था. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सेबेस्टियन फिशर से जब केजरीवाल के मामले के पूछा गया था तो उन्होंने कहा था कि हमने संज्ञान लिया है. भारत एक लोकतांत्रिक देश है. हम मानते हैं और उम्मीद करते हैं कि न्यायपालिका की स्वतंत्रता और बुनियादी लोकतांत्रिक सिद्धांतों से संबंधित मानक इस मामले में भी लागू किए जाएंगे. केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर किए गए जर्मनी के कमेंट पर भारत ने कड़ा ऐतराज जताया था. भारत ने जर्मनी के राजदूत को तलब करते हुए अपनी कड़ी नाराजगी व्यक्त की थी. जर्मन मिशन के डिप्टी चीफ जॉर्ज एनजवीलर को बुलाकर अपना कड़ा विरोध दर्ज कराते हुए कहा था कि जर्मनी की टिप्पणी भारत के आंतरिक मामले में अनुचित हस्तक्षेप है।USA News

केजरीवाल ने जारी किया दूसरा निर्देश, जेल के अंदर से ही चला रहे सरकार

 

Related Post