Tuesday, 25 June 2024

पश्चिम बंगाल: डीजीपी का फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाने वाला राजस्थान से गिरफ्तार, 19 तक भेजा गया हिरासत में

पश्चिम बंगाल पुलिस के डीजीपी मनोज मालवीय का फर्जी प्रोफाइल बनाने वाला एक शख्स गिरफ्तार हुआ है। उसे 19 नंवबर तक हिरासत के लिए भेज दिया गया है।

पश्चिम बंगाल: डीजीपी का फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाने वाला राजस्थान से गिरफ्तार, 19 तक भेजा गया हिरासत में

कोलकाता: पश्चिम बंगाल पुलिस के डीजीपी मनोज मालवीय का एक फर्जी फ्रोफाइल बनाने को लेकर एक शख्स को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि युवक ने डीजीपी मनोज मालवीय का फर्जी प्रोफाइल बनाकर जान पहचान लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजता था। हालांकि उसने डीजीपी का फ्रोफाइल क्यों बनाया है और लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट क्यों भेजता था, इसका अभी खुलासा नहीं हो पाया है।

पुलिस ने डीजीपी के फर्जी फ्रोफाइल को डिलीट भी कर दिया है। यह कोई पहला मामला नहीं है जब किसी सरकारी अधिकारी का फर्जी फ्रोफाइल बनाया गया है, बल्कि इससे पहले भी ऐसे मामले आ चुके है।

क्या है पूरा मामला

कुछ दिन पहले लालबाजार के साइबर क्राइम थाने को यह शिकायत मिली थी कि किसी शख्स ने डीजीपी मनोज मालवीय का फर्जी प्रोफाइल तैयार किया है और उससे उनके पहचान वालों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भी भेज रहा है। पुलिस को इसकी शिकायत डीजीपी के निजी सहायक ने की थी।

ऐसे में शिकायत मिलने के बाद लालबाजार का साइबर क्राइम थाना जांच में जुट गई थी। जानकारी मिलने के बाद पुलिस की एक टीम राजस्थान के जयपुर पहुंची थी। पुलिस ने यहां के उदयपुर से 29 साल के गणेश लाल को गिरफ्तार किया है। गणेश लाल को राजस्थान से कोलकाता लाकर उसे बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया है जिसे 17 नंवबर तक हिरासत के लिए भेज दिया गया है।

फर्जी फ्रोफाइल से नहीं हुआ है कोई नुकसान

हालांकि फर्जी फ्रोफाइल बनाकर डीजीपी के परिचित लोगों के साथ दोस्ती करने की कोशिश तो की गई थी लेकिन इससे कुछ नुकसान नहीं हुआ है। यही नहीं इस फर्जीवाड़े से किसी आर्थिक नुकसान होने की भी खबर नहीं है।

Related Post