Sunday, 16 June 2024

Success story- IAS श्रृष्टि देशमुख का सफलता मंत्र, पहले प्रयास में हासिल की यूपीएससी में सफलता

यूपीएससी, एक ऐसी प्रतियोगी परीक्षा जिसको उत्तीर्ण करने के बाद पूरा होता है, देश के सबसे बड़े अधिकारी बनने का…

Success story- IAS श्रृष्टि देशमुख का सफलता मंत्र, पहले प्रयास में हासिल की यूपीएससी में सफलता

यूपीएससी, एक ऐसी प्रतियोगी परीक्षा जिसको उत्तीर्ण करने के बाद पूरा होता है, देश के सबसे बड़े अधिकारी बनने का सपना। लगभग हर युवा इस सपने को देखता है। लेकिन सपने उसी के पूरे होते हैं जो पूरी मेहनत, लगन और ईमानदारी के साथ प्रयत्नशील रहता है। यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थी, अपने साथ-साथ अपने पूरे परिवार, जिला यहां तक कि राज्य का नाम रोशन करते हैं। इसके साथ ही वह लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बन जाते हैं।
आज के इस पोस्ट में हम एक ऐसी आईएएस ऑफिसर की कहानी आपके सामने लेकर आए हैं, जिन्होंने पहले ही प्रयास में यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा में सफलता हासिल की और आईएएस ऑफिसर बनने का अपना सपना पूरा किया। यहां हम बात कर रहे हैं आईएएस ऑफिसर श्रृष्टि देशमुख की।

मध्य प्रदेश राज्य के भोपाल जिले की रहने वाली श्रृष्टि देशमुख शुरुआत से ही पढ़ाई में अव्वल थी। इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी करने के बाद श्रृष्टि ने इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला ले लिया। लेकिन इंजीनियरिंग के दौरान ही तीसरे वर्ष में इनके मन में सिविल सेवा में कैरियर बनाने का ख्याल आया। और इसी दौरान इन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। इंजीनियरिंग कंप्लीट करने के बाद इन्होंने जॉब करने के बजाय अपना पूरा ध्यान यूपीएससी की तैयारी में लगाना शुरू किया। पहले ही प्रयास में श्रृष्टि ने यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल कर ली।

श्रृष्टि ने साल 2018 में ऑल इंडिया 5 वीं रैंक के साथ यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण की। और आईएएस ऑफिसर बनने का सपना पूरा किया।

यूपीएससी की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए श्रृष्टि की सलाह है कि -यदि बेहतर स्टडी मैटेरियल और सही रणनीति के साथ यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी की जाए तो इसमें सफलता आसानी से मिल जाती है। श्रृष्टि का मानना है कि किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को नकारात्मक लोगों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए।इनका मानना है कि नकारात्मक विचार वाले लोग आपकी सफलता की राह में बाधा बन सकते हैं।

इसके साथ ही श्रृष्टि का मानना है कि यूपीएससी की तैयारी करने वाले छात्रों को खुद को फिजिकली एवं मेंटली खुद को फिट रखना चाहिए। और इसके लिए पढ़ाई के साथ-साथ योग और मेडिटेशन भी करते रहना चाहिए।

Related Post