Saturday, 25 May 2024

No Confidence Motion: आखिर आज कांग्रेस को क्यों याद आए वाजपेयी, गोगोई ने अविश्वास प्रस्ताव पेश करते हुए किया याद

No Confidence Motion: मणिपुर हिंसा को लेकर सरकार के खिलाफ विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव आज लोकसभा में पेश किया गया।…

No Confidence Motion: आखिर आज कांग्रेस को क्यों याद आए वाजपेयी, गोगोई ने अविश्वास प्रस्ताव पेश करते हुए किया याद

No Confidence Motion: मणिपुर हिंसा को लेकर सरकार के खिलाफ विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव आज लोकसभा में पेश किया गया। इस प्रस्ताव को रखते हुए कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने इस पर चर्चा की शुरुआत की। इस प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उन्होने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया। आखिर ऐसा क्या हुआ कि कांग्रेस को आज अचानक अपने विरोधी नेता वाजपेयी को याद करने की जरूरत पड़ी।

No Confidence Motion: अविश्वास प्रस्ताव पेश करते हुए गौरव गोगोई को पूर्व पीएम वाजपेयी की याद आई

विपक्ष की ओर से मणिपुर हिंसा (Manipur Violence) को लेकर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आज लोकसभा में पेश हुआ। इस प्रस्ताव को कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई (Gaurav Gogoi) ने रखा। इस प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं और अन्य विपक्षी नेताओं का जिक्र तो किया ही, साथ ही साथ पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी को भी याद किया।

अटल जी को याद करने की उनकी वजह ये थी कि अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) ने अपनी सरकार के समय हुए गुजरात दंगों में अपनी प्रदेश सरकार के गलत आचरण पर उसके खिलाफ भी आवाज उठाई थी। पार्टी से ऊपर उठकर देश को पहले प्राथमिकता देने के कारण सिद्धांतवादी वाजपेयी जी को विरोधियों से भी इस कदम को लेकर सराहना मिली थी।

No Confidence Motion
No Confidence Motion

आज इसीलिए मणिपुर की घटना को लेकर गोगोई ने प्रधानमंत्री मोदी को पूर्व पीएम वाजपेयी का राज धर्म याद दिलाया। गोगोई ने कहा कि आपको भी पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी जी की तरह राज धर्म का पालन करना चाहिए और स्थिति को काबू करने में नाकाम रहे मणिपुर के मुख्यमंत्री सीएम वीरेन सिंह को बर्खास्त कर देना चाहिए।

No Confidence Motion: क्या कहा था प्रधानमंत्री वाजपेयी ने तब प्रदेश सरकार को ?

गुजरात में जब 2002 में दंगे हुए थे, तब प्रधानमंत्री वाजपेयी ने वहाँ जाकर स्थिति का जायजा लिया था। उस समय वर्तमान पीएम नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। प्रधानमंत्री ने प्रदेश सरकार के उस स्थिति से निबटने के तरीके पर अपनी नाराजगी जताई थी। उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को राज धर्म याद दिलाया था।

वाजपेयी जी ने कहा था कि आपको राजधर्म का पालन करना चाहिए। राजधर्म में किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जाता। पीड़ित चाहें किसी भी जाति, धर्म, क्षेत्र, वर्ग का हो, उसे न्याय मिलना ही चाहिए। अटल बिहारी वाजपेयी की इस बात के लिए सराहना किए बिना विरोधी भी नहीं रह सके। उन्होंने भी इस कदम के लिए उनकी तारीफ की, इसलिए जब भी

Noida News : लापरवाह पुलिस कर्मियों को लेकर कमिश्नर लक्ष्मी सिंह का सख्त एक्शन, दी ये सजा

Related Post