Friday, 21 June 2024

Amar Jawan Jyoti: अमर जवान ज्योति की लौ बुझी नहीं, बल्कि राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की लौ में विलीन हो गई

Amar Jawan Jyoti: कांग्रेस ने शुक्रवार को केंद्रीय भारतीय जनता पार्टी सरकार पर इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति को बुझाकर और…

Amar Jawan Jyoti: अमर जवान ज्योति की लौ बुझी नहीं, बल्कि राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की लौ में विलीन हो गई

Amar Jawan Jyoti: कांग्रेस ने शुक्रवार को केंद्रीय भारतीय जनता पार्टी सरकार पर इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति को बुझाकर और राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में अमर ज्योति के साथ विलय करके “इतिहास को हटाने” का आरोप लगाया।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि, कुछ लोग देशभक्ति और बलिदान को नहीं समझ सकते हैं, और कहा कि कांग्रेस एक बार फिर अमर जवान ज्योति जलाएगी।

Rahul Gandhi Tweet on Amar Jawan Jyoti
Rahul Gandhi Tweet on Amar Jawan Jyoti

गांधी ने हिंदी में एक ट्वीट में कहा की, “बहुत दुख की बात है कि, हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी, उसे आज बुझा दिया जाएगा।”

इसके आगे राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अपने ट्वीट में लिखते है की, “… कुछ लोग देश प्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते- कोई बात नहीं… हम अपने सैनिकों के लिए अमर जवान ज्योति (Amar Jawan Jyoti) एक बार फिर जलाएँगे!”

राहुल गांधी के ट्वीट के बाद केंद्रीय सरकार के सूत्रों ने कहा कि, “इस मामले कई लोगों तक काफ़ी गलत सूचना गई है। आगे सरकार के सूत्रों ने कहा कि, “अमर जवान ज्योति की लौ को बुझाया नहीं जा रहा है, बल्कि राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में राखी लौ के साथ मिला दिया जा रहा है।”

 >> जरूर पढ़े:- Republic Day 2022: प्रतिबंधों के बीच इस बार अलग होगा गणतंत्र दिवस का जश्‍न, यहां जानिए सब

राहुल गांधी के ट्वीट के बाद भाजपा नेता संबित पात्रा ने भी एक ट्वीट में सरकार के दृष्टिकोण को प्रतिध्वनित किया।

संबित पात्रा (Sambit Patra) ने अपने ट्वीट में कहा, “अमर जवान ज्योति की लौ को लेकर तरह-तरह की भ्रांतियां फैल रही हैं। यहाँ सही दृष्टिकोण है: अमर जवान ज्योति की लौ बुझ नहीं रही है। इसे राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में ज्वाला में विलीन किया जा रहा है।”

इसके आगे संबित पत्रा लिखते है, “यह देखना अजीब था कि अमर जवान ज्योति (Amar Jawan Jyoti) की लौ ने 1971 और अन्य युद्धों के शहीदों को श्रद्धांजलि दी लेकिन उनका कोई नाम वहां मौजूद नहीं है।”

Sambit Patra Tweet on Amar Jawan Jyoti
Sambit Patra Tweet on Amar Jawan Jyoti

भारत सरकार के सूत्रों ने कहा कि, अमर जवान ज्योति की लौ के बारे में काफी गलत सूचनाएँ प्रसारित की जा रही हैं। “अमर जवान ज्योति की लौ को बुझाया नहीं जा रहा है।” बल्की लौ को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के साथ मिला दिया जाएगा।

 >> जरूर पढ़े:- Aparna Yadav Joined BJP: मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव भाजपा में शामिल

सूत्रों ने आगे कहा कि, यह देखना अजीब था कि अमर जवान ज्योति में 1971 और अन्य युद्धों के शहीदों का जश्न मनाया गया, लेकिन उनके नामों का कोई उल्लेख नहीं था, भारत सरकार के सूत्रों ने आगे कहा।

उन्होंने कहा कि इंडिया गेट पर अंकित नाम केवल कुछ शहीदों का उल्लेख करते हैं, जो प्रथम विश्व युद्ध और एंग्लो-अफगान युद्ध में अंग्रेजों के लिए लड़े थे और इसलिए ये हमारे औपनिवेशिक अतीत के प्रतीक हैं।

1971 और उसके पहले और बाद के युद्धों सहित अन्य सभी युद्धों के सभी भारतीय शहीदों की सूची राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में पाई जा सकती है। इस प्रकार, शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए वहां की लौ का होना एक सच्ची ‘श्रद्धांजलि’ है।

गणतंत्र दिवस की तैयारी में, इंडिया गेट पर शाश्वत लौ को 50 वर्षों के बाद बुझा दिया जाएगा और निकटवर्ती राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में लौ में विलय कर दिया जाएगा।

अमर जवान ज्योति, या शाश्वत लौ, 1971 में भारत-पाक युद्ध के दौरान शहीद हुए सैनिकों की याद में 1972 में इंडिया गेट के नीचे बनाई गई थी। इसके ऊपर एक उल्टा संगीन और सैनिक का हेलमेट भी है।

इस अमर जवान ज्योति (Amar Jawan Jyoti) का उद्घाटन 26 जनवरी 1972 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया था।

 >> जरूर पढ़े:- Supreme Court: बेटियों को बिना वसीयत के मरने वाले पिता की संपत्ति विरासत में मिलेगी

Related Post